अभिनेता धर्मेंद्र ने कहा, अटल जी की वजह से लिया इतना बड़ा फैसला

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद से पूरे देश में शोक की लहर है. उनके निधन के बाद उनके करीबियों ने अटल जी के साथ अपनी यादों को शेयर किया. इस मौके पर बॉलीवुड अभिनेता धर्मेंद्र ने भी भारत रत्न अटल बिहारी को याद करते हुए बताया कि वे अटल जी से लगाव के कारण ही पॉलिटिक्स में गए थे. उन्होंने बताया कि वाजपेयी उन्हें अक्सर पॉलिटिक्स की बातें बताते थे तो कभी अपनी कविताएं सुनाते थे.

धर्मेंद्र की मानें तो अटलजी के व्यक्तित्व में अजीब सी कशिश थी जिसकी वजह से सिर्फ वही नहीं तमाम और भी लोग उनकी ओर खिंचे चले जाते थे. धरमजी बताते हैं, ‘ईमानदारी, सच्चाई, साहस और बात-बात पर मेरी तरह की जज्बाती होने वाले अटलजी को देश से बड़ा प्यार था. वह चाहते थे कि सब लोग मिल-जुल कर प्यार मोहब्बत से रहें, यही वजह थी कि वे पाकिस्तान के साथ रिश्तों को सुधारने में लगे रहें.

धर्मेंद्र ने कहा, अटल जी के निधन की बात सुनकर मुझे धक्का लगा है. मेरे लिए यह बहुत ही बड़े दुःख की खबर है. मुझे वह बहुत ही प्रिय थे. मैं आपको बता नहीं सकता कितना मैं उनका आदर करता था. मेरे राजनीति से जुड़ने का कारण भी अटल बिहारी वाजपेयी थे. मैं उनके सम्मान और प्रेम के कारण राजनीति से जुड़ा. इस समय मुझे और कुछ सूझ नहीं रहा कि और क्या बोलू, जब भी उनसे मुलाक़ात होती वह खड़े होकर गले लगाते और धर्मेंद्र कहकर पुकारते थे. वह मुझसे बहुत स्नेह रखते थे. मैंने उनकी कई कविताएं भी सुनी है और उनसे जुड़ी बाते अब मैं नहीं बता पाऊंगा.

साथ ही उन्होंने कहा कि वे कभी भी अटल जी के सामने खुलकर बात नहीं कर पाते थे. अटल जी को पूरी इंडस्ट्री प्यार करती थी. पॉलिटिक्स ऐसी चीज है जो मुझे कभी भी समझ ही नहीं आई. अटलजी के अंदर एक खास तरह की कशिश थी, जिससे मैं प्रभावित रहा हूं. अटलजी को लगता था, मैं अच्छा इंसान हूं, इसलिए उन्होंने मुझे पॉलिटिक्स से जोड़ा था. मैं पॉलिटिक्स से जुड़ना नहीं चाहता था, मुझे लगता था कि मेरे जैसे जज्बाती इंसान के लिए पॉलिटिक्स नहीं है.’

बता दें कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी गुरुवार को दुनिया के अलविदा कह गए. 93 साल की उम्र में उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में आखिरी सांस ली. अटल बिहारी वाजपेयी जितने कद्दावर नेता थे, उतने ही बेहतरीन कवि भी थे.

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *