गूगल ने मानी गलती, उसने डाला है एंड्रॉयड स्मार्टफ़ोन में UIDAI का नंबर

स्मार्टफ़ोन इस्तेमाल करने वाले बहुत से लोगों की कॉन्टैक्ट लिस्ट में UIDAI के नाम से नंबर सेव होने को लेकर उठे विवाद पर गूगल की ओर से एक बयान आया है. गूगल ने कहा है कि उसने एंड्रॉयड स्मार्टफ़ोन बनाने वाली कंपनियों को दिए जाने वाले शुरुआती सेटअप में यह नंबर डाला था और वहीं से यह कई सारे यूज़र्स के नए स्मार्टफ़ोन में भी ट्रांसफ़र हो गया.

गूगल की तरफ़ से जारी बयान में बताया गया है कि इस नंबर को साल 2014 में OEM यानी स्मार्टफ़ोन बनाने वाली कंपनियों को दिए जाने वाले शुरुआती सेटअप वाले प्रोग्राम में डाला गया था. ‘एंड्रॉयड’ गूगल द्वारा विकसित किया गया मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है, जिसे स्मार्टफ़ोन्स और टैबलेट्स में इस्तेमाल किया जाता है.

 

गूगल ने लिखित बयान में कहा है, “हमने इंटरनल रिव्यू में पाया है कि साल 2014 में भारतीय स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को दिए जाने वाले सेटअप विजर्ड में हमने उस समय का यूआईडीएआई हेल्पलाइन नंबर और आपातकाल सहायता नंबर 112 कोड कर दिया था. यह तभी से उसमें है. चूंकि ये नंबर किसी यूज़र की कॉन्टैक्ट लिस्ट में सेव होते हैं, इसलिए वे उनके नए डिवाइस के कॉन्टैक्ट्स में भी ट्रांसफर हो जाते हैं.”

“इसके कारण किसी तरह की दिक्कत हुई हो, तो हम खेद प्रकट करते हैं. हम भरोसा दिलाते हैं कि यह ऐसी स्थिति नहीं, जिसमें आपके एंड्रॉयड डिवाइसेज़ को अनाधिकृत तरीके से एक्सेस किया गया है. यूज़र अपने डिवाइस से इस नंबर को डिलीट कर सकते हैं.”

आगे गूगल ने कहा है, “हम आने वाले सेटअप विज़र्ड के नए संस्करण में इसे ठीक करने की कोशिश करेंगे, जिसे आने वाले कुछ हफ्तों में स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों को उपलब्ध करा दिया जाएगा.”

बता दें कि देश में कई एंड्राइड यूजर्स के मोबाइल में आधार कार्ड का हेल्पलाइन नंबर यूआईडीआई के नाम से सेव है. 1800-300-1947 आधार कार्ड का हेल्पलाइन नंबर है. हालांकि कुछ फोनों में ये सेव नहीं हो पाया है.