इंजेक्शन देकर बच्चियों को बनाया जा रहा था जवान, छुड़ाई गईं 11 नाबालिग

telangana

तेलंगाना में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां के यदाद्री भोंगिर जिले से पुलिस ने 11 लड़कियों को देह व्यापार के चंगुल से बचाया है. इन लड़कियों में 5 साल की उम्र तक की लड़कियां भी शामिल हैं. जांच में जो सामने आया वो शर्मनाक है. इन लड़कियों को शारीरिक तौर पर बड़ा करने वाले सेक्स हार्मोन्स के इनजेक्शन लगाए जाते थे, ताकि इन्हे जल्द से जल्द जिस्म फरोशी के दलदल में धकेला जा सके.

नाबालिग लड़कियों को समय से पहले सैक्सुअल मैच्योरिटी हासिल कराने के लिए एक डॉक्टर भी रखा गया था, जिसका नाम स्वामी था. डॉक्टर इन लड़कियों को सेक्सुअल हार्मोन इंजेक्शन देता था, ताकि वो सब समय से पहले शारीरिक संबंध बनाने योग्य परिपक्वता हासिल कर लें. डॉक्टर स्वामी एक इंजेक्शन के लिए तस्कारों से 25 हजार रुपये वसूलता था.

एक बार बच्ची के शारीरिक रूप से बड़े दिखाने देने पर ये लोग उस बच्ची को देहव्यापार के काम में लगा देते थे. पुलिस इन लोगों से पूछताछ में इस बात की जानकारी जुटा रही है कि अब तक इन्होंने ऐसी कितनी बच्चियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है.

बात न मानने पर इन लड़कियों को शारीरिक तौर पर प्रताड़ित किया जाता था. कभी-कभी खाना भी नहीं दिया जाता था. तस्कर इनमें से कुछ बच्चियों को 2-2 लाख रुपयों में खरीदकर लाए थे. कुछ बच्चियों को रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन व अन्य जगहों से लाया गया था.

पुलिस कमिश्नर महेश भागवत ने बताया कि एक स्थानीय नागरिक ने ही उन्हें इस संबंध में सूचना दी थी, जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर घरों से सात-सात साल की चार लड़कियों समेत 11 लड़कियों को छुड़ाया. वेश्यालय से मुक्त करवाई गईं बच्चियों को बालिका गृह भेज दिया गया है. इतना ही नहीं, गिरफ्तार किए गए सभी तस्करों और वेश्यालय चलाने वाली महिलाओं को पास्को एक्ट के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.