आज भी करोड़ों दिलों पर राज करती हैं काजोल

नई दिल्ली (प्रवीण कुमार) – काजोल बॉलीवुड की उन टॉप अभिनेत्रियों में से एक हैं, जिन्होंने लाखों-करोड़ों लोगों के दिलों में जगह बनाई है. एक तरफ जहां शादी होने के बाद ज्यादातर अभिनेत्रियों का फिल्मी करियर ठप्प हो जाता है, वहीं दूसरी ओर अजय देवगन से शादी करने के बाद और दो बच्चों की मां बनने के बाद भी काजोल को बॉलीवुड में लगातार काम मिलता गया. इतना ही नहीं, आज भी उनकी फिल्मों में उतनी ही डिमांड है, जितनी पहले हुआ करती थी. लेकिन घर-गृहस्ती संभालने के कारण वे कम ही फिल्में करती हैं. काजोल देवगन 5 अगस्त को अपना 44वां जन्मदिन मनाने जा रही हैं. जिसके लिए उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं. काजोल नब्बे की दशक की बेहतरीन अभिनेत्रियों में गिनी जाती हैं. उन्होंने अपने करियर में बॉलीवुड की कई बेहतरीन फिल्मों में अभिनय किया है. इतना ही नहीं, वे अपने फ़िल्मी सफर में छह फिल्मफेयर अवार्ड अपने नाम कर चुकीं हैं.

काजोल का जन्म 5 अगस्त 1974 को महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ था. वे एक फ़िल्मी परिवार से ताल्लुक रखतीं हैं. काजोल निर्माता-निर्देशक सोमू मुखर्जी और एक्ट्रेस तनुजा की बेटी और एक्ट्रेस नूतन की भांजी हैं. काजोल की एक बहन हैं- तनीषा मुखर्जी है. वे भी फिल्म अभिनेत्री हैं. इतना ही नहीं, काजोल के नाना-नानी भी भारतीय सिनेमा का हिस्सा रहें हैं. काजोल का पूरा पैतृक परिवार भी बॉलीवुड का एक अभिन्न हिस्सा है.

उनके पिता के भाई जॉय मुखर्जी-देब मुखर्जी भारतीय फिल्म निर्माता थे, तो वहीं उनके दादाजी एक फ़िल्मकार थे. उनके चचेरे भाई-बहनों में रानी मुखर्जी चोपड़ा, शर्बानी मुखर्जी और मोहनीश बहल शामिल हैं, जो कि फिल्म जगत में सक्रीय हैं. उनके चचेरे भाई अयान मुखर्जी बॉलीवुड के प्रसिद्ध निर्देशक हैं. काजोल ने अपने फिल्मी करियर में कई सुपरहिट फिल्में दी हैं, जिनमें ये दिल्लगी, बाज़ीगर, गुंडाराज, हलचल, हम आपके दिल में रहते हैं, गुप्त, प्यार तो होना ही था, दुश्मन, कुछ कुछ होता है, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, प्यार किया तो डरना क्या, इश्क, करण-अर्जुन, माई नेम इज़ खान, फना, कभी खुशी कभी ग़म, दिलवाले आदि प्रमुख हैं.