डायरेक्टर की पाकिस्तानी जनता से अपील: गैरकानूनी ढंग से ही सही पर फिल्म जरूर देखें

mulk

साल की मोस्ट अवेटड फिल्मों में से एक ‘मुल्क’ को पाकिस्तान में बैन कर दिया गया है. 3 अगस्त को रिलीज होने वाली इस फिल्म पर पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड ने बैन लगा दिया है. ट्रेलर रिलीज होने के बाद से ही यह फिल्म विवादों में है.

इस फिल्म के निर्माताओं में से एक दीपक मुकुट ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड के इस फैसले से हम बहुत ज्यादा परेशान हैं. हम पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड से विनती करते हैं कि अपने फैसले पर एक बार और सोचे. फिर उन्हें पता चलेगा यह फिल्म लोगों के लिए कितनी जरूरी है.

फिल्म के  निर्देशक अनुभव सिन्हा ने पाकिस्तान की जनता के नाम एक खत लिखा है. खत में अनुभव ने लिखा है कि, ‘मैंने मुल्क नाम से एक फिल्म बनाई पर अफसोस कि पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड के इस फिल्म को बैन करने के बाद आप इसे कानूनी ढंग से नहीं देख पाएंगे.

कानूनी नहीं तो गैर कानूनी तौर पर ही सही, लेकिन आपलोग इस फिल्म को देखिए. मेरा आपसे एक सवाल है कि क्यों आपको यह फिल्म देखने से रोका जा रहा है. मुझे पता है आप आज नहीं, तो कल यह फिल्म जरूर देखेंगे. फिल्म देखने के बाद आप लोग मुझे अपनी राय दीजिएगा कि आखिर क्यों इस फिल्म को पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड ने बैन किया है.

पहली बार ऐसा नहीं हुआ है कि पाकिस्तान सेंसर बोर्ड ने भारतीय फिल्म को बैन किया हो. हाल ही में सोनम कपूर की फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ को पाकिस्तान में ‘अश्लील’ करार देकर बैन कर दिया गया. अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन’ को पाकिस्तान में इसलिए बैन किया गया, क्योंकि यह फिल्म पीरियड्स के ऊपर बनी थी. आलिया भट्ट की ‘राजी’ फिल्म में भारत-पाकिस्तान के मुद्दे को उठाया गया था. राजी पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड को रास नहीं आई. इसलिए ‘राजी’ वहां बैन कर दी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *