नीरज चोपड़ा के नाम रहा एशियन गेम्स का 9वां दिन

एशियन गेम्स में भारत के लिए सोमवार का दिन शानदार रहा. सोमवार को भारत ने 1 गोल्ड 3 सिल्वर और 1 कांस्य पदक जीता. लेकिन ये दिन पूरी तरह से भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा के नाम रहा, क्योंकि उन्होंने इस प्रतियोगिता में भारत को स्वर्ण दिलाया, नीरज का पहला थ्रो 83.46 मीटर रहा, हालांकि दूसरे थ्रो में उनका पैर लाइन से बाहर चला गया, जिसे फाउल माना गया, लेकिन तीसरे थ्रो में उन्होंने 88.06 दूर भाला फेंका. इसी के साथ नीरज ने खुद का ही नेशनल रिकॉर्ड तोड़ा. नीरज मिल्खा सिंह के बाद दूसरे ऐसे एथलीट हैं, जिन्होंने एक ही साल में कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता हो. नीरज का ये कारनामा इसलिए भी खास हो जाता है, क्योंकि भाला फेंक प्रतियोगिता में भारत कभी गोल्ड नहीं जीत पाया था. भाला फेंक प्रतियोगिता में आखिरी पदक साल 1982 में गुरतेज सिंह ने जीता था. दिल्ली में हुए उस गेम्स में गुरतेज ने कांस्य हासिल किया था. लेकिन नीरज ने यहां सब को पीछे छोड़ दिया.

वहीं वुमैन्स लांग जंप में नीरा वराकिल ने सिल्वर पदक हासिल किया. उन्होंने 61.5 की छलांग लगाकर सिल्वर पदक अपने नाम किया. इसके अलावा सुधा सिंह ने स्टीपलचेज़ स्पर्धा 3000 मीटर में रजत पदक अपने नाम किया. सुधा सिंह ने 40.03 की दूरी हासिल कर दूसरा स्थान ग्रहण किया. 2010 में स्वर्ण जीतने वाली सुधा, बहरीन की विनफ्रेड यावी से पीछे रह गईं और स्वर्ण पदक की रेस से बाहर हो गईं. वहीं दूसरी ओर धरूण अय्यासामी ने पुरूषों की 4000 मीटर बाधा दौड़ स्पर्धा के फाइनल में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देकर रजत पदक अपने नाम किया. वहीं बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल भी कांस्य हासिल करने में सफल रहीं.

18वें एशियन खेलों में भारत के कुल पदकों की संख्या 41 हो चुकी है, जिसमें 8 गोल्ड 13 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज मेडल हैं. वहीं मंगलवार को भारत को तीरंदाज़ी, बैडमिंटन, एथलेटिक्स में पदकों की उम्मीद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *