प्रिया प्रकाश के आंख मारने के खिलाफ चल रहे मुकदमे पर सुप्रीम कोर्ट ने किया फैसला

आंख मारने के छोटे से वीडियो के कारण लोगों के बीच तेजी से मशहूर हुईं प्रिया प्रकाश के खिलाफ सु्प्रीम कोर्ट में चल रहे धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने के मुकदमे को आज खारिज कर दिया.

प्रिया प्रकाश वारियर की मलयालम फिल्म ‘ओरू अदार लव’ फिल्म का यह टीजर यूट्यूब पर 13 फरवरी को रिलीज हुआ था, और इस 26 सेकंड के वीडियो ने रिलीज होते ही धमाका मचा दिया था. प्रिया का ये वीडियो वायरल हो गया, जिसके बाद पूरे देश में उनके चर्चे आम हो गए.

दरअसल, प्रिया प्रकाश के आंखों से इशारों को लेकर एफआईआर दर्ज की गई थी. वहीं कई संगठनों को इस सॉन्ग और उस पर प्रिया के इन इशारों को लेकर आपत्ति थी, जिसके बाद उन्होंने प्रिया के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी.

वहीं न्यायालय ने प्रिया के खिलाफ दर्ज इस मुकदमे को निरस्त करने का आदेश देते हुए कहा कि फिल्म में आंख मारने के दृश्य से आईपीसी की धारा 295ए के प्रावधानों का कोई उल्लंघन नहीं होता है, इसलिए न्यायालय ने कहा कि इससे संबंधित किसी भी आपराधिक मुकदमे की सुनवाई नहीं की जाएगी.

प्रिया की फिल्म का गाना ‘माणिक्य मलारया पूवी’ के रिलीज होने के साथ ही हैदराबाद में एक याचिका दायर की गयी थी और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया गया था. मुंबई के एक संगठन ने भी इसे लेकर मुकदमा दर्ज कराया था. अंतत: फिल्म की अभिनेत्री और निर्माता-निर्देशक को अदालत का दरवाजा खटखटाना पड़ा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *