सिनेमा हॉल में क्यों नहीं ले जा सकते खाने-पीने का सामान

देश की अदालतों ने कई बार यह फैसला सुनाया है कि सिनेमा हॉल में दर्शकों को अपने साथ खाने-पीने की चीजें ले जाने से नहीं रोका जा सकता. सिनेमा हॉल वाले दर्शकों को अपने साथ बाहर की खाने-पीने की चीजें अंदर नहीं ले जाने देते हैं, मजबूरन दर्शकों को फिल्म देखने के दौरान सिनेमा हॉल की खाने-पीने की चीजों को बाजार के मुकाबले भारी कीमत पर खरीदना पड़ता है.

दरअसल यह मामला कोर्ट तक पहुंचा एक वकील के जरिए. 27 जुलाई यानि शुक्रवार को वकील एकता सिंह अपने दो दोस्तों के साथ दिल्ली के इनोक्स सिनेमा में ‘मिशन इंपॉसिबल’ फिल्म देखने गई थीं. उनके हाथ में एक पानी की बोतल और बैग में कुछ स्नैक्स रखे थे. जब वे सिनेमा हॉल में प्रवेश कर रहीं थीं, उसी दौरान सुरक्षाकर्मी ने उनकी पानी की बोतल और स्नैक्स देखा.

सुरक्षाकर्मी ने उन्हें बाहर की खाने-पीने की चीजें अंदर ले जाने से साफ मना कर दिया. महिला वकील के मुताबिक, जब उन्होंने उसे बताया कि वे एक वकील हैं और उन्हें अपने अधिकार मालूम है कि कोई भी सिनेमा हॉल में दर्शक को खाने-पीने का सामान ले जाने से नहीं रोक सकता, इसके बावजूद सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें पानी की बोतल और स्नैक्स अंदर नहीं ले जाने दिया.

एकता सिंह को उन्हें अपना सामान बाहर ही छोड़ना पड़ा और अंदर खाने-पीने की चीजें उन्हें भारी कीमतों पर खरीदनी पड़ीं. कोर्ट में याचिका दायर करते समय एकता सिंह ने खरीदे गए सामान के बिल भी सामने रखे हैं. दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को इस याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस को एक नोटिस जारी कर पूछा है कि दर्शकों को खाने-पीने का सामान ले जाने की इजाजत क्यों नहीं मिलनी चाहिए.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *