सावधान, ब्लॉक हो जाएगा आपका व्हॉट्सएप और फेसबुक

देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं ने वैसे ही सरकार की नींद उड़ा रखी है, उस पर सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे व्‍हाट्सऐप, फेसबुक  के दुरुपयोग ने इन सबको और बढ़ावा दिया है.

टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने विशेष परिस्थितियों में इंस्टाग्राम, फेसबुक, व्हॉट्सएप जैसे मोबाइल ऐप्स पर रोक लगाने के लिए अपनाए जाने वाले तकनीकी उपायों के बारे में इंडस्ट्री से राय मांगी है. विभाग ने राष्ट्रीय सुरक्षा या शांति व्यवस्था को लेकर खतरे की स्थिति में इन एप्स को ब्लॉक करने पर विचार मांगे हैं.

टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने 18 जुलाई 2018 को सभी टेलीकॉम ऑपरेटरों, भारतीय इंटरनेट सेवा प्रदाता संघ (आईएसपीएआई), सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सीओएआई) और अन्य को पत्र लिखकर आईटी कानून की धारा 69ए के तहत इन एप्लिकेशंस पर रोक लगाने के संदर्भ में उनकी राय जाननी चाही है.

आईटी कानून की धारा 69ए किसी कंप्यूटर सोर्स से किसी सूचना को जनता तक पहुंचने से रोकने के लिए निर्देश देने के अधिकारों से संबंधित है.  यह कानून केंद्र सरकार या सरकार की ओर से अधिकृत किसी अधिकारी को देश की संप्रभुता, रक्षा, सुरक्षा, दूसरे देशों से दोस्ताना संबंध या शांति व्यवस्था भंग होने की आशंका की स्थिति में इंटरनेट पर सूचना पर रोक लगाने का अधिकार देता है.

 हाल के समय में भारत में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या की अनेक घटनाएं सामने आई हैं. देखा जाए तो ये घटनाएं सोशल मीडिया पर अफवाहों की वजह से हुई हैं. लोकप्रिय मैसेजिंग एप व्हॉट्सएप अपने प्लेटफार्म के दुरुपयोग को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रहीं है. व्हॉट्सएप से प्रसारित फर्जी खबरों की वजह से ही भीड़ द्वारा किसी की पिटाई की घटनाएं हुई हैं. लेकिन हर बार ये कंपनियां कोई न कोई बहाना बनाकर आवश्यक कदम उठाने से बच रहीं हैं. इसीलिए सरकार अब इन पर सख्ती से कार्रवाई भी कर सकती है.

You May also Like

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *