शिवपाल यादव के पार्टी से अलग होने पर पहली बार बोले तेज प्रताप यादव

मुलायम सिंह के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप यादव ने माना कि शिवपाल यादव के अलग पार्टी बनाने से समाजवादी पार्टी को नुकसान होगा.  उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में  कहा कि जब कोई पार्टी बनती है और किसी पार्टी से टूटकर बनती है तो उसका नुकसान होता ही है. बता दें ऐसा पहली बार है जब यादव परिवार के किसी सदस्‍य ने शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच फिर से शुरू हुई सियासी लड़ाई में खुलेआम बयान दिया है.

दरअसल, शिवपाल यादव ने पिछले महीने समाजवादी सेक्‍युलर मोर्चे का गठन किया है और घोषणा की है कि उनका दल राज्‍य की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगा. मुलायम सिंह के सीट छोड़ने के बाद तेज प्रताप ने मैनपुरी से उपचुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी. पिछले सप्‍ताह शिवपाल ने घोषणा की थी कि मुलायम सिंह मैनपुरी से समाजवादी सेक्‍युलर मोर्चा के उम्‍मीदवार होंगे.

जब से शिवपाल यादव ने घोषणा की है, उसके बाद से अब समाजवादी पार्टी की ओर से उन पर हमले शुरू हो गए हैं. मंगलवार को अखिलेश यादव के बेहद करीबी माने जाने वाले समाजवादी पार्टी के प्रवक्‍ता तेज नारायण पांडे उर्फ पवन पांडे ने आरोप लगाया था कि यूपी में जब अखिलेश यादव की सरकार थी तब शिवपाल यादव ‘बड़े स्‍तर के भ्रष्‍टाचार’ में लिप्‍त थे.

साथ ही, मैनपुरी सांसद ने कहा कि आजमगढ़ में सपा सरकार के कार्यों को देखकर गर्व की अनुभूति हुई. सपा ने जनपद को बहुत कुछ दिया. प्रधानमंत्री यहां आकर चले गए, लेकिन जनपद को कुछ नहीं दिया. उन्होंने कहा, प्रदेश में गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार बढ़ गया है. इन मुद्दों को लेकर हम जनता के बीच जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *