फ्लैश बैक  : रूमानी हीरो के रूप में पहचाने जाने थे फिरोज खान

नई दिल्ली (प्रवीण कुमार) : भारतीय फिल्म इंड्रस्टी में फिरोज खान एक ऐसा नाम हैं, जिन्होंने अपने दमदार अभिनय के दम पर लाखों लोगों के दिल में अपनी जगह बनाई. कुर्बानी, खोटे सिक्के, यलगार, आदमी और इंसान, आरजू, मेला और जांबाज जैसी फिल्मों के जरिए जिंदादिल और रूमानी हीरो के रूप में उन्होंने पहचान बनाई.
बेंगलुरू में जन्मे और पले बढ़े फिरोज 1965 में ऊंचे लोग के साथ दर्शकों से रूबरू हुए थे. इसके बाद उन्होंने बलिदान करने वाले प्रेमी के रूप में आरजू से दर्शकों को लुभाया. इतना ही नहीं उन्होंने कई फिल्मों में डाकू के रोल को भी बखूबी निभाया. फिल्म कुर्बानी में फिरोज और विनोद खन्ना की जोड़ी को तो इतना पंसद किया गया कि आगे चलकर इन दोनों अभिनेताओं ने कई फिल्में एक साथ की.
1986 में उन्होंने जांबाज में अभिनय के साथ-साथ निर्देशन के जलवे भी दिखाए. यह फिल्म सुपर हिट थी. 1992 में यलगार में अभिनय और निर्देशन के बाद इस करिश्माई अभिनेता ने एक लंबे अर्से के लिए अभिनय छोड़ दिया और फिल्म निर्माण और निर्देशन से जुड़ गए. उन्होंने 1998 में प्रेम अगन के साथ अपने पुत्र फरदीन खान को पेश किया. यह फिल्म बॉक्स आफिस पर जबर्दस्त हिट रही. 2007 की हिट फिल्म वेलकम में वे अंतिम बार रूपहले पर्दे पर दिखाई दिए थे.
आपको बता दें कि अभिनेता फिरोज खान करीब एक वर्ष तक कैंसर से जूझते रहे, जिसके बाद उनका निधन हो गया था. निधन के समय खान के पास उनके अभिनेता पुत्र फरदीन खान और उनके अन्य परिजन मौजूद थे.

एक ही तारी़ख को ली थी इन दोनों  सुपरस्टार्स ने अंतिम सांस

कुछ लोगों की दोस्ती इतनी बेमिसाल होती है कि लोग उसे सालों साल तक याद रखते हैं. ऐसी ही बेमिसाल दोस्ती विनोद खन्ना और फिरोज खान के बीच रही. दरअसल, 27 अप्रैल 2017 को बॉलीवुड एक्टर विनोद खन्ना का निधन हुआ था. वहीं उनके दोस्त फिरोज खान का निधन भी 27 अप्रैल को ही हुआ था. फिरोज ने साल 2009 में दुनिया को अलविदा कहा था. फिरोज का निधन कैंसर की वजह से हुआ था और रिपोर्ट्स के मुताबिक विनोद खन्ना का निधन ब्लैडर कैंसर की वजह से हुआ था, जो कैंसर का ही एक रूप है.
बता दें कि फिल्म दयावान, कुर्बानी और शंकर शम्भू में फिरोज खान और विनोद खन्ना साथ नजर आए थे. फिल्म कुर्बानी तो दोनों के ही करियर की हिट फिल्मों में से एक है. इस फिल्म में फिरोज ने एक्टिंग के साथ-साथ बतौर प्रोड्यूसर और डायरेक्टर भी काम किया था. इस फिल्म के बाद ही दोनों के बीच दोस्ती और गहरी हो गई थी.

You May also Like

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *