ये कैसी हालत हो गई है भैय्यूजी महाराज की बेटी कुहू की

 

kuhuभैय्यूजी महाराज के सुसाइड करने के बाद गुरूजी के सपनों को और उनके मिशन को पूरा करने की बात तो छोडिए उनके परिवार की हालत ही खराब है. जिसकी देख-रेख करने वाला कोई नहीं है. सबसे चिंताजनक स्थिति उनकी बेटी कुहू की है, जो हाल ही में बालिग हुई है और भैय्यूजी के समर्थक उनकी जगह पर उसे देखना चाहते हैं.

ताकि वो उनके सपनों को पूरा कर सके. इसके लिए उसके बालिग होते ही ट्रस्ट का मेंबर बनाने की प्रक्रिया शुरू करने की बात भी जोर-शोर से की गई. लेकिन भैय्यूजी महाराज के सपनों को पूरा करना या उनके प्रोजेक्ट्‌स को आगे बढ़ाना तो दूर, अभी तो कुहू का खुद का भविष्य ही साफ नजर नहीं आ रहा. भैय्यूजी महाराज के जाने के बाद कुहू दो-तीन बार ही इंदौर आई है. पुणे में रहते हुए भी उसका संपर्क किसी से नहीं है. ऐसा लगता है भैय्यूजी महाराज के साथ-साथ उनकी निशानी, उनकी प्यारी बेटी को भी लोग भूल गए हैं. उसकी सगी बुआ के पास उसका मोबाइल नंबर तक नहीं है.

समर्थकों ने उसकी खोज-खबर लेने की कोई कोशिश नहीं की है. इसका परिणाम यह हुआ कि कुहू पुणे में कुछ ऐसे लोगों से घिर गई है, जिन्होंने उसपर अघोषित तौर पर अपना हक जमा लिया है. उनकी इजाजत के बिना न तो कुहू किसी से मिल सकती है और न बात कर सकती है. उसकी स्थिति नजरबंद कैदी की तरह है.

आलम यह है कि वे लोग कुहू को किसी बात की जानकारी तक नहीं लगने दे रहे हैं कि उसके पिता द्वारा स्थापित आश्रम और ट्रस्ट में क्या चल रहा है, उनकी संपत्ति को कौन कैसे लूट रहा है, या पुलिस की जांच में कोई तरक्की हुई या नहीं. कुहू को इस तरह बेखबर रखने और किसी से न मिलने देने में बड़ा रोल उसकी वकील चारुशीला शाह का है. उन्होंने इसे लेकर कुहू को भ्रम में रखा है कि पुलिस इन्वेस्टिगेशन ठीक चल रही है और वे कोर्ट में केस जीत जाएंगी.

अब किसके खिलाफ ये कौन सा केस लड़ रहे हैं या लड़ने वाले हैं, ये बात कोई नहीं जानता. लेकिन इस वकील की कुहू पर दादागिरी ऐसी है कि बिना उनकी अनुमति के कुहू न तो किसी से बात करती है और ना मिलती है. गुरुजी के कुछ समर्थकों ने कुहू से संपर्क करने की कोशिश की, तो उन्हें भी निराशा ही हाथ लगी. अब सवाल यह है कि कुहू को इस तरह अंधेरे में रखने और उसे उसके शुभचिंतकों से दूर रखने का क्या कारण है?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *