कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने नोटबंदी को तुगलकी फरमान करार देते हुए, मोदी से मांफी की मांग की…

नोटबंदी के दो बरस पूरे होने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा कुछ इस कदर मोदी पर भड़के कि उन्होंने तो नोटबंदी को तुगलकी फरमान तक करार दे दिया. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि मोदी ने देश की गरीब जनता के पैसे को अपराध व काला धन करार दिया था इसके लिए उन्हें मांफी मांगनी चहिए, लेकिन व मांफी नहीं मांगेंगे क्योंकि वे अंहकारी है.

इसके साथ ही उन्होंने नोटबंदी के कारण हुई दुश्वारियों का हावाला देते हुए कहा कि नोटंबदी पूरी तरीके से विफल साबित हुई है. इतना ही नहीं उन्होंने , भाजपा के लगातार इस बात का दावा करना कि नोटबंदी की वजह से कैश शर्कुलेशन बढ़ा है. कहा कि नोटबंदी से पहले भारत में केश शर्कुलेशन 72 फीसद था और अब  80 फीसद है. इतना ही नही दुनिया के हर देश में केश शर्कुलेशन आज भी बरकरार है.

नोटबंदी को बताया बेरोजगारी का बड़ा कारण….

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने नोटबंदी को बेरोजगारी का सबसे  बड़ा कारण करार दिया है. उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण हमारे देश में बेरोजगारी दर बढ़ी है. जहां पहले लघू उद्दोगों में 12 करोड़ लोग काम करते थें. वहीं नोटबंदी के बाद से सिर्फ 4 करोड़ लोग ही काम कर रहे हैं. तमाम कंपनियां नोटबंदी की मार की कारण 6 से 8 महीने के दरमियान बंद हो गई.

जीडीपी में गिरावट आई…

कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने कहा कि इस नोटबंदी के कारण सकल घरेलू उत्पाद में भी काफी गिरावट आई. देश की जी़डीपी 2%  टूट गई. इतना ही नहीं जी़डीपी को डढ़े करोड़ का नुकसान भी हुआ.