कवर स्टोरीगुनाहराजनीति

1984 सिख दंगों पर हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को सुनाई उम्रकैद की सजा 

sajjan kumar gets life term
Share Article

sajjan kumar gets life term

1984 सिख विरोधी दंगों के मामले में सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट की डबल बेंच ने आज बड़ा फैसला दिया है. बेंच ने कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

कोर्ट ने निचली अदालत का फैसला पलटते हुए कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा के साथ पांच लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है. जबकि निचली अदालत ने सज्जन कुमार को बरी कर दिया था. सज्जन कुमार को हत्या, साजिश, दंगा भड़काने, और भड़काऊ भाषण देने का दोषी पाया गया है. कुमार को 31 दिसंबर तक सरेंडर करना है तब तक सज्‍जन कुमार दिल्ली से बाहर नहीं जा सकेंगे.  ये फैसला जस्टिस एस. मुरलीधर और विनोद गोयल ने सुनाया है.

फैसला सुनाते हुए जज ने ये भी कहा की यह आजादी के बाद की सबसे बड़ी हिंसा थी. यह हिंसा राजनीतिक फायदे के लिए करवाई गई थी, और सज्जन कुमार ने दंगा भड़काया था.

कोर्ट ने सज्जन कुमार के अलावा नेवी के रिटायर्ड अधिकारी कैप्टन भागमल, पुर्व कांगेस पार्षद बलवान खोकर और गिरधारी लाल को दोषी करार दिया है. इन तीनों को निचली अदालत ने उम्र कैद की सजा सुनाई थी. इसके अलावा पूर्व विधायक महेन्द्र यादव और किशन खोकर को भी दोषी पाया गया है. जिन्हें निचली अदालत ने तीन साल की सजा सुनाई थी, अब हाईकोर्ट ने सज्जन कुमार के अलावा कैप्टन भागमल, गिरधारी लाल तथा पूर्व कांग्रेस पार्षद बलवान खोखर को भी उम्रकैद की सजा सुनाई है.

हाईकोर्ट के इस फैसले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी खुशी जाहिर की और उन्होंने ट्वीट कर कहा कि पीि‍ड़तों को इस फैसले का काफी लंबे समय तक इंतजार करना पड़ा.

 

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.
Share Article

Comment here