सर्दियों का पेय ही नहीं, बीमारियों का इलाज भी है ग्रीन टी

green tea benefits in diseases
सर्दियों में चाय आपके दिन को ज्यादा सक्रिय बनाती है. 3000 से अधिक किस्मों के साथ एक कप चाय दुनिया भर में पानी के बाद सबसे अधिक पिया जाने वाला पेय है. भारतीय चाय के प्रति अपने लगाव के लिए जाने जाते हैं और सर्दियों में यह कई लोगों के लिए एक आदत बन जाती है. चाय के कई लाभ हैं, लेकिन अगर वह चाय ग्रीन टी हो तो क्या कहने. यह बीमारियों में भी फायदेमंद है. डायबिटीज के मरीजों के लिए यह लाभदायक माना जाता है. टाइप 1 डाइबिटीज के रोगियों के लिए ग्रीन टी काफी फायदेमंद है.

ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी में भरपूर एंटीआक्सीडेंट्स होते हैं. एंटी-ऑक्सीडेंट के कारण यह कोलेस्ट्रोल को कम करने और स्वस्थ कोशिकाओं में तेजी से वृद्धि करने में मददगार साबित होती है. इसमें चीनी मिलाकर इसका प्रयोग चेहरे की मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए फेस स्क्रब के रूप में भी कर सकते हैं. ग्रीन टी एक बेहतरीन टोनर भी है, जो कि बंद पड़े रोम छिद्रों को खोलने में मदद करती है. आंखों के आसपास सूजन को कम करने के लिए भी यह एक अच्छा विकल्प है. इसे बालों को साफ करने और उन्हें स्वस्थ रखने में भी प्रयोग किया जा सकता है.

कैसे बनाएं ग्रीन टी

ग्रीन टी से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए, इसमें दूध, चीनी, क्रीम और यहां तक कि शहद भी न मिलाएं. उबलते पानी में एक चम्मच ताजी पत्तियों को मिलाएं और दो से तीन मिनट रखने के बाद ही इसे पिएं. इसका रोजाना दो-तीन कप सेवन किया जा सकता है.

अन्य फायदे

ग्रीन टी में जीरो कैलोरी होती है, जो वजन कम करने में भी मदगार होती है. जब आप वजन कम करते हैं तो इंसुलिन की सेंसिविटी बढ़ती है, जो ब्लड शुगर लेवल को कम करने का काम करती है. ग्रीन टी में मौजूद कैटेशिन इंसुलिन के प्रभाव को कम करता है. यह कार्बस के प्रभाव को कम कर सकता है. ग्रीन टी एंटीबैक्टीरियल गुणों से भी भरपूर होती है, जो कोलेस्ट्रोल एवं ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार है. इसमें कैफीन की मात्रा कम होती है, जो लोग अपने कैफीन सेवन पर ध्यान देते हैं उनके लिए यह सर्वश्रेष्ठ विकल्प है. अगर आपको ग्रीन टी कड़वी लगती है तो आप उसमें जरा सा शहद मिलाकर पी सकते हैं.

You May also Like

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *