गुनाहजरुर पढेंराजनीति

23 दिन बाद पुलिस की नाक के नीचे से पहुंचा कोर्ट, बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी

bulandshahr
Share Article

बुलंदशहर में हुई हिंसा को आज लगभग 23 दिन हो चुके हैं. लेकिन हिंसा के दोनों मुख्य आरोपी बीजेपी युवा मोर्चा का शिखर अग्रवाल और बजरंग दल का योगेश राज अब तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आये हैं.

उतर प्रदेश पुलिस की सबसे बड़ी नाकामयाबी ये रही कि जिस आरोपी को पकड़ने में वो अब तक नाकाम रही वो शिखर अग्रवाल उसकी नाक के नीचे से कोर्ट पहुंच गया.

शनिवार को बुलंदशहर कोर्ट में पुलिस द्वारा उसकी संपत्ति को हुए नुकसान मे कुर्की के नोटिस के खिलाफ अपनी याचिका में शिखर अग्रवाल ने मांग की है कि वो तीन हप्ते में इस नोटिस के खिलाफ हलफनामा दायर करेगा, तब तक उसकी संपत्ति को किसी भी प्रकार से कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाए.

बता दें कि कथित गौकशी की घटना के बाद बुलंदशहर में हुई हिंसा में बेकाबू भीड़ ने एसएचओ सुबोध कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी थी. वहीं हिंसा की आग का शिकार एक स्थानीय युवक भी हुआ था.

इस मामले में पुलिस ने अब तक सिर्फ तीन लोगों को ही गिरफ्तार किया है. वहीं हिंसा के मामले में अब तक 25 लोग गिरफ्त में हैं, जिनमें से ज्यादातर लोगों ने पुलिस की नाक के नीचे से सरेंडर किया है.

बुलंदशहर हिंसा मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि इस मामले में सरकार ने जो कदम उठाए हैं  उसके लिए उनकी सराहना होनी चाहिए. इसके साथ ही सीएम योगी ने इस घटना को उनके सरकार के खिलाफ राजनीतिक साजिश करार दिया था. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार इस साजिश को बेनकाब करने में कामयाब रही.

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here