मोबाइल & टेक

जासूसी के आरोप में चीनी कंपनियों के स्मार्टफोन पर लगाया जा रहा बैन

chinese-smartphone-companies-are-not-trust-worthy-in-these-countries
Share Article

chinese-smartphone-companies-are-not-trust-worthy-in-these-countries

अमेरिका के करीबी और चीन के धुरविरोधी ताइवान ने सुरक्षा चिंताओं के बीच चीनी कंपनी हुवावे और जेडटीई के नेटवर्क उपकरणों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके पहले अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया ऐसा कदम उठा चुके हैं। यह 170 देशों में कारोबार करने वाली चीनी दूरसंचार उपकरण कंपनी के लिए बड़ा झटका है। ताइवान ने यह कदम ऐसे वक्त उठाया है, जब हुवावे की सीएफओ मेंग वानझोऊ की कनाडा में गिरफ्तारी को लेकर अमेरिका और चीन में तनाव बना हुआ है।

ताइवान सरकार ने कहा कि कई अन्य देशों में भी हुवावे पर इस तरह के प्रतिबंध लग रहे हैं, वहीं ताइवान में राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा संकट अधिक गहरा है, क्योंकि चीन ताइवान को अपना ही हिस्सा बताता रहा है और उसे अपने नियंत्रण में लेने के लिए सैन्य कार्रवाई की भी धमकी भी देता रहा है। ऐसे में इन कंपनियों पर व्यापार करने की पांच साल की पाबंदी लगाई गई है। गौरतलब है कि हुवावे की मुख्य वित्तीय अधिकारी मेंग वानझोऊ पर ईरान के साथ कारोबार पर अमेरिकी प्रतिबंध का उल्लंघन करने का आरोप है। उन्हें वैंकूवर में एक दिसंबर को हिरासत में लिया गया था। वानझोऊ पर आरोप है कि उन्होंने हुवावे के जरिये ईरानी कंपनियों को उपकरणों की आपूर्ति करने की कोशिश की, जबकि उन पर अमेरिका में प्रतिबंध लगा है।

दिग्गज चीनी कंपनियों के लिए बड़ा झटका

अमेरिका और जापान के पहले ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड भी चीनी कंपनियों को झटका दे चुके हैं। न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया ने उनके देश में 5जी नेटवर्क खड़ा करने में हुवावे और जेडटीई की भागीदारी पर रोक लगा दी है। अमेरिका में सॉफ्टवेयर की वायरलेस कंपनी स्प्रिंट कॉर्प ने पहले ही हुवावेई और जेडटीई से किनारा कर लिया है। ब्रिटेन के बीटी ग्रुप ने कहा है कि वह अपने 3जी और 4जी नेटवर्क से हुवावेई के उपकरणों को हटा रहा है और 5जी नेटवर्क के विकास में उसका इस्तेमाल नहीं करेगा।

चीनी कंपनियों से दूरी बनाई

– चीनी कंपनियों पर उनके उपकरणों के जरिये जासूसी का आरोप
– साइबर हमले बढ़ रहे हैं खुफिया सूचना चीन को लीक होने से
– आर्टीफीशियल इंटेलीजेंस और अंतरिक्ष के क्षेत्र में चीनी की बढ़ती धमक
– जेडटीई और हुवावेई पर चीन सरकार और उसके नेताओं का नियंत्रण

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here