चुनावजरुर पढेंराजनीति

आखिरी पल में कटा लोजपा नेता मणिशंकर पांडे का टिकट

Manishankar-pandey
Share Article

Manishankar-pandey

मणिशंकर पांडेय

लोजपा के अंदर पूरी तैयारी हो गई थी कि पार्टी बिहार में पांच सीटों पर और यूपी में एक सीट पर चुनाव लड़ेगी. यूपी की सीट प्रदेश अध्यक्ष मणिशंकर पांडेय के लिए तय थी. अमित शाह को साझा संवाददाता सम्मेलन में समझौते के इस पटकथा का ऐलान भी करना था. लेकिन ऐन वक्त पर बाजी ऐसी पलटी कि लोजपा ने यूपी से सीट लेने के अपने फैसले पर तत्काल विराम लगा दिया.

दरअसल भाजपा को भी इस फार्मूले पर कोई एतराज नहीं था. भाजपा की यूपी इकाई से भी रजामंदी ले ली गई थी. लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष मणिशंकर पांडेय के लिए यह सीट ली जा रही थी. लेकिन अंतिम समय में विरोध के स्वर पार्टी के भीतर से ही उठ गए.

लोजपा के कई बड़े नेताओं का कहना था कि अगर पार्टी को यूपी से चुनाव लड़ना ही है तो प्रत्याशी किसी दलित को होना चाहिए. अगड़ी जाति के किसी प्रत्याशी को देने से पार्टी कार्यकर्ताओें के बीच बहुत ही गलत संदेश चला जाऐगा.

सूत्रों पर भरोसा करें तो कुछ नेताओें ने आलाकमान से साफ कहा कि हमलोग दलित हित की बात करते हैं और वही पार्टी का आधार भी है. केवल एक सीट पर ही हम यूपी में लड़ेंगे और प्रत्याशी कोई दलित न होकर सवर्ण होगा तो आगे हमलोग पार्टी का विस्तार कैसे कर पाऐंगे.

दलित प्रत्याशी के तर्क को फिलहाल काटना संभव नहीं लग रहा था. चूंकि समय इतना कम बचा था कि आगे इस पर किसी बातचीत की संभावना नहीं थी. इसलिए तय हुआ कि फिलहाल यह प्लान स्थगित रखा जाए और बिहार में ही छह सीट की घोषणा करा दी जाए. सीटों की पहचान के वक्त अगर कोई समस्या आती है तो फिर इस संभावना को टटोलने का भरोसा दे इस चैप्टर का फिलहाल जिंदा रखा गया है.

अब यह सीटों की पहचान के समय ही पता चल पाएगा कि यह चैप्टर बढ़ेगा या फाइनली बंद हो जाऐगा. लेकिन फिलहाल तो मणिशंकर पांडेय जिनके लिए यूपी में टिकट लिया जा रहा था वह तो चूक ही गए.

सरोज सिंह Contributor|User role
Sorry! The Author has not filled his profile.
×
सरोज सिंह Contributor|User role
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here