जरुर पढेंलाइफ स्टाइलस्वास्थ्य

गर्भधारण करने और शिशु को जन्‍मजात गंभीर बीमारियों से बचाने के लिए इसे जरूर खाएं

folic acid is important for pregnancy
Share Article

tips for first time pregnant

गर्भधारण करने के लिए फोलिक एसिट कई तत्‍वों में से एक महत्‍वपूर्ण तत्‍व है. यह गर्भावस्‍था में महिला और उसके पेट में पल रहे बच्‍चे के विकास के लिए बेहद महत्‍वपूर्ण तत्‍वों में से एक है. फोलिक एसिड, विटामिन बी समूह का एक प्रकार है जिसे बी 9 भी कहते हैं. फोलिक एसिड बच्‍चों के लिए काफी उपयोगी तत्‍व है. गर्भ में शिशु के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है.

फोलिक एसिड के नियमित सेवन करने से गर्भ में पल रहे शिशु में होने वाले जन्‍मजात समस्‍या कम हो जाती है. साथ ही साथ उस महिला को भी एनीमिया की समस्‍या नहीं होती है. गर्भावस्‍था में फोलिक एसिड और फोलेट का सेवन क्‍यों फायदेमंद है यहां जानते हैं.

गर्भधारण में मदद : यदि आप प्रेगनेंसी की प्‍लानिंग कर रही हैं तो आपको अपनी में आहार में फोलिक एसिड को शामिल करना चाहिए. यह गर्भ धारण करने में मदद करता है.

इसे भी जरूर पढ़ें सावधान : प्रेगनेंसी के दौरान गोनोरिया जैसी यौन संक्रमण बीमारी शिशु के लिए है बेहद खतरनाक

खून की कमी : लिक एसिड से लाल रक्‍त कोशिकाएं तेजी से बनती है. जिससे खून की कमी नहीं होती है. इसलिए फोलिक एसिड का सेवन से गर्भवती महिलाओं को एनीमिया होने का खतरा नहीं होता है.

miscarriage prevention

गर्भपात का खतरा : शोध में यह बात सामने आ चुकी है कि गर्भावस्‍था के शुरुआती दिनों में या प्रेगनेंसी प्‍लान करते समय फोलिक एसिड के सेवन से मां और बच्‍चों के लिए बेहद लाभदायक होता है. साथ ही साथ गर्भावस्‍था के दौरान गर्भपात होने के खतरा काफी कम हो जाता है. शोध में यह भी पता चला है कि फोलिक एसिड डेफिशिएंसी की वजह से कई महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्‍कत आती है जिससे गर्भपात होने का खतरा काफी बढ़ जाता है.

शिशु का विकास : फोलिक एसिड बच्‍चे को विकसित करने में बहुत मदद करता है. यह न्‍यरल ट्यूब की रक्षा करता है जिससे बच्‍चे में दिमाग और स्‍पाइनल कॉर्ड विकसित होती है.

इसे भी जरूर पढ़ें प्री मच्‍योर बर्थ के बच्‍चों के बेहतर जीवन के लिए मददगार है कैफीन

जन्‍मजात बीमारियों से दूर रखता है : फोलिक एसिड की कमी से स्‍पाइना बिफिडा बीमारी होने की संभावना होती है. इस बीमारी के कारण बच्‍चों में स्‍पाइनल कॉर्ड का विकास पूरी तरह नहीं हो पाता है. इसलिए इस समस्‍या से बचने के लिए फोलेट और फोलिक एसिड स्‍पाइना बिफिडा जैसी बीमारियों से बचाता है. इसके लिए उन महिलाओं को ब्रोकली, मीट, संतरा आदि खाना में शामिल करना बेहद लाभदायक होता है.

दिल की बीमारी : मां बनने वाली महिलाओं के लिए फोलिक एसिड का सेवन जरूर करना चाहिए. क्‍योंकि फोलिक एसिड स्‍ट्रोक, अल्‍जाइमर और दिल की बीमारियों से बच्‍चे को रक्षा करता है. साथ ही इससे बच्‍चे का विकास भी होता है और मां को भी सुरक्षित रहने में मदद करता है.

आहार में इसे शामिल करें जरूर : फोलिक एसिड के लिए हमें हरी पत्‍तेदार सब्जियां, फलियां, बीज, अंडा, अनाज और खट्टे फल शामिल जरूर करना चाहिए. हरी पत्‍तेदार सब्जियों में पालक, शलजम का साग और फलियां में दाल, बींस, और पिंटो सेम, काले सेम, राजमा और किडनी बींस शामिल हैं. साथ ही साथ इसके अलावा फूलगोभी, ब्रोकली, पपीता और स्‍ट्रॉबेरी भी फोलिक एसिड का सोर्स हैं. फोलिक एसिड नट्स और मीट में भी काफी मात्रा में पाया जाता है. इसलिए इसको भी अपने आहार में शामिल करने से शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है.

folic acid is important for pregnancy

इसे भी जरूर पढ़ें यदि आपको भी बच्‍चे रातभर जगाते हैं तो ये तरीके अपनाएं

गर्भवती महिलाओं के लिए फोलिक एसिड की खुराक कितनी जरूरी है

  • 400 माइक्रोसॉफ्ट ग्राम गर्भधारण के शुरुआती 12 सप्‍ताह में.
  • 400 माइक्रोसॉफ्ट ग्राम गर्भावस्‍था के स्‍टेज के दौरान.
  • 600 माइक्रोसॉफ्ट ग्राम फोलिक एसिड का सेवन उपयोगी होता है.

नोट : फोलिक एसिड की मात्रा के लिए अपने डॉक्‍टर से जरूर सलाह लें.

इसे भी जरूर पढ़ें सावधान : देशभर में टीबी बीमारी पहुंचा खतरनाक स्‍तर पर

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here