गुनाह

नोएडा स्कूल हादसे में पुलिस की गिरफ्त में आए प्रिंसिपल साहब

noida-school-accident
Share Article

noida-school-accident

सलारपुर स्थित गजराज कॉलोनी में सोमवार सुबह न्यू केएम पब्लिक स्कूल की दीवार गिरने से हुई दो बच्चों की मौत के मामले में पुलिस ने स्कूल के प्रधानाचार्य संजीव झा को सेक्टर-107 से गिरफ्तार कर लिया है। उधर, शिक्षा विभाग स्कूल को बुधवार को सील करेगा।

सलारपुर में न्यू केएम पब्लिक स्कूल में सोमवार को स्कूल की दीवार बच्चों के ऊपर गिर गई। लोगों ने मलबा हटाकर बच्चों को बाहर निकाला। हादसे में कक्षा एक के छात्र विवेक, भूपेंद्र, अशीश, आकाश, नैतिक, रेशू और बबलू घायल हो गए। अस्पताल में इलाज के दौरान विवेक यादव और भूपेंद्र की मौत हो गई थी। हादसे के बाद लोगों ने दोनों बच्चों के शव सड़क पर रखकर जाम लगा दिया था। प्रशासनिक अफसरों ने दोनों बच्चों के परिजनों लिए 4-4 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की थी। पुलिस ने स्कूल मालिक अमित भाटी, प्लॉट मालिक देशराज व उसके बेटे सुमित भाटी, स्कूल प्रबंधक राजेंद्र सोलंकी, प्रधानाचार्य संजीव झा और अज्ञात जेसीबी चालक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया था। बुधवार सुबह सबसे पहले बेसिक शिक्षा विभाग की टीम स्कूल को सील करने पहुंचेगी। विभाग ने स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को दूसरे स्कूल में प्रवेश देने के लिए भी योजना बनाई है।

पुलिस का कहना है कि मुख्य आरोपी अमित भाटी समेत अन्य की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दी जा रही है। देर रात तक पुलिस ने आरोपियों के घरों और रिश्तेदारों के यहां दबिश दी। इनके घरों पर ताला लटका हुआ है। पुलिस को आशंका है कि सभी गिरफ्तारी पर स्टे लेने के लिए हाइकोर्ट कोर्ट जा सकते हैं।

अवैध स्कूलों के खिलाफ चलेगा अभियान

जिले में बेसिक शिक्षा विभाग अवैध रूप से स्कूल चलाने वालों के खिलाफ अभियान चलाकर केस दर्ज करेगा। इसी कड़ी में मंगलवार को विभाग की ओर से दस नए स्कूलों के खिलाफ जांच शुरू की गई। इससे पहले जिले में 81 ऐसे स्कूल सामने आए थे जिनके पास मान्यता नहीं थी। अवैध स्कूलों के लिए विभाग नया सर्वे करा रहा है। नए सर्वे में अवैध स्कूलों की संख्या में इजाफा हो सकता है। इस जांच में पूर्व में सामने आए स्कूलों को भी शामिल किया जा रहा है।

फरार आरोपियों की तलाश जारी

पांच फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। सोमवार रात तीन आरोपियों की मोबाइल लोकेशन दिल्ली मिली थी, मगर जब तक पुलिस वहां पहुंची तो आरोपियों ने अपना ठिकाना बदल लिया। जल्द ही सभी पकड़े जाएंगे। -स्वेताभ पांडेय, सीओ नगर तृतीय

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here