योगी सरकार के मंत्री ने खुलेआम उड़ाई रेल नियमों की धज्जियां

railway rules violation by up minister
हर रेलवे स्टेशन और हर रेलवे फाटक के पास लिखा होता है कि जब समपार फाटक बंद हो, तो उसे पार करने की कोशिश न करें, लेकिन नियम बनाने वाले मंत्री ही कई बार खुद को इन नियमों से ऊपर समझते हैं. यह मामला है उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री सुरेश खन्ना द्वारा रेलवे नियमों के उल्लंघन का. उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने अपने काफिले को बंद रेलवे फाटक पार कराने के लिए रेलकर्मी को फाटक खोलने पर मजबूर कर दिया. आम लोग योगी सरकार के वरिष्ठ मंत्री द्वारा सरेआम कानून की धज्जियां उड़ाए जाने का दृश्य देखते रहे. रेल विभाग ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

यह भी पढ़ें: जब यूपी के इस नेता ने फिल्मों के लिए खोल दिया था सरकारी खजाना

नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना कान्हा पशु आश्रय गृह का उद्धघाटन करने बरेली गए थे. खड़ऊआ रेल फाटक बंद होने के कारण मंत्री का काफिला रुक गया. मंत्री को रेल फाटक पर इंतजार करना गवारा नहीं हआ. उन्होंने गेट पार करने की कोशिश की. इस पर मंत्री के कारिंदों ने रेलकर्मी को फाटक खोलने पर विवश कर दिया. ऐसा करके मंत्री ने रेलवे एक्ट का उल्लंघन किया. वे खुद फाटक के बैरियर के नीचे से निकलकर रेल पटरियों पर पहुंच गए, जबकि उसी दौरान वहां से ट्रेन गुजरने वाली थी. उनके साथ अन्य अफसर व नेताओं ने भी रेलवे एक्ट का उल्लंघन किया. इस दौरान कुछ नेताओं ने गेट मैन से जबरन फाटक खुलवा लिया.

यह भी पढ़ें: चुनाव एमपी-छत्‍तीसगढ़ का, खर्चा यूपी का

मंत्री को 11 बजे बरेली पुलिस लाइन पहुंचना था, लेकिन उनके राजकीय हेलीकॉप्टर ने सवा 11 बजे लखनऊ से उड़ान भरी. वे करीब साढ़े 12 बजे पुलिस लाइन पहुंचे. यहां उनका काफिला सीबीगंज के लिए रवाना हो गया. नदोसी में बने पशु आश्रय स्थल कान्हा उपवन पर पहुंचने के दौरान उनको खड़ऊआ फाटक बंद मिला. आरटीआई एक्टिविस्ट डॉ प्रदीप जागर ने इस मामले में ट्वीट करके रेल मंत्री और डीआरएम से शिकायत की है. उनका कहना है कि अगर मंत्री जी और उनके साथ के अधिकारी, कर्मचारी और नेताओं पर कार्रवाई नहीं होती है, तो वे कोर्ट जाएंगे. लखनऊ के वरिष्ठ रेल मंडल संरक्षा आयुक्त ने मुरादाबाद मंडल को मामले की जांच करने को कहा है.

You May also Like

Share Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *