देशपर्यावरण

ये है देश का सबसे प्रदूषित शहर

patna
Share Article

patna

नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत का सपना लगता है पटना आकर चूर-चूर हो गया. ताजा आंकड़े बताते हैं कि बिहार की राजधानी पटना देश का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है. पिछले साल पटना जब तीसरे पायदान पर आया था तब काफी हल्ला मचा था और दावा किया गया था कि अगले साल हालात को सुधार लिया जायेगा लेकिन ताजा आंकड़ों से इन दांवो की पोल खुल गई है.

आपको बता दें कि केन्द्रीय पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के रिकॉर्ड के अनुसार, देश के प्रमुख 60 शहरों में पटना सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर हो गया. जारी आंकड़ों में पटना की स्थिति दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा से भी खराब दर्ज की गई है.

मुजफ्फरपुर दूसरे स्थान पर

इस संबंध में आपको बताते चलें कि आंकड़ों के अनुसार, बिहार का ही मुजफ्फरपुर दूसरे स्थान पर है. देश की राजधानी दिल्ली से सटा उत्तरप्रदेश का शहर गाजियाबाद सूची में तीसरे स्थान पर है. केन्द्रीय पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से जारी आंकड़ों में इसकी स्थिति साफ दिख रही है.

राजधानी पटना में पीएम 2.5 का स्तर शुक्रवार को 456 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रिकॉर्ड किया गया. मुजफ्फरपुर मे पीएम 2.5 का स्तर 447 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रहा.

जल्द दिखेगा बदलाव

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के अध्यक्ष प्रो. अशोक कुमार घोष ने कहा कि प्रदूषण को देखते हुए विभिन्न विभागों के साथ समन्वय स्थापित किया गया है. इसके तहत एयर क्वालिटी एक्शन का शॉर्ट एंड लॉग टर्म प्लान तैयार किया गया है. इसका असर तीन-चार महीने में देखा जा सकेगा.

बूंदाबांदी के बावजूद नहीं सुधरे हालात

पटना में बूंदाबांदी भी प्रदूषण पर लगाम नहीं लगा पाई. 17 दिसंबर को हुई बूंदाबांदी के बावजूद हवा में मौजूद प्रदूषण तत्व में अपेक्षित कमी नहीं हो सकी. पीएम 2.5 (पार्टिकुलेट मैटर) सामान्य से पांच गुना अधिक रिकॉर्ड किया गया. पटना में वायु गुणवत्ता सूचकांक पीएम 2.5 लगातार खतरनाक स्तर पर रिकॉर्ड किया जा रहा है. अब तो शहर के किनारे गंगा में प्रदूषण नियंत्रण मानक की अनदेखी कर खनन भी शुरू होने से धूलकण से सांस लेने में कठिनाई हो रही है.

 

 

 

 

 

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here