चुनावजरुर पढेंदेशराजनीति

राम मंदिर और तीन तलाक पर भाजपा को नहीं मिलेगा सहयोगियों का साथ

JDU-LJP-on-Ayodhya
Share Article

JDU-LJP-on-Ayodhya

चिराग पासवान                                                               वषिष्ठ नारायण सिंह

राम मंदिर और तीन तलाक के मुद्दे पर भाजपा को अपने सहयोगी दलों लोजपा और जदयू का साथ मिलने के आसार नहीं हैं.

जहां तक तीन तलाक का मामला है इसपर जदयू ने साफ कह दिया है कि राज्यसभा में अगर वोटिंग की नौबत आयी तो पार्टी इसके खिलाफ वोट करेगी. जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वषिष्ठ नारायण सिंह ने कहा है कि जदयू का स्टैण्ड इस मामले में पहले से ही साफ है और किसी दबाव में हम अपने स्टैण्ड को नहीं बदलने वाले.

वहीं दूसरी और राम मंदिर के मामले में लोजपा ने साफ किया है कि वह अध्यादेश लाने के खिलाफ हैं. पार्टी सांसद चिराग पासवान के अनुसार राम मंदिर का निर्माण कोर्ट के फैसले या फिर आम सहमति से होना चाहिए.

लोजपा और जदयू के इस रूख के बाद भाजपा को राम मंदिर और तीन तलाक के मुद्दे पर बहुत ही फूंक-फूंक कर कदम रखना होगा. क्योंकि चुनावी मौसम में भाजपा अपने किसी भी सहयोगी को नाराज करने की स्थिति में नहीं है.

भाजपा कम से कम लोकसभा चुनाव तक अपने सभी सहयोगी को साथ रखना चाहती है. यही वजह है कि नरेंद्र मोदी ने भी अपने साक्षात्कार में राम मंदिर पर अध्यादेश लाने से साफ इंकार कर दिया था. उन्होंने कहा था कि मामला कोर्ट में है और फैसले के बाद ही सरकार अपनी जिम्मेदारी निभायेगी.

सरोज सिंह Contributor|User role
Sorry! The Author has not filled his profile.
×
सरोज सिंह Contributor|User role
Sorry! The Author has not filled his profile.
Share Article

Comment here