कवर स्टोरीजरुर पढें

मेघालय खदान आपदा : बचाव कार्य पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

SC-on-Meghalaya
Share Article

SC-on-Meghalaya

सुप्रीम कोर्ट मेघालय में खदान में फंसे खनिकों के बचाव के लिए पर्याप्त जनशक्ति और उपकरणों की तैनाती की मांग वाली याचिका पर गुरुवार को सुनवाई करेगा. मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति संजय कृष्ण कौल की पीठ ने इस मामले को सुनने के लिए सहमति व्यक्त की. वकील आदित्य एन प्रसाद की याचिका में कहा गया है कि किर्लोस्कर और टाटा ट्रस्ट द्वारा पेश किए जा रहे पानी को बाहर निकालने के लिए उपकरण को सड़क मार्ग से भेजने के बजाय तुरंत साइट पर लाया जाए.
गौरतलब है कि मेघालय के जयंती हिल्सक क्षेत्र में स्थित कोयला खदान में फंसे 15 मजदूरों को बचाने की कोशिश कई दिनों से चल रही है. 350 फीट गहरी इस खदान में करीब 70 फीट पानी भरा हुआ है. 13 दिसंबर से मजदूर इसमें फंसे हुए हैं. मजदूर खुदाई कर रहे थे, इसी दौरान खदान के पास बहने वाली लेटेन नदी का पानी इसमें भर गया था. इसी पानी को निकालने के लिए पंप मंगाए गए थे, लेकिन इनकी क्षमता नाकाफी साबित हो रही है.

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here