ट्रेंडिंग न्यूज़

अंबानी के नौकरों के बच्चे विदेश में करते हैं पढ़ाई, सैलरी जानकार उड़ जाएंगे होश

mukesh-ambani-pays-incredible-ammount-to-his-servants
Share Article

mukesh-ambani-pays-incredible-ammount-to-his-servants

दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जो भारत के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी को ना जानता हो! मुकेश अंबानी को नाम और शोहरत के साथ उनके लाइफस्टाइल के लिये भी जाना जाता है। जब मुकेश अंबानी ने अपना घर बनवाया तो पूरी दुनिया जानना चाहती थी कि उनका घर कैसा दिखता होगा।

उनके घर का नाम एंटिलिया है और यह 27 मंज़िला इमारत है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस घर को संभालने और इसकी देखरेख करने वाले कर्मचारियों की सैलेरी कितनी है, शायद नहीं। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं इस घर के कर्मचारियों की सैलेरी के बारे में, जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

आज हम आपको मुकेश अंबानी के घर में काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन के बारे में बताने जा रहे हैं। लेकिन वेतन पैकेज के बारे में पता लगाने से पहले, एंटीलिया के बारे में जानना ज़रूरी है, वह घर जहां मुकेश अंबानी और उनका परिवार रहता है।

यह बकिंघम महल के बाद दुनिया में सबसे महंगी आवासीय संपत्तियों में से एक है। आपको बता दें कि एंटिलिया की कीमत 1 मिलियन डॉलर से अधिक है, जो इसे दुनिया की सबसे महंगी निजी संपत्ति बनाता है। एंटीलिया मुंबई में अल्टामाउंट रोड, कुम्बाला हिल पर स्थित है।

एंटिलिया की खासियत है कि यह घर रिक्टर स्केल पर 8 रेटेड भूकंप से बच सकता है। गौरतलब है कि अंबानी का घर विवादों का हिस्सा रहा है। इस तरह के शानदार घर के साथ उसके रखरखाव की देखभाल करने के लिये निश्चित रूप से एक विशाल टीम की ज़रूरत पड़ती है।

मुकेश अंबानी अपने कर्मचारियों को नौकर नहीं समझते बल्कि वह उन्हें अपने परिवार का ही सदस्य मानते हैं और उनसे उसी आदर के साथ बात करते हैं, जैसे किसी परिवार के सदस्य के साथ किया जाता है। जब उनके 600 कर्मचारियों के भुगतान की बात आती है तो इस मामले में वह काफी उदार हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक पहले कर्मचारियों की शुरूआती आय 6 हजार रुपये थी और अब वे हर महीने 2 लाख रुपये कमाते हैं। इसमें शिक्षा और जीवन बीमा भत्ता भी शामिल है। साथ ही एम्प्लॉई के दो बच्चों को अमेरिका में जाकर पढ़ाई करने का मौका भी मिलता है।

जैसा कि आप जानते हैं अंबानी के घर को जेड सुरक्षा दी गई है इसके लिये वे 15 लाख रुपये महीने भुगतान करते हैं। बिजनेस टायकून के लिये सीआरपीएफ एक जेड सुरक्षा के रूप में अपने संसाधन को तैनात किये हुए हैं।

 

Sorry! The Author has not filled his profile.
×
Sorry! The Author has not filled his profile.

You May also Like

Share Article

Comment here