उत्तर प्रदेश: मुस्लिम वोट बैंक,हिन्दू वोटों का धु्रवीकरण

उत्तर प्रदेश की सरजमी पर इस लोकसभा चुनाव में कई तरीकों से नया इतिहास लिखा गया।संगठनात्मक स्तर से लेकर नेताओं

Read more

रशीद मसूद की राजनीति ख़त्म : अब इनकी बारी है

पुराने समाजवादी और अब कांगे्रसी सांसद (राज्यसभा सदस्य) रशीद मसूद आख़िरकार मेडिकल भर्ती घोटाले में सलाखों के पीछे पहुंच ही

Read more

उत्तर प्रदेश : तबादलों की मार से हलकान आईपीएस लॉबी

ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ होना आज के समय में अपराध जैसा हो गया है. उत्तर प्रदेश के कई आईपीएस अधिकारी आजकल

Read more

शिष्टाचार भूलते कांग्रेसी

उत्तर प्रदेश में अपनी दाल न गलती देख कांग्रेस ने राजनीतिक फायदा उठाने के लिए चुनाव आयोग को ठेंगा दिखाने और विपक्ष का अपमान करने की नई मुहिम छेड़ दी है. कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी सहित कोई न कोई नेता नित्य-प्रतिदिन चुनाव आयोग, विपक्षी नेताओं और उनकी पार्टियों के बारे में नुक्ताचीनी और अमर्यादित टिप्पणी करते रहते हैं.

Read more

अदम गोंडवी : आम आदमी का शायर

शब्द-शब्द संघर्ष करने वाले साहित्य जगत के शिल्पकार रामनाथ सिंह उ़र्फ अदम गोंडवी नहीं रहे. ग़ुरबत में ज़िंदगी ग़ुजार कर साहित्य की सेवा करने वाले अदम गोंडवी ने अभाव में ज़िंदगी के ताप को महसूस कराने के लिए अपने गांव आटा परसपुर (गोंडा, उत्तर प्रदेश) की ओर से साहित्यानुरागियों का ध्यान खींचने के लिए क़लम को तलवार बनाते हुए कहा था

Read more

उत्तर प्रदेश: हर तरफ पानी ही पानी

बाढ़ और पानी से शहरी जनता हलकान है, वहीं किसान परेशान. किसी के खेत पानी में डूब गए हैं तो किसी का घर-मकान और राशन-पानी बाढ़ लील गई. क़रीब 24 ज़िले बाढ़ से प्रभावित हैं. लोग छतों पर तिरपाल लगाकर, स्कूलों के बरामदों में, कुछ नहीं तो खुले में ही जीवनयापन कर रहे हैं.

Read more

बनारस को जानिए-समझिए

आत्म प्रचार और विज्ञापन के इस दौर में भी कुछ लोग ऐसे हैं, जो किसी प्रतिदान की अपेक्षा के बग़ैर चुपचाप निष्ठापूर्वक अपना काम किए जा रहे हैं. ऐसे ही एक शख्स हैं लेखक-पत्रकार कमल नयन. कमल जी के आलेख का़फी पहले साहित्यिक पत्रिका धर्मयुग में प्रमुखता से प्रकाशित होते रहे.

Read more