राजनीति का शुद्धिकरण

जनता सार्वजनिक जीवन के प्रति उदास हो गई है, क्योंकि बहुजन समाज उपेक्षित है. बेरोजगारी का निराकरण, किसान की प्राथमिक

Read more

राष्ट्र की एकता को बचाइए

आज भारत में राष्ट्रीय स्तर पर मुझे जो नितांत आवश्यकता प्रतीत होती है वह है लड़ाई की! लड़ाई किसके विरुद्ध?

Read more

राष्ट्र का पुनर्निर्माण उसके लाखों गांवों का पुनर्निर्माण

जीवन की ऐसी रचना कैसे चलेगी और क्यों चलने दी जाएगी, जिसमें परिवार में स्त्री को, उत्पादन में श्रमिक को,

Read more

संकट का स्त्रोत कहां है

राज्य सत्ता की तरह लोक-शक्ति का आधार शस्त्र की शक्ति नहीं है जो शक्ति उसका आधार है. उसे गांधी जी

Read more

वादा और वास्तविकता

क्या अब भी लोकमानस में इस तरह के प्रश्‍न नहीं उठने चाहिए? हम गुलाम थे तो नेताओं का वादा था

Read more

लोकतांत्रिक प्रणाली पर सवाल

चुनाव क्षेत्र के निर्धारण और लोक-उम्मीदवार की तलाश का काम काफ़ी पहले से शुरू करना होगा. ऐसे क्षेत्र जहां हमारी

Read more

राष्ट्रीय संकट का निवारण कैसे हो

यह संघर्ष राष्ट्र के वर्तमान संकट से उबरने की अनुक्रिया का एक अविच्छिन्न भाग होगा. यह संघर्ष स्थानीय, क्षेत्रीय अंतरराष्ट्रीय

Read more

भ्रष्टाचारी सरकार का अधिनायकवाद

राष्ट्र के राजनैतिक संकट  का मूल कारण सत्ताधारी दल की अलोकतांत्रिक और सत्तावादी अकांक्षा है. वर्तमान सत्ता देश पर एक

Read more

सत्ता दमन और शोषण का साधन बन गई है

हमारा देश आज जिस विषम परिस्थिति से गुज़र रहा है, वह हर जागरूक नागरिक के लिए चिंता का विषय है.

Read more

सरकार को पैसा कौन देता है

आज देश में अंतर्विरोध की कई रेखाएं हैं. जैसे कि गांव में किसान मज़दूर का शोषण करता है, बड़ा छोटे

Read more

क्या यही है सच्चा देश प्रेम!

बीसवीं सदी के छठे और सातवें दशक तक हरित क्रांति अवतीर्ण नहीं हुई थी. नीचे के आंकड़ों से साफ़ है

Read more

गोरे अंग्रेज गए, काले आ गए?

किसानो  का शोषण शुरू हुआ. साहूकारों के हाथ में बड़े-बड़े खेतों के चक आए. उधर कई किसान भूमिहीन हो जाने

Read more

दारिद्रय क्यों और कैसे?

अट्ठारहवीं सदी में भारत के गांवों एवं कृषि का स्वरूप क्या था, इस विषय में काफी शोध हुआ है. इससे

Read more

जन-आंदोलन का स्वरूप

हमारे संविधान निर्माताओं ने बालिग मताधिकार पर आधारित लोकशाही की पश्चिमी पद्धति स्वीकार की, जिसकी नींव में बिखरे हुए और

Read more

स्व-शासन के कुछ अनुभव

  करीब 50 वर्ष पूर्व महाराष्ट्र में औंध की देशी रियासत में राजा ने कुछ अधिकार गांव वालों को दिए

Read more

गांव को उचित सत्ता से वंचित क्यों रखा जाए?

यह आक्षेप अक्सर लगाया जाता है कि गांवों को स्व-शासन के अधिकार देने पर अन्याय, अत्याचार बढ़ेंगे और ग़लतियां भी

Read more

ग्रामसभा के अधिकार

  1.            ग्राम संबंधी भूमि व्यवस्था एवं भू-राजस्व संबंधी जो भी अभिलेख, अधिकार आदि आज तहसील (तालुका) या अंचल को

Read more

ग्रामसभा के अधिकार!

हमने देखा कि पंचायती राज की वर्तमान योजना के अंतर्गत आज जो पंचायतें हैं, वे गांधी जी की कल्पना की

Read more

समस्या और उसका निराकरण

राजनीतिक पार्टियों में अच्छे लोग नहीं हैं, यह बात नहीं है, पर सवाल अच्छे लोगों का नहीं, बल्कि नीतियों एवं

Read more

जनतंत्र का आज का स्वरूप

अपने देश में किसी भी राज्य के पंचायत क़ानून ने गांव के सब मतदाताओं को, यानी उनकी मिली हुई ग्रामसभा

Read more

गांव की आज की व्यवस्था एवं उपाय योजना

गांव में किए जा सकने वाले काम ग्रामसभा करे, ऐसा संविधान स्वराज्य के बाद बनाया जाना चाहिए था. दरअसल जो

Read more

गांवों की पुरातन व्यवस्था

गांधी जी ने दक्षिण अफ्रीका से लौटकर भारत का वर्ष भर दौरा किया. भारत के ग्रामीणों की दुर्दशा देखी. उनके

Read more