विपक्ष अपनी ग़लतियों से सीखने के लिए तैयार नहीं है

मुझे नहीं लगता कि विरोधी पक्ष में रहने वाले कोई सीख ले पाएंगे और यही प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह

Read more

सरकारें बचकानी हरकतों से नहीं चलती

2019  में या तो मोदी फिर प्रधानमंत्री बनेंगे या नहीं बनेंगे. दोनों स्थितियों के लिए जो मैं कहने जा रहा

Read more

शुजात बु़खारी सच और साहस भरी पत्रकारिता की मशाल थे

किसी की मौत के बाद, उसकी पहचान उसके लिखे हुए और बोले हुए शब्द ही होते है, जो हमेशा हमारे

Read more

बंदूक़ ही समाधान है तो राजनेताओं की जरूरत क्या है

अचानक कश्मीर में भाजपा ने सरकार से अपना सपोर्ट वापस ले लिया. कश्मीर की सरकार गिर गई और वहां गवर्नर

Read more

भैय्यू जी महाराज एक महान संत, एक महान समाजसेवी थे

भैय्यू जी महाराज की आत्महत्या इस देश के उन लोगों की कहानी है, जो बड़े लोग होते हैं लेकिन अपने

Read more

शुजात बुखारी का आखिरी कॉलम, फेक न्यू़ज पत्रकारिता की बड़ी चुनौती

आज पत्रकारिता के समक्ष कई प्रकार की चुनौतियां है. ये चुनौतियां सामान्य रूप से तकनीकी विकास के कारण उत्पन्न हो

Read more

देश को बचाने की ज़रूरत है

कोई नई सरकार जब सत्ता में आती है तो उसकी नीतियां सबसे पहले चुनावी घोषणा पत्र में और सरकार बनने

Read more

देशभक्ति के नाम पर सेना को दरिद्र बना रहे हैं

देश की सेना क्या वाकई सैन्य साजो-सामान और हथियारों के संकट से जूझ रही है. सोशल मीडिया पर इन दिनों

Read more

कांग्रेस से भी आगे निकल गई भाजपा

एक चुनाव जीतते ही भाजपा सोचती है कि पता नहीं उसके हाथ क्या लग गया है. अगर इसका 10 फीसदी

Read more

उपचुनाव परिणाम: जनता की इस चेतावनी को समझिए

लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव के परिणाम सामने आ गए हैं. अभी पिछले हफ्ते हमने चौथी दुनिया की लीड स्टोरी की

Read more

कश्मीर को राजनीतिक समस्या के रूप में देखिए

प्रधानमंत्री का 20 मई का जम्मू-कश्मीर का एक दिवसीय दौरा उनके  पिछले दौरों से थोड़ा अलग था. हालांकि इस बार

Read more

जनता खामोश है लेकिन आपके खिलाफ है

अगले साल आम चुनाव होने वाले हैं. चार साल पहले नरेंद्र मोदी ने लोगों में यह उम्मीद पैदा कर दी

Read more

क्या भारत एक असुरक्षित राष्ट्र बनना चाहता है!

असम सहित उत्तर पूर्व के सातों राज्य इस समय एक बड़े आंदोलन के दरवाजे पर खड़े हैं. स्वयं असम के

Read more

संघर्ष-विराम : आशा की एक किरण

मजान के पवित्र महीने से दो दिन पहले केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने एक आश्चर्यजनक घोषणा की. उन्होंने अपने

Read more

कश्मीर का समाधान… कश्मीरियत, इंसानियत और जम्हूरियत

मई में मैं नौ दिनों तक सैलानी के रूप में कश्मीर में रहा. इस दौरान मैं मुख्य रूप से तीन

Read more

राजनीतिक दलों से लोकलाज और नैतिकता की उम्मीद बेमानी है

वक्त, नैतिकता, नियम-कानून कैसे बदलते हैं, इसका प्रमाण और इसका मनोविज्ञान आज हमारे सामने है. आजादी के बाद देश के

Read more

कांग्रेस का ही दूसरा चेहरा है भाजपा

कर्नाटक चुनाव का परिणाम आ गया है, उसके बाद जो हो रहा है, उस पर बात करते हैं. कर्नाटक चुनाव

Read more

देश का संविधान अक्षुण्ण रहना चाहिए

कर्नाटक में प्रधानमंत्री ने बयान दिया कि राहुल गांधी बड़े लोग हैं, हमारे जैसे छोटे लोगों के साथ कैसे बैठेंगे.

Read more

देश और सरकार चलाना सीखिए

इंदिरा गांधी एक प्रभावशाली प्रधानमंत्री थीं. उन्होंने कभी राज्यों के चुनाव को इतना महत्व नहीं दिया. राज्यों में पार्टी के

Read more

जनता के सवालों पर बहस की उम्मीद करना बेमानी है

कर्नाटक चुनाव बीत गया. कर्नाटक का कोई भी असल मुद्दा किसी भी भाषण में न भारतीय जनता पार्टी ने उठाया

Read more

अफस्पा: कश्मीर को लेकर ये चुप्पी क्यों?

केंद्र सरकार द्वारा मेघालय से सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफस्पा) को हटाने और अरुणाचल प्रदेश में आठ पुलिस स्टेशनों तक

Read more

जनसमस्याओं के समाधान की इच्छाशक्ति किसी भी राजनीतिक दल में नहीं है

अभी भी देश में ऐसे लोगों की बड़ी संख्या है, जो चुनाव में किस पार्टी ने क्या किया और कौन

Read more

कर्नाटक चुनाव राष्ट्रव्यापी महत्व का चुनाव हो गया है

कर्नाटक का चुनाव भी देश के लिए एक नई सीख लेकर आने वाला है. लगभग सभी लोग मान रहे थे

Read more

सरकार भ्रम की स्थिति में है

देश की राजनीति सही दिशा में नहीं चल रही है. यह दुर्भाग्यपूर्ण बात है. ज्यादा जोर चुनाव और चुनावी नतीजों

Read more

सामाजिक विकृति का समाधान समाज को ही देना है

हमारे देश में सामान्य आदमी की संवेदना मरी हुई प्रतीत हो रही है, खासकर तब, जब वो खुद को धर्म

Read more

जनमानस को समझ कर काम कीजिए

जिस आरएसएस को मैं जानता था, वो एक अलग ही आरएसएस था. बाला साहब देवरस से मेरा व्यक्तिगत मिलना-जुलना था.

Read more

अन्ना हजारे के अनशन की अंतर्कथा

देवेंद्र फड़णवीस ने अन्ना को तैयार किया कि अन्ना की मांगों को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह

Read more

बनाना रिपब्लिक ऐसी ही स्थिति को कहते हैं!

मैं यह नहीं कहता कि लोन राइट-ऑफ करना सही है या गलत. मैं केवल भौंडे कार्यप्रणाली की बात कर रहा

Read more

जनता से जुड़े सवालों पर आंदोलन से जनता क्यों ग़ायब है

अन्ना की एक व्यक्तिगत कमजोरी जरूर है कि अगर उनके सामने भीड़ नहीं होती है, तो वो बहुत ज्यादा जोश

Read more