सरकार की प्राथमिकता में नहीं हैं किसान

किसानों का सवाल पिछले 60 साल में हर गुजरते दिन के साथ महत्वपूर्ण होता चला गया है, लेकिन किसी सरकार

Read more

मुख्यमंत्री के सुसाइड नोट को ग़ायब क्यों किया गया

सिस्टम कितना बेरहम होता है. वो अपने ही व्यक्ति की मौत का सुख उठाता है. हमारे इस महान देश के

Read more

प्रधानमंत्री जी, एक बार कश्मीर के लोगों से मन की बात तो करिए

अब कश्मीर में क्या होगा? ये बड़ा सवाल इसलिए उठ खड़ा हुआ है क्योंकि केंद्र सरकार बातचीत शुरू करने का

Read more

किसान मुस्कुराएंगे, तभी देश मुस्कुराएगा

किसानों के सवाल पर चुनाव लड़ा जाता है. प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों को मिनिमम सपोर्ट प्राइस देने की बात की

Read more

वैचारिक बहस में शरीक हों, दुत्कारें नहीं

पहले हमारे देश में वैचारिक मंथन बहुत होता था, जिसे शास्त्रार्थ का नाम दिया गया. दो परस्पर विचाराधाराएं आमने-सामने आती

Read more

अब सर्वोच्च नहीं रहा सर्वोच्च न्यायालय

सुप्रीम कोर्ट ताक़तवर है या भारत सरकार, इसका पता बड़ी आसानी से लगाया जा सकता है. समय-समय पर ऐसे मौके

Read more

कश्मीर समस्या का समाधान प्रधानमंत्री के हाथों में है

पूरा एक वर्ष बीत गया और हमारे प्यारे प्रधानमंत्री कश्मीर के सवाल पर बिल्कुल खामोश रहे. उन्होंने न कोई मीटिंग

Read more

मधु लिमये सादगी और वैचारिक राजनीति का पैमाना थे

19 साल की उम्र में खुदीराम बोस फांसी के फंदे पर झूल गए थे. 14 साल की उम्र में चंद्रशेखर

Read more

योगी आदित्यनाथ जी, प्राथमिकताएं और ज़िम्मेदारी तय कीजिए

उत्तर प्रदेश की चर्चा चारों तरफ है और भारतीय जनता पार्टी को मिली अभूतपूर्व विजय ने उत्तर प्रदेश को दुनिया

Read more

अजित डोभाल कश्मीर जा सकते हैं

एक मानसिकता बन गई है कि हमारा पूरा देश, पूरे देश का मतलब कश्मीर के अलावा देश के लोग और

Read more

लोगों की आशाओं को पूरा करना योगी आदित्यनाथ की ज़िम्मेदारी है

योगी आदित्यनाथ का मुख्यमंत्री बनना बहुतों को पसंद नहीं आया. लोग यह अंदाज़ा लगा रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी

Read more

सशक्त विपक्ष बनाने की ज़िम्मेदारी ग़ैर भाजपा दलों की है

पांच राज्यों के चुनाव समाप्त हो गए. इन चुनावों ने सभी को सीख दी, लेकिन कौन सीखेगा ये पता नहीं.

Read more

इस चुनावी हार से सीख लेने की जरूरत है

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली अप्रत्याशित जीत अखिलेश यादव, मायावती और कांग्रेस को बहुत परेशान कर रही

Read more

इस चुनावी शोर में लोकतंत्र खो गया है

चुनाव बीत गए, लेकिन चुनाव की कड़वी यादें हमें बहुत दिनों तक परेशान करती रहेंगी. भारत में चुनाव पहले लोकतांत्रिक

Read more

चुनाव परिणाम आने के बाद देश में एक नयी राजनीतिक प्रक्रिया शुरू होगी

फिर बैतलवा डाल पर. उत्तर प्रदेश चुनाव में अब लगभग यही हो गया है. कोई भी ये अंदाजा नहीं लगा

Read more

प्रधानमंत्री जी ने सामूहिक फैसले की पद्धति को खत्म कर दिया है

उत्तर प्रदेश में भाजपा के सामने कई सारी मुश्किलें हैं, जिसमें एक बड़ी मुश्किल नोटबंदी है. नोटबंदी ने सरकार की

Read more

हमारी विदेश नीति-अर्थ नीति की विश्वसनीयता खतरे में है

नेपाल हमारा वर्षों से मित्र रहा है. हज़ारों साल या जब से ये दोनों देश अस्तित्व में आए, हम नेपाल

Read more

आज की राजनीति ग़रीबों के हितों के खिलाफ है

जिन दिनों कांग्रेस देश में प्रमुख सत्ताधारी पार्टी हुआ करती थी और दिल्ली व देश के कई राज्यों में कांग्रेस

Read more

क्या लोकतंत्र का यह स्वरूप नैतिक और संविधान सम्मत है!

जैसे-जैसे आजाद हुए समय बीतता जा रहा है, वैसे-वैसे ऐसा लगता है कि पुराने लोग देवताओं के समान थे और

Read more

संघ अपनी विचारधारा से समझौता कर रहा है

कहते हैं, जब कोई समाजवादी तानाशाह बनता है तो बहुत घटिया तानाशाह बनता है. हालांकि कई तानाशाह ऐसे हुए हैं,

Read more

जो सवाल पूछेगा देशद्रोही मान लिया जाएगा

एक अद्भुत बाज़ीगरी पूरे देश के साथ हुई है. जब लोकसभा चुनाव हो रहे थे, उस समय पहले आडवाणी ने,

Read more

सरकारें शहीदों का अपमान कर रही हैं

प्रधानमंत्री जी के बहाने मैं सभी देशवासियों से ये पूछना चाहता हूं कि क्या हम सब कृतघ्न हो गए हैं?

Read more

नोटबंदी का फैसला अर्थव्यवस्था को कई साल पीछे ले गया है

भारत में सरकार जैसे काम कर रही है उसकी प्रशंसा होनी चाहिए. जब प्रधानमंत्री मोदी ने सत्ता संभाली थी, उसके

Read more

एक पाठक का प्रधानमंत्री के नाम खुला खत

मै संपादकीय में कभी-कभी उन लोगों की आवाज भी शामिल करता हूं, जो मेरा संपादकीय पढ़ते हैं. मेरे एक पाठक

Read more

असली देशद्रोही को पहचानना सीखिए

मुझे किसी ने दो दिन पहले एक कहानी सुनाई. कहानी पुरानी है. एक राजा था. एक दिन उसके यहां दो

Read more

जितेंद्र सिंह जी यह ग़ुस्सा पौरुषहीन है

हम अपने को उस भीड़ में चाह कर भी शामिल नहीं कर पाते, जो भीड़ विरुदावली गाती है, जो भीड़

Read more

प्रधानमंत्री जी, कश्मीर का समाधान शस्त्र नहीं संवाद है

श्री नगर में, शहर में भी और उत्तरी व दक्षिणी कश्मीर के देहातों में पूरा बंद है. आंदोलनों के इतिहास

Read more

सरकार ही क़ानून तोड़ेगी तो क़ानून की रक्षा कौन करेगा

ये शिकायत नहीं है, ये गुस्सा भी नहीं है और इसके आगे कहें, तो अब कोई तकली़फ  भी नहीं है,

Read more

राजेश और उनके जैसे लोगों को सलाम

बेंगलुरु में गाय के ऊपर आयोजित एक सम्मेलन में शामिल होने गया था. छह तारीख की शाम मुझे कर्नाटक के

Read more