चुनाव से ज्यादा महत्वपूर्ण है लोकतंत्र

सर्वशक्तिशाली लोग और सबसे मजबूत पार्टी डर जाए, तो उसका कारण जानने की इच्छा होती है. हमारे लिए सवाल है

Read more

हार्दिक की अनुभवहीनता, कांग्रेस का अतिआत्मविश्वास और भाजपा की चिंता

गुजरात में चुनाव अभियान जोरों पर है. यहां घटनाक्रम रोज तेजी से बदल रहे हैं. भाजपा और कांग्रेस एक दूसरे

Read more

किसान और भूख की बात करना ग़द्दारी नहीं है

आपको 1975 की एक प्रमुख उक्ति याद दिलाना चाहता हूं. देश में आपातकाल लग चुका था. कांग्रेस के अध्यक्ष देवकांत

Read more

सिस्टम में जनता के द़खल देने का समय आ गया है

देश में सोची-समझी कुछ तकनीक अपनाई जा रही है. यह है लोगों के दिमाग को एक धारा में सोचने की

Read more

गुजरात चुनाव से जनता के सवाल ग़ायब हैं

गुजरात चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है और ओपिनियन पोल आने लगे. ओपिनियन पोल के ऊपर मीडिया में खासकर

Read more

गुजरात चुनाव से जनता के सवाल ग़ायब हैं

गुजरात चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई है और ओपिनियन पोल आने लगे. ओपिनियन पोल के ऊपर मीडिया में खासकर

Read more

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अमल न होना लोकतंत्र के लिए भयावह संकेत है

कुछ सवाल ऐसे हैं, जिनका उत्तर कभी नहीं मिलता है. हर दिवाली पर, दिवाली से पहले प्रदूषण स्तर की बात

Read more

अमित शाह जी, अग्निपरीक्षा की जगह साधारण जांच ही करा लीजिए

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष के साथ बहुत शिक्षाप्रद घटना घटी और यह बहुत बड़ी सीख देती है. सीख ये

Read more

सरकार काम से ज्यादा प्रचार पर खर्च कर रही है

भारत सरकार एक निश्चित तरीके से काम कर रही है. उसका मानना है कि उसका ये तरीका ही सही है,

Read more

यशवंत सिन्हा की चिंताएं जायज़ हैं

ये हमारे दौर के बाप-बेटे की दूसरी कहानी है. यशवंत सिन्हा ने अपनी सीट अपने बेटे जयंत सिन्हा को ये

Read more

सरकार क़र्ज़मा़फी के नाम पर किसानों के साथ मज़ाक़ कर रही है

ये तो शुरू से मालूम था कि भारतीय जनता पार्टी अभी ही नहीं, अपने पहले अवतार जनसंघ से लेकर मोदी

Read more

बदहाल संचार तंत्र से कैसे बनेगा डिजिटल इंडिया

एक बात समझ में नहीं आ रही है. अब हमारी समझ में नहीं आ रही है या सरकार की, ये

Read more

कमजोर और हतोत्साहित विपक्ष लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं होता है

नीतीश कुमार द्वारा बिहार में लालू यादव के साथ सरकार न चलाने और भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार चलाने

Read more

पिछड़ा वर्ग आयोग समाज में समरसता लाएगा या विभाजन पैदा करेगा

एक बार फिर से पिछड़ा वर्ग आयोग बनाने का फैसला हुआ है. मंडल कमीशन जब बना था, उस समय पिछड़े

Read more

कांग्रेस के लोग ही लोकतंत्र को समाप्त करने के दोषी होंगे

कांग्रेस के लोग जयराम रमेश को नया कांग्रेसी बता रहे हैं. उनका कहना है कि 2004 में जयराम रमेश कांग्रेसी

Read more

देश को बेवक़ू़फ बनाने की जगह ताक़तवर बनाएं

क्या सच्चाई सामने लाने से भारतीय सेना का मनोबल गिर सकता है? बहुत सारे लोग जिन्हें देश की परवाह नहीं

Read more

देशद्रोहियों की पहचान ज़रूरी है

कभी कभी खीज होने लगती है. वर्तमान सीएजी शशिकांत शर्मा जब रक्षा सचिव थे, तब के सेनाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री को

Read more

वर्तमान माहौल से गुस्से में हैं सेना के परिजन

मेरी मुलाकात भारतीय सेना के एक जांबाज अधिकारी की पत्नी से हुई. उसने अपना एक अलग दर्द मेरे सामने रखा.

Read more

पॉर्न साइट्‌स : बचपन और शैशव दोनों बर्बाद

हमारे देश में बच्चों का बचपन और उनका शैशव समाप्त हो रहा है. इस दुःखद स्थिति के पीछे कोई और

Read more

हमारी विदेश नीति कहां जा रही है

2014 के बाद, यानि जबसे नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, भारत सरकार की कार्यप्रणाली में एक बहुत बड़ा बदलाव आया

Read more

शिवराज जी, किसानों को रासुका का डर दिखाकर खामोश नहीं किया जा सकता है

क्या किसानों के खिलाफ सचमुच एक बड़ी साजिश हो चुकी है या हो रही है? सवाल सिर्फ इतना है कि

Read more

फैसला राजनीतिज्ञों को लेना चाहिए, नौकरशाहों को नहीं

जब फैसले राजनीतिक नहीं होते, बल्कि ब्यूरोक्रेसी द्वारा लिए जाते हैं, तब देश को बड़ी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं.  इल्जाम

Read more

सरकार की प्राथमिकता में नहीं हैं किसान

किसानों का सवाल पिछले 60 साल में हर गुजरते दिन के साथ महत्वपूर्ण होता चला गया है, लेकिन किसी सरकार

Read more

मुख्यमंत्री के सुसाइड नोट को ग़ायब क्यों किया गया

सिस्टम कितना बेरहम होता है. वो अपने ही व्यक्ति की मौत का सुख उठाता है. हमारे इस महान देश के

Read more

प्रधानमंत्री जी, एक बार कश्मीर के लोगों से मन की बात तो करिए

अब कश्मीर में क्या होगा? ये बड़ा सवाल इसलिए उठ खड़ा हुआ है क्योंकि केंद्र सरकार बातचीत शुरू करने का

Read more

किसान मुस्कुराएंगे, तभी देश मुस्कुराएगा

किसानों के सवाल पर चुनाव लड़ा जाता है. प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों को मिनिमम सपोर्ट प्राइस देने की बात की

Read more

वैचारिक बहस में शरीक हों, दुत्कारें नहीं

पहले हमारे देश में वैचारिक मंथन बहुत होता था, जिसे शास्त्रार्थ का नाम दिया गया. दो परस्पर विचाराधाराएं आमने-सामने आती

Read more

अब सर्वोच्च नहीं रहा सर्वोच्च न्यायालय

सुप्रीम कोर्ट ताक़तवर है या भारत सरकार, इसका पता बड़ी आसानी से लगाया जा सकता है. समय-समय पर ऐसे मौके

Read more

कश्मीर समस्या का समाधान प्रधानमंत्री के हाथों में है

पूरा एक वर्ष बीत गया और हमारे प्यारे प्रधानमंत्री कश्मीर के सवाल पर बिल्कुल खामोश रहे. उन्होंने न कोई मीटिंग

Read more