एक अफसर का खुलासाः ऐसे लूटा जाता है जनता का पैसा

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री एवं शरद पवार के भतीजे अजीत पवार ने अपने पद से इस्ती़फा दे दिया है. हालांकि उनके इस्ती़फे के बाद राज्य में सियासी भूचाल पैदा हो गया है. अजीत पवार पर आरोप है कि जल संसाधन मंत्री के रूप में उन्होंने लगभग 38 सिंचाई परियोजनाओं को अवैध तरीक़े से म़ंजूरी दी और उसके बजट को मनमाने ढंग से बढ़ाया. इस बीच सीएजी ने महाराष्ट्र में सिंचाई घोटाले की जांच शुरू कर दी है.

Read more

बिहारः दागी अफसरों की भरमार

बिहार में दाग़ी अधिकारियों की भरमार है. निज़ाम बदलने से इनकी सेहत पर कोई फर्क़ नहीं पड़ा. के सेंथिल कुमार इस बात के ताज़ातरीन उदाहरण हैं. भ्रष्टाचार के मामले से घिरे भारतीय प्रशासनिक सेवा के इस वरिष्ठ अधिकारी के ज़िम्मे हाल तक बिहार में जनगणना का पूरा कार्यक्रम था. के सेंथिल कुमार ने पटना का निगमायुक्त रहते हुए जो गुल खिलाए, उनसे प्राय: सभी वाक़ि़फ हैं.

Read more

सोने का नहीं, जागते रहने का व़क्त है

भारत की राजनीति में संभवत: सुप्रीम कोर्ट के दख़ल से कई आश्चर्यजनक चीज़ें हो रही हैं. पहले ए राजा का जेल जाना, बाद में सुरेश कलमाडी का और फिर कनिमोझी की जेलयात्रा संकेत देती है कि कई और लोग भी इस राह के संभावित राही हैं. पर यह क्यों सुप्रीम कोर्ट के दख़ल के बाद हो रहा है?

Read more

दिल्‍ली का बाबूः बाबुओं का पलायन

पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में राजनीतिक बदलाव होते ही, उम्मीद के मुताबिक़ राजधानी समेत राज्य के कई हिस्सों में प्रशासनिक फेरबदल की कवायद शुरू हो गई है. अफसरों के ट्रांसफर-पोस्टिंग का दौर शुरू हो गया है.

Read more

कृषि बाबुओं का विरोध

कृषि विभाग के अफसरों ने प्रधानमंत्री के सामने मांग रखी है कि अखिल भारतीय सेवाओं, जैसे ईइएस और ईपीएस की तर्ज़ पर भारतीय कृषि सेवा भी शुरू की जाए.

Read more

कृषि बाबुओं का विरोध

कृषि विभाग के अफसरों ने प्रधानमंत्री के सामने मांग रखी है कि अखिल भारतीय सेवाओं, जैसे ईइएस और ईपीएस की तर्ज़ पर भारतीय कृषि सेवा भी शुरू की जाए. पहले भी इस तरह की मांग उठती रही है.

Read more

दबंगों के दमन में पीडि़त महिला ने चौथी दुनिया को लिखा पत्रः भरोसे का हलफनामा

पति ने अपना मानसिक संतुलन क्या खोया, विजय रानी की मानों क़िस्मत ही रूठ गई. दबंगों की गिद्धदृष्टि उसकी संपत्ति पर आकर टिक गई. पहले उन्होंने उसके नाबालिग बेटे को बरगलाया, फिर पति बेचेलाल को बहला-फुसला कर अगवा कर लिया और उसकी आधी ज़मीन अपने नाम बैनामा करा ली.

Read more

बेरोज़गारों को ठगने में लगे हैं नेता और अफसर

छत्तीसगढ़ के राजनेता अधिकारी और शक्तिशाली कर्मचारी इन दिनों नौकरियों के नाम पर बेरोज़गारों से जबरन वसूली कर रहे हैं. आदिवासियों और बेरोजगारों को विभिन्न पदों पर नियुक्ति देने के नाम पर उनसे मोटी रकम वसूल की जा रही है. इसके बाद भी नियुक्ति पत्र गायब हैं.

Read more

नौकरशाहों की लोकतंत्र में आस्था नहीं

देश के आला अफसरों की लोकतांत्रिक व्यवस्था में कोई आस्था नहीं है. नौकरशाह मनमाने ढंग से प्रशासन चलाना चाहते हैं और चला भी रहे हैं. संवैधानिक बाध्यता के कारण विधानसभा एवं मंत्री परिषद आदि संस्थाओं की कार्यवाही में वे औपचारिकता ही पूरी करते हैं.

Read more

अफसरों ने सरकार को 2342 करोड़ रुपयों का चूना लगाया

जिन अफसरों और कर्मचारियों पर सरकारी करों और सेवाओं के शुल्क की वसूली का दायित्व है, वे किस लापरवाही और ग़ैर ज़िम्मेदारी से काम करते हैं, इसका खुलासा भारत के नियंत्रक- महालेखापरीक्षक की रिपोर्ट में किया गया है.

Read more

विशेषज्ञों की परामर्श सेवा पर पौने दो अरब रूपए खर्च

मध्य प्रदेश के जल संसाधन विभाग ने तकनीकी विशेषज्ञों की परामर्श सेवा लेने के लिए पौने दो अरब रूपए खर्च करके परामर्श सेवा कंपनियों को तो मालामाल कर दिया, लेकिन इस सेवा से राज्य को कितना लाभ मिला, इस बारे में विभाग कुछ भी बताने को तैयार नहीं है. आरोप है कि मध्य प्रदेश का जल संसाधन विभाग कुछ अफसरों की सनक पर चलता है. चूंकि राजनेता ज़्यादा समझदार और चुस्त नहीं हैं, इसलिए विभाग में अफसरों की ही मनमानी चलती है.

Read more