गोरखपुर हादसा: वे भी फूटे जिनमे हैं छेद ही छेद

प्रभात रंजन दीन : गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 60 से अधिक बच्चों की मौत पर समाजवादी पार्टी ने

Read more

स्कूटर बेचने वाली कम्पनी ऑक्सीजन सप्लाई करेगी तो बच्चे तो मरेंगे ही…

प्रभात रंजन दीन : वर्ष 2013 में तत्कालीन समाजवादी सरकार के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अहमद हसन के चहेते

Read more

हादसा नहीं हत्या है गोरखपुर में 60 से अधिक बच्चों की मौत

प्रभात रंजन दीन : नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 60 से अधिक

Read more

कॉमेडियन कपिल शर्मा अस्‍पताल में भर्ती, जानिए क्या रही वजह

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : कॉमेडी के किंग कहे जाने वाले कपिल शर्मा के फैंस के लिए बुरी खबर

Read more

आरएसएस संगठनों को ज़मीन आवंटन पर इतनी हड़बड़ी क्यों : स्कूलों के लिए ज़मीन नहीं, सरकार बांट रही रेवड़ी

हालिया दो घटनाक्रमों पर एक नजर डालते हैं. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 29 आरएसएस से जुड़े संगठनों को दिल्ली में जमीन

Read more

भूमि अधिग्रहण क़ानून में संशोधन: ग़रीबों की ज़मीन जबरन छीनने की साजिश

सरकार को यह नहीं भूलना चाहिए कि जनता ने जिस उम्मीद में उसे सत्ता सौंपी थी, अगर वह उम्मीद टूटती

Read more

शरीर और मन मिट्टी का बना है

सर्च अस्पताल में रोगियों की सेवा, एक सौ देहातों में ग्राम-आरोग्य सेवा व रिसर्च, व्यसनमुक्ति, युवक-युवती प्रशिक्षण और बाल मृत्यु

Read more

दवा कंपनियां, डॉक्‍टर और दुकानदार: आखिर इस मर्ज की दवा क्‍या है

दवा, डॉक्टर एवं दुकानदार के प्रति भोली-भाली जनता इतना विश्वास रखती है कि डॉक्टर साहब जितनी फीस मांगते हैं, दुकानदार जितने का बिल बनाता है, को वह बिना किसी लाग-लपेट के अपना घर गिरवी रखकर भी चुकाती है. क्या आप बता सकते हैं कि कोई घर ऐसा है, जहां कोई बीमार नहीं पड़ता, जहां दवाओं की ज़रूरत नहीं पड़ती? यानी दवा इस्तेमाल करने वालों की संख्या सबसे अधिक है. किसी न किसी रूप में लगभग सभी लोगों को दवा का इस्तेमाल करना पड़ता है, कभी बदन दर्द के नाम पर तो कभी सिर दर्द के नाम पर.

Read more

फर्रु़खाबाद को अब धोखा बर्दाश्त नहीं

अरविंद केजरीवाल फर्रु़खाबाद गए भी और दिल्ली लौट भी आए. सलमान खुर्शीद को सद्बुद्धि आ गई और उन्होंने अपनी उस धमकी को क्रियान्वित नहीं किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि केजरीवाल फर्रु़खाबाद पहुंच तो जाएंगे, लेकिन वापस कैसे लौटेंगे. इसका मतलब या तो अरविंद केजरीवाल के ऊपर पत्थर चलते या फिर गोलियां चलतीं, दोनों ही काम नहीं हुए.

Read more

लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ मत कीजिए

सरकार का संकट उसकी अपनी कार्यप्रणाली का नतीजा है. सरकार काम कर रही है, लेकिन पार्टी काम नहीं कर रही है और हक़ीक़त यह है कि कांग्रेस पार्टी की कोई सोच भी नहीं है, वह सरकार का एजेंडा मानने के लिए मजबूर है. सरकार को लगता है कि उसे वे सारे काम अब आनन-फानन में कर लेने चाहिए, जिनका वायदा वह अमेरिकन फाइनेंसियल इंस्टीट्यूशंस या अमेरिकी नीति निर्धारकों से कर चुकी है.

Read more

सेहत से खिलवाड़

भारत दवाओं का एक ब़डा बाज़ार है. यहां बिकने वाली तक़रीबन 60 हज़ार ब्रांडेड दवाओं में महज़ कुछ ही जीवनरक्षक हैं. बाक़ी दवाओं में ग़ैर ज़रूरी और प्रतिबंधित भी शामिल होती हैं. ये दवाएं विकल्प के तौर पर या फिर प्रभावी दवाओं के साथ मरीज़ों को ग़ैर जरूरी रूप से दी जाती हैं. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के लिए गठित संसद की स्थायी समिति की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, दवाओं के साइड इफेक्ट की वजह से जिन दवाओं पर अमेरिका, ब्रिटेन सहित कई यूरोपीय देशों में प्रतिबंधित लगा हुआ है, उन्हें भारत में खुलेआम बेचा जा रहा है.

Read more

कब्रों का कारोबार

हिंदुस्तान पर हुकूमत करने वाले अनेकानेक राजा-महाराजाओं और नवाबों को लोग आज सैकड़ों वर्षों बाद भी भूल नहीं पाए हैं. यह राजा-रजवाड़े भले ही आलीशान महलों में रहते थे लेकिन इनका दिल जनता में बसता था.

Read more

अभिव्यक्ति की आज़ादी क़ायम रहे

अगर आप अपने गांव और शहर से सैकड़ों मील दूर हैं, तो इसकी संभावना न के बराबर है कि अख़बारों और न्यूज चैनलों पर आप अपने गृह जनपद की छोटी-बड़ी ख़बरें देख पाएं. भारत में इंटरनेट क्रांति आने के बाद यह सपना साकार होने लगा. लिहाज़ा सात समंदर पार रहने वाले लोग भी इंटरनेट पर वेबसाइटों और ब्लॉगों पर हर वह चीज़ पढ़ पाते हैं, जिसकी कल्पना कुछ साल पहले नहीं की जा सकती थी.

Read more

मैच्योर शिशु

फिरोज़ाबाद (उत्तर प्रदेश) की रिंकी नामक महिला ने एक ऐसे बच्चे को जन्म दिया, जिसके 32 दांत थे. नवजात शिशु में जन्म के व़क्त 32 दांत होने का यह पहला मामला है. इस बच्चे को देखने के लिए अस्पताल में भीड़ लग गई. चिकित्सक यह अनहोनी घटना देखकर हैरान हैं.

Read more

चिकित्सा अब समाजसेवा नहीं

कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश के बिजनौर ज़िले के भोगनवाला गांव निवासी शमशाद (25) को उसके परिवारीजन इलाज के लिए ज़िला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसके फेफड़ों में पानी होने की बात कहते हुए भर्ती करने से इंकार कर दिया. मरीज के परिवारीजन डॉक्टरों से घंटों मिन्नतें करते रहे, मगर अस्पताल प्रशासन अपने रवैये पर अड़ा रहा.

Read more

बिहारः कोसी के दर्द से अनजान नीतीश

मुख्यमंत्री की सेवा यात्रा के चतुर्थ चरण का आगाज़ कोसी की माटी जलई के तेलवा गांव से हुआ. गांव के लोग कुछ करिश्मे का इंतज़ार कर रहे थे. चुनाव को छोड़कर आम समय कोई मुख्यमंत्री अमूमन गांव नहीं जाता है.

Read more

जब सरकारी अस्पताल में दवा न मिले

गरीबों के लिए महंगा इलाज करा पाना या महंगी दवाइयां ख़रीद पाना आसान नहीं होता. इसके लिए सरकार ने सरकारी अस्पताल और सरकारी डिस्पेंसरी (दवाखाना) की व्यवस्था की है, लेकिन देश के कुछ राज्यों में सरकारी अस्पताल का नाम लेते ही एक बदहाल सी इमारत की तस्वीर जेहन में आ आती है.

Read more

बिहारः सरकार के चहेते सिविल सर्जन

भ्रष्टाचार और विवाद से पूर्णिया सदर अस्पताल का रिश्ता गहराता जा रहा है. यह सिलसिला इसलिए जारी है, क्योंकि सिविल सर्जन राम चरित्र मंडल ख़ुद कई तरह के आरोपों के घेरे में हैं. राज्य सरकार द्वारा नियम-क़ानूनों को ताख पर रखकर मंडल पर की जा रही मेहरबानी शक पैदा करती है.

Read more

दिल्ली बम विस्फोट: ग़लती किसी की सज़ा किसी को

मरने वाला अकेला नहीं मरता. उसके साथ मरती हैं कई और ज़िंदगियां. ताउम्र, तिल-तिलकर. दिल्ली बम धमाके में जिन 13 लोगों की मौत हुई, उनके परिवार वालों की आंखों से निकलते आंसू देखकर किसी का भी कलेजा मुंह को आ जाए. पीएम से लेकर भविष्य में होने वाले पीएम तक अस्पताल पहुंचे

Read more

कमाल का डॉक्टर

आयरलैंड में 2007 में कॉर्क यूनिवर्सिटी के मैटरनिटी अस्पताल में पहली बार गायनेकोलॉजिकल सर्जरी में रोबोट का इस्तेमाल किया गया था. उसके नतीजों को देखकर अस्पताल ने ऑपरेशन में रोबोट का इस्तेमाल बढ़ा दिया है.

Read more

नागपुरः मरीज का शोषण अस्‍पताल का पोषण

देश के विकसित राज्यों में एक महाराष्ट्र में उन तमाम बड़े अस्पतालों की हालत ख़राब है, जो दावा करते हैं कि उनके यहां ग़रीबों के लिए इलाज की मुकम्मल व्यवस्था है, जबकि इसके उलट इन बड़े कारपोरेट अस्पतालों में ग़रीबों के लिए कोई जगह नहीं है. कमाल की बात तो यह है कि अस्पतालों को ज़मीन सरकार ने ही दी है.

Read more

महिलाएं दुर्व्यवहार सहती रही हैं

जिस दिन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के सौ साल पूरे हो रहे थे, उसी दिन दिल्ली में एक युवती की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई. कुछ समय पहले ख़बर आई कि जोधपुर के एक अस्पताल में सोलह महिलाओं की मौत हो गई.

Read more

योजना और स्‍वास्‍थ्‍य दोनों से खिलवाड़

उत्तर प्रदेश में पांच वर्ष पूर्व लागू राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन योजना में कार्ड बनवाने से लेकर इलाज कराने तक की राह में रोड़े ही रोड़े नज़र आ रहे हैं. ग्राम्य विकास विभाग द्वारा संचालित इस योजना को लेकर किए जा रहे बड़े-बड़े दावे धराशाई होते नज़र आ रहे हैं, क्योंकि इस योजना का उद्देश्य था अनौपाचारिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाली प्रणाली को सुनिश्चित करना लेकिन इतने वर्षों के बाद भी यह योजना जनमानस को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में नाक़ाम रही है.

Read more

मगध मेडिकल कॉलेजः यहां इलाज नहीं बाकी सब होता है

सपना था, मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल को एशिया स्तर के अस्पतालों की सूची में सबसे अव्वल रखना, लेकिन सरकारीकरण होने के साथ ही मेडिकल कॉलेज की बुनियाद रखने वाले सदस्यों का सपना एक-एक कर टूटता चला गया. सेवा, सहिष्णुता और प्रेम का पाठ सिखलाने की बजाए यहां हिंसा का पाठ प़ढाया जाने लगा.

Read more

क्‍या यही ग्राम स्‍वराज है?

मैं घूमने के लिए कई बार यहां-वहां जाती रहती हूं. कभी बड़े शहरों में तो कभी छोटे शहरों में और कई बार उत्तराखंड के पिछड़े ग्रामीण क्षेत्रों में भी. वैसे तो गांवों में भी अब बदलाव आने लगे हैं, पर कहने में संकोच नहीं होता कि ज़्यादातर बदलावों का परिणाम उल्टा ही हुआ है.

Read more

तिरुपति होम्स कैंसर अस्पताल बनाएगा

तिरुपति होम्स ने अपनी सामाजिक ज़िम्मेदारियों को पूरा करते हुए दरभंगा में एक कैंसर अस्पताल भवन के निर्माण की घोषणा की है. तिरुपति होम्स लिमिटेड के सीएमडी शशिभूषण सिन्हा ने बताया कि छह करोड़ की लागत से बनने वाले अस्पताल भवन का पूरा खर्चा कंपनी उठाएगी.

Read more

सदर अस्पताल का बुरा हाल

देवघर सदर अस्पताल झारखंड का एकमात्र आईएसओ प्रमाणित अस्पताल है. सदर अस्पताल में मरीज़ों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के नाम पर प्रति महीने लाखों का खर्च स्वास्थ्य विभाग की ओर से किया जाता है, लेकिन स्थिति बद से बदतर ही होती जा रही है.

Read more