मारा गया फारूक अब्दुल्ला के घर पर हमला करने वाला शख्स, ऐसे हुआ था अन्दर दाखिल

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला की सुरक्षा में सेंध का बड़ा मामला सामने आया है. फारूक के जम्मू

Read more

अफस्पा: कश्मीर को लेकर ये चुप्पी क्यों?

केंद्र सरकार द्वारा मेघालय से सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफस्पा) को हटाने और अरुणाचल प्रदेश में आठ पुलिस स्टेशनों तक

Read more

जम्मू-कश्मीर में मेडिकल प्रवेश परीक्षा में घोटाला

राजनीतिक शक्तियां भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को बचाने का काम करती हैं. अगर ऐसा नहीं होता तो अब तक यहां

Read more

कश्मीर और कश्मीरियों से दिल का रिश्ता जोड़िए

कश्मीर हमारे लिए कभी प्राथमिकता नहीं रहा. कश्मीर की क्या तकली़फ है, वह तकली़फ क्यों है, उस तकली़फ के पीछे की सच्चाई क्या है, हमने कभी जानने की कोशिश नहीं की. हमने हमेशा कश्मीर को सरकारी चश्मे से देखा है, चाहे वह चश्मा किसी भी सरकार का रहा हो. हम में से बहुत कम लोग श्रीनगर गए हैं. श्रीनगर में पर्यटक के नाते जाना एक बात है और कश्मीर को समझने के लिए जाना दूसरी बात है.

Read more

कश्मीर की जनता न्याय चाहती है

कश्मीर में इस समय स्थिति संतुलित है. पर्यटकों ने बड़ी संख्या में आना शुरू कर दिया है, जो अच्छी बात है. इससे यह महसूस हो रहा है कि पूरा भारत हमारे लिए अच्छा सोच रहा है. अभी पिछले माह गिलानी जी से बात हुई तो उन्होंने कहा कि इस बार ऐसा कुछ नहीं होगा. बशर्ते कुछ ऐसा न हो कि लोग सड़कों पर आने के लिए मजबूर हो जाएं. कश्मीर में दहशतगर्दी के संबंध में यह कहना ग़लत नहीं होगा कि जहां कोई कमज़ोरी होती है, वहां हर आदमी फ़ायदा उठाता है.

Read more

कश्‍मीर में जनता जीती राजनीति हारी

कश्मीर में अमन लौट रहा है. लेकिन इस बदलती फिज़ा के लिए सियासी लोगों को नहीं बल्कि कश्मीरी अवाम को शुक्रिया कहना चाहिए. यह कश्मीर के लोगों का ही जज़्बा था कि अपने बच्चों का मुस्तक़बिल बिगड़ता देख अमन की वापसी के लिए सड़कों पर आ गए. नतीजतन, सियासतदानों को अपना रु़ख बदलना पड़ा. बंद का समर्थन करने वाले संगठन और नेताओं को पीछे हटना पड़ा.

Read more

सेना दुश्मन नहीं है

खुद को बचाने की कोशिश में अक्सर लोग अनजाने में अपने पैरों पर ख़ुद ही कुल्हाड़ी मार लेते हैं. उमर अब्दुल्ला अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं. आज कश्मीर जिस आग में जल रहा है, उसके लिए वह ख़ुद को दोषी नहीं क़रार दे सकते. ऐसा करना उनके राजनीतिक करियर, जिसकी शुरुआत वंशवाद की नींव पर हुई और जिसके दम पर वह सिलेब्रिटी के दर्जे में शामिल हो गए, को पूरी तरह ख़त्म नहीं तो बुरी तरह प्रभावित ज़रूर कर सकता है.

Read more

कश्‍मीरियों के सिर पर गोली मत मारो

पिछले चुनाव के बाद जब उमर अब्दुल्ला ने कश्मीर की सत्ता संभाली थी, तो लोगों ने उनसे बड़ी-बड़ी उम्मीदें लगाई थीं. आम धारणा यही थी कि उमर नई पीढ़ी के हैं, जवान हैं, केंद्र सरकार में मंत्री रहने का अनुभव उनके पास है, इसलिए उनके काम करने का तरीका कुछ अलग होगा.

Read more

उमर अब्दुल्ला कश्मीर को खो रहे हैं

एक वैचारिक युद्ध जीतने में कितना व़क्तलगता है? उच्च वर्ग के शासकों की सेनाओं के बीच एक पारंपरिक मुक़ाबला हमेशा से होता आया है. और यह तब तक चलता रह सकता है, जब तक सैनिकों के मन में यह विचार ज़िंदा रहे कि यह लड़ाई वे अपने आका के हित में लड़ रहे हैं.

Read more

सीआईए और मोसाद की हिंदुस्तान पर बुरी नजर

यह भारत को तोड़ने की बेहद ख़ौफनाक साज़िश है. जिसे रच रही हैं विश्व की दो सबसे खतरनाक खु़फिया एजेंसियां. मक़सद है हिंदुस्तान में गृहयुद्ध का कोहराम मचाना. यहां की ज़म्हूरियत को नेस्तनाबूद करना. संस्कृति और परंपराओं को दूषित-संक्रमित करना, ताकि इस देश का वजूद ही खत्म हो जाए. इसके लिए निशाने पर हैं देश की अज़ीम ओ तरीम 35 हस्तियां.

Read more