NGT का फैसला, दिल्ली-NCR की सड़कों पर नहीं दौड़ेंगी पुरानी गाड़ियां

नई दिल्ली : दिल्ली-NCR के लोगों के लिए बड़ी खबर आ रही रही है कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने दिल्ली-NCR

Read more

अगर बैंको ने नही किया ये काम तो देना पड़ेगा भरी जुर्माना

नई दिल्ली : केंद्र सरकार की आधार को सभी जरूरी सेवाओं से जोड़ने की योजना पर काफी समय से प्रयास

Read more

अमरनाथ यात्रियों पर हमला सुरक्षा एजेंसियों की लापरवाही

बीते 10 जुलाई की रात कश्मीर में आतंकवादियों ने 61 यात्रियों से भरी बस पर अपनी बंदूकों के दहाने खोल

Read more

केंद्र सरकार का तोहफा: शहर हो या गांव सभी जगह दौड़ेगी ‘बाइक टैक्सी’

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने लोगों के यातायात और उनके सुख-सुविधा, बजट को ध्यान में रख करके देशभर में

Read more

बेंगलुरु में शुरू हो गई है डीजल-पेट्रोल की होम डिलिवरी

नई दिल्ली : अगर आपके पास कार या बाइक हैं और उसमे फ्यूल नहीं हैं तो अब आपको टेंशन लेने

Read more

DMRC बोर्ड की मीटिंग में होगा दिल्ली मेट्रो के किराया बढ़ाने का फैसला

नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : एक बार से दिल्ली मेट्रो के किराये को बढ़ने का फैसला होने वाला है.

Read more

राजनीतिक दलों को गुप्त तरीके से 2 हजार से ज्यादा चंदों पर लगे रोकः चुनाव आयोग

नई दिल्ली, (चौथी दुनिया ब्यूरो): चुनाव में कालाधन का इस्तेमाल रोकने के लिए चुनाव आयोग सख्त रुख अपना रहा है. आयोग

Read more

भ्रष्टाचार की जांच ठेंगे पर आरोपी ने धमकाया तो क्लीन चिट दे दी

शीर्ष अफसर के आदेश की भी यूपी में ऐसी-तैसी, भ्रष्टाचार की जांच ठेंगे पर आरोपी ने धमकाया तो क्लीन चिट दे

Read more

संविधान का क्रियान्वयन सटीक होना चाहिए

उत्तराखंड में विश्वास मत हासिल करने से पहले राष्ट्रपति शासन लगाने के मामले की सुनवाई उत्त्तराखंड हाईकोर्ट से होती हुई

Read more

श्रम क़ानूनों में संशोधन मज़दूरों के ख़िलाफ़ है

श्रम क़ानूनों में किए जा रहे संशोधन से केंद्रीय ट्रेड यूनियनें मोदी सरकार से ख़ासी नाराज़ हैं. श्रमिक संगठनों का

Read more

इराक़ की आग भारत पहुंची

मौलाना सलमान नदवी के कारनामों से देश की खुफिया एजेंसी में खलबली मच गई. मौलाना नदवी ने इराक में नरसंहार

Read more

दिल्ली का बाबू : नौकरशाही में समय निष्ठा

पंजाब में प्रकाश सिंह बादल सरकार केंद्र में बदल रहे वर्क कल्चर को अपनाने में काफी त़ेजी दिखा रही है.

Read more

बिजली के लिए जिम्मेदार कौन

गर्मियों का मौसम आते ही देश में बिजली आपूर्ति में कमी कोई असामान्य बात नहीं है. पिछले दिनों जैसे-जैसे मौसम

Read more

दिल्ली का बाबू : घर की उम्मीद

मुंबई में आवास एक स्थायी समस्या है, यहां तक कि सरकारी अधिकारियों के लिए भी. राज्य सरकार के संशोधित नियमों

Read more

नाकारा नीतियां और नाकाफ़ी कोशिशें

बीते वर्ष केंद्र सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं पर आधारित सबका हित, सबका हक़ के नारे वाला कैलेंडर जारी कर दिया

Read more

अगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हो बीमार

द्वितीय अपील कैसे करें जब लोक सूचना अधिकारी आपके आरटीआई आवेदन पर कार्रवाई नहीं करता या आपको पूरी सूचना नहीं

Read more

जल,जंगल और ज़मीन – आखिर सरकार किसके लिए कानून बनाती है?

जल, जंगल और ज़मीन ऐसे प्राकृतिक संसाधन हैं, जो इस देश के करोड़ों लोगों के जीवन का मूलभूत आधार हैं.

Read more

…ताकि इटली पर दबाव बन सके

इटली के दो नौसैनिकों का हाल का विवाद चर्चा में है. इन दोनों को भारतीय अदालत से इस शर्त पर

Read more

देर से मिले न्याय का कोई अर्थ नहीं

जस्टिस डिलेड, जस्टिस डिनाइड, यानी देर से मिले न्याय का कोई अर्थ नहीं रह जाता. प्रस्तावित सिटीजन चार्टर बिल के

Read more

एफडीआई की मंज़ूरी जनता के साथ धोखा है

देश के ख़ुदरा बाज़ार में एफडीआई की मंजूरी किसानों, मज़दूरों एवं छोटे व्यापारियों के लिए फ़ायदेमंद नहीं है, फिर भी

Read more

क्या इस समर्पण से शांति आएगी

यूं तो पूर्वोत्तर में कार्यरत अधिकतर अलगाववादी संगठन धीरे-धीरे शांति के रास्ते पर आने के लिए तैयार हो रहे हैं

Read more

यह सरकार मज़दूर विरोधी है

बीती 20-21 फरवरी को ट्रेड यूनियनों की दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल न स़िर्फ पूरी तरह कामयाब रही, बल्कि इस हड़ताल

Read more

केंद्र सरकार हर मोर्चे पर विफल-अनंत भारती

पूर्णियां के भाजपा ज़िला मंत्री व युवा भापजा नेता अनंत भारती ने दावा किया है कि आगामी 13 जून को पटना के गांधी मैदान में होने वाली भाजपा की रैली में पूर्णियां एवं कोसी प्रमंडल के युवा भाजपा कार्यकर्ता काफी संख्या में जुटेंगे.

Read more

सार-संक्षेप

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य के भोले-भाले मेहनतकश किसानों की सहानुभूति बटोर कर अपनी राजनीति चमकाना तो जानते हैं, लेकिन वे किसानों के हित में काम कैसे करते हैं, इसकी नज़ीर यह है कि किसानों की क़र्ज़ मा़फी की घोषणा हुए एक वर्ष हो गया, लेकिन आज भी नौ लाख किसान अपनी क़र्ज़ मा़फी का इंतजार कर रहे हैं

Read more

आपसी खींचतान से बंद हुई आदिवासी विकास परियोजना

छत्तीसगढ़ में आदिवासी संरक्षण का दावा करने वाली रमन सरकार इसी वर्ग के हितों पर कुठाराघाट करने पर आमादा है. आदिवासियों के विकास के लिए अब तक चलाए जा रहे एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम, आदिवासी विकास की परियोजना को राज्य प्रशासन ने एकाएक बंद करके इसकी दोनों ज़िला इकाइयां भंग कर दी हैं. इसके कारण पिछले सात वर्षों से आदिवासी विकास के लिए ज़िम्मेदार परियोजना के विशेषज्ञ कर्मचारी और अधिकारी बड़ी संख्या में एक साथ बेरोज़गार हो गए हैं.

Read more

दिल्‍ली का बाबू : परंपरा की अनदेखी

हाल में जब कई राज्यों में नए राज्यपालों की नियुक्ति की घोषणा हुई तो एम के नारायणन के कोलकाता पहुंचने को सबसे ज़्यादा सु़र्खियां मिलीं. लेकिन, जानकार लोगों की मानें तो विवादास्पद श्रेणी में आने वाली यह अकेली नियुक्ति नहीं है. पूर्व रक्षा सचिव एवं राष्ट्रीय सुरक्षा उप सलाहकार रहे शेखर दत्ता को छत्तीसगढ़ का राज्यपाल बनाया जाना अभी भी कई लोगों को चौंका रहा है.

Read more

कहां गया 17 हजार क्विंटल अनाज?

आदिवासी बहुल ज़िला उमरिया में अनाज घोटाले का एक बड़ा मामला प्रकाश में आया है. यहां विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के निमित्त आया लगभग 17 हज़ार क्विंटल अनाज वितरण के बजाय ग़ायब कर दिया गया. इस अनाज की क़ीमत एक करोड़ रुपये बताई जाती है.

Read more

जानने का अधिकार, जीने का अधिकार

चौथी दुनिया ने अपने पाठकों एवं आम लोगों के लिए एक नई पहल की है. इस कॉलम के जरिए हम आपको बताएंगे कि आखिर क्या है सूचना का अधिकार कानून. कैसे आप इस कानून का इस्तेमाल कर बदल सकते हैं अपनी जिंदगी और सिखा सकते हैं भ्रष्ट अधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों को सबक.

Read more

चटकलिया मज़दूरों पर लटका जूट का फंदा

कोलकाता के पास टीटागढ़ के जूट मिल मज़दूर शाम को चौपाल में जब लोक गायिका प्रतिभा सिंह का यह गीत गाते हैं तो माहौल गमगीन हो जाता है. ढोलक की थाप और झाल की झनकार में सिसकते आंसुओं की आवाज़ भले ही दब जाती हो, पर जैसे-जैसे समय बीत रहा है, वैसे-वैसे जूट मज़दूरों की बस्तियों में दरिद्रता का अंधेरा गहराता जा रहा है. सूदखोरों की चांदी है.

Read more

सच की जुबान पर सरकार का पहरा

केंद्र सरकार की इस बेताला धुन पर कई राज्य सरकारें जुगलबंदी कर रही हैं कि माओवादी अमन और तऱक्क़ी के जानी दुश्मन हैं, देश और समाज के लिए सबसे बड़ा ख़तरा हैं. यह न्याय और अधिकार की आवाज़ को कुचल देने का आसान हथियार है. विकास के नाम पर ग़रीब-वंचित आदिवासियों का सब कुछ हड़प लेने की सरकारी मंशा के ख़िला़फ जो खड़ा हो, माओवादी का ठप्पा लगाकर उस पर लाठी-गोली बरसा दो या फिर उसे जेल पहुंचा दो.

Read more