कोसी की अग्निशमन व्यवस्था भगवान भरोसे है

बिहार के लगभग सबसे अधिक पिछड़े इलाकों में शुमार कोसी अर्थात सहरसा, मधेपुरा, सुपौल, खगड़िया गर्मी का मौसम आते ही

Read more

खैरा में फ्लोराइड का क़हर : जीवन की बजाय अभिशाप बना जल

बिहार के मुंगेर ज़िले के नक्सल प्रभावित हवेली खड़गपुर प्रखंड का खैरा गांव फ्लोराइड युक्त जल के इस्तेमाल से हो

Read more

बिहार : नरसंहार की आशंका से सहमी जिंदगी

खगड़िया-मुंगेर सीमा स्थित बरियारपुर बहियार में अपराधी मुरारी सिंह ने दर्जनों नक्सलियों को मौत के घाट उतार कर उनके अत्याधुनिक हथियार लूट लिए. उसने पहले नक्सलियों को आमंत्रित किया और फिर भोजन में ज़हर मिला दिया. इसके बाद मुरारी सिंह एवं उसके साथियों ने अचेत नक्सलियों को काट डाला और उनके शव के टुकड़े नदी में फेंक दिए.

Read more

नीतीश जादूगर हैं

खगड़िया ज़िले के चारों विधानसभा क्षेत्रों के मतदाता विधायकों की कारगुज़ारियों से खासे नाराज़ थे. मतदान के कुछ दिन पहले तक मतदाताओं ने ऐसे विधायकों को हराने की लगभग ठान ली थी. लेकिन मतदान के अंतिम समय में बिहार के करिश्माई मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से खुश मतदाताओं ने ऐसा पैंतरा बदला कि तीनों विधानसभा क्षेत्र एक बार एनडीए के खाते में चले गए.

Read more

पारस की बंध गई पोटली

खगड़िया ज़िले के बेहद पिछड़े विधानसभा क्षेत्र अलौली में अंतत: 33 वर्षों के बाद लोजपा प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस की पोटली बंध ही गई. लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान के अनुज पारस ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि जनता उन्हें सिर आंखों पर बिठाने के बजाए ज़मीन पर पटक देगी. दरअसल हार से बचने के लिए उन्होंने अपने चहेते रामचंद्रा सदा को जदयू का टिकट यह सोचकर दिलवाया था कि उन्हें मुसहर समाज के तीन-तीन प्रत्याशियों के खड़े रहने से जीतने में मदद मिलेगी. हुआ उल्टा. महादलित समाज के लोगों ने एकजुट होकर उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया.

Read more

खगडि़याः जनता जवाब मांगने के लिए तैयार

बाढ़, कटाव, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य और सिंचाई जैसी समस्याओं से आजिज़ खगड़िया की जनता इस बार प्रत्याशियों की चिकनी चुपड़ी बातों में फंसने से परहेज कर रही है. निवर्तमान विधायकों से पाई-पाई का हिसाब मांगने को जनता बेताब है. अन्य पार्टी प्रत्याशियों से उनकी बातों पर विश्वास करने का ठोस प्रमाण मांग रही है.

Read more

खगड़िया में बोल्‍डर घोटाला!

बाढ़ और कटाव नियंत्रण के लिए खरीदे गए बोल्डर में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की आशंका है. चालीस से पचास किलो के बोल्डर खरीदने के बजाय महज़ पांच से पंद्रह किलो के बोल्डर खरीदे गए हैं. इतना ही नहीं, मामले को रफा-दफा करने के लिए बोल्डरों को नवगछिया भेजने की कवायद शुरू कर दी गई है.

Read more

विकलांग रोहित विदेशियों को सैर करा आया

लोग विकलांगता को अभिशाप बताते हैं, लेकिन अगर आप में विकलांगता से लड़ने का जोश, ज़ज़्बा और जुनून है तो फिर यह अभिशाप नहीं रह जाता है. उसके बाद तो सारा आकाश आपकी पहुंच के अंदर होता है. कुछ इसी तरह का जोश और ज़ज़्बा दिखाया है रोहित ने. उनकी खराब आर्थिक दशा भी उनके उत्साह को नहीं डिगा पा रही.

Read more