BJP विधायक का विवादित बयान-जवाहर लाल नेहरू गाय और सुअर खाते थे, फिर वे पंडित कैसे?

अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर भारतीय जनता पार्टी के विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है.

Read more

गांधी-नेहरू को ‘कचरा’ कह बुरे फंसे बीजेपी सांसद

रविवार को असम के बीजेपी सांसद कामाख्या प्रसाद तासा अपने बातों की वजह से विवादों में फंस गए हैं. प्रसाद

Read more

अवसरवादी राजनीति का युग

अंतिम रूप से यह मान लेना चाहिए कि विचारधारा का दौर देश की राजनीति से ख़त्म हो चुका है और

Read more

ख़तरे में पाकिस्तान का लोकतंत्र

तालिबान के साथ कई साल तक अनिश्‍चितता के संबंधों में रहने के बाद पाकिस्तान ने आख़िरकार यह फैसला किया है

Read more

कौन है हज़ारों लोगों की मौत का जिम्मेदार

सामरिक तौर पर भारत एक वैश्‍विक ताक़त है, लेकिन आंतरिक और बाह्य, दोनों ही मुद्दों पर जब हम इस सच्चाई

Read more

मंगल अभियान और आधुनिक भारत

कांग्रेस एक हथियार था जिसका इस्तेमाल महात्मा गांधी ने जनता के संघर्ष के लिए किया. लेकिन इसका इस्तेमाल उन्होंने अपने

Read more

बिहार की राजनीति में वंशवाद का ज़हर

लालू  यादव और रामविलास पासवान बिहार की राजनीति में वंशवाद का जहर मिलाने पर अ़डे हैं. पासवान के बेटे चिराग

Read more

कश्मीरी झेल रहे हैं विभाजन का दंश

जवाहर लाल नेहरू से लेकर मनमोहन सिंह तक भारत के सभी प्रधानमंत्री आपसी विवादों को हल कर पाकिस्तान से अच्छे

Read more

हमारी आज़ादी समाप्त हो गई है

सरकार ग़रीबों के वोटों से चुनी जाती है, लेकिन वह केवल धनी लोगों की सेवा करती है. इस तरह का

Read more

आख़िर भारत में दंगे क्यों?

जिन्ना द्वारा पाकिस्तान की मांग की गई थी, लेकिन एक अलग राष्ट्र-राज्य के तौर पर नहीं, बल्कि एक स्वतंत्र भारत

Read more

भारत-सऊदी अरब : निताका ने बढाई चिंता 50 हज़ार कामगार होंगे बेरोजगार

सऊदी अरब सरकार ने निताक़ा नामक क़ानून बनाकर वहां कार्यरत विदेशी कामगारों की चिंता बढ़ा दी है. लगभग 50 हज़ार

Read more

पृथक तेलंगाना सरकारों ने जनता को सिर्फ छला

अलग तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर जनता को कभी भाजपा, तो कभी कांग्रेस ने छला. न जाने कितने लोगों

Read more

जनता ही भ्रष्ट व्यवस्था को सुधारेगी

जवाहर लाल नेहरू लोकतंत्र में विश्वास रखते थे और उनके पास एक लोकतांत्रिक देश में अनशन करने के लिए व़क्त नहीं था. उनका मानना था कि एक प्रसिद्ध व्यक्ति द्वारा अनशन करना ठीक नहीं है. 1953 में कांग्रेस कमेटी द्वारा आंध्र प्रदेश राज्य की मांग की अनुशंसा को जब सरकार ने ख़ारिज कर दिया था, तब पोट्टी श्रीरामुलु ने अनशन किया था.

Read more