कौवे के इशारे

आपने कौवे को कांव-कांव करते ज़रूर सुना होगा, लेकिन क्या कभी उसके इशारे देखे हैं? नहीं देखे, तो हम बताते हैं कि कौवे की प्रजाति के पक्षी रावेन बात करने के लिए मनुष्यों की तरह इशारे करते हैं, ऐसा वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया है.

Read more

ज़्यादा चालाक कौन

आम तौर पर मनुष्य को सभी जीवों से ज़्यादा समझदार माना जाता है, लेकिन हाल में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक़, केकड़े हमसे कहीं ज़्यादा चालाक होते हैं. वे अपनी ओर आने वाले किसी भी प्राणी के बारे में भांप लेते हैं कि वह दोस्त है या दुश्मन.

Read more

हाथियों का हत्‍यारा कौन

नेपाल सीमा से लगे उत्तर प्रदेश के जनपद खीरी के दुधवा नेशनल पार्क में पिछले दिनों बिजली के हाईटेंशन तारों के कारण एक साथ तीन हाथियों की दर्दनाक मौत हो गई. इस घटना में सबसे हृदय विदारक मौत उस गर्भवती हथिनी की हुई, जिसकी कोख से अपरिपक्व बच्चा बिजली के तेज़ झटके लगने के कारण मां के पेट से बाहर आ गया.

Read more

वजूद पर खतरा

ज्यादातर वन्यजीव-जंतु प्रजातियां तो विलुप्ति की कगार पर हैं ही, अब मेंढक और सांप भी खतरे में हैं. वैज्ञानिकों ने एक ताज़ा शोध में पाया है कि दुनिया में पाए जाने वाले जीवों में से एक तिहाई लुप्त होने की कगार पर हैं और यह ख़तरा हर दिन बढ़ता जा रहा है. पशु-पक्षियों के संरक्षण के लिए काम करने वाली संस्था आईयूसीएन ने 47,677 जीवों की एक रेड लिस्ट जारी की है, जिनमें से 17,291 जीवों की प्रजातियां गंभीर ख़तरे में हैं.

Read more

तक़दीर वाला भालू

फिलहाल यह भालू चार महीने का है, लेकिन इस प्रजाति के भालू वयस्क होने पर 350 किलोग्राम के हो जाते हैं. ये दुनिया के कुछ सबसे बड़े मांसाहारियों में शामिल हैं. एक अनाथ नर भालू पूर्वी यूरोप के देश स्लोवेनिया में लोगों को अपने कारनामों से हैरान कर रहा है. अब सरकार उसे वन्य जीव केंद्र में ले जाने का प्रयास कर रही है.

Read more

शनि के उपग्रह पर जीवन की संभावना

शनि हमारे सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है. उसके अनेक उपग्रहों में छठा सबसे बड़ा उपग्रह एन्केलादोस है, जिसे अंग्रेजी में एन्सेलेडस पढ़ा जाता है. संभावना व्यक्त की गई है कि शनि के इस उपग्रह पर बैक्टीरिया जैसे सूक्ष्म जीवों का अस्तित्व है. ऐसा वैज्ञानिकों का कहना है.

Read more

कभी नहीं से देर भली

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि वन और पर्यावरण मंत्रालय के अंतर्गत वन एवं वन्य जीवों और पर्यावरण मामलों के लिए अलग-अलग विभाग होंगे. मौजूदा व्यवस्था में पर्यावरण मंत्रालय के अधीन वन्यजीवों के लिए एक अलग शाखा है, जिसके मुखिया पर्यावरण सचिव विजय शर्मा हैं.

Read more

बीटी बैगन पर रोक के वैज्ञानिक और लोकतांत्रिक पहलू

बीटी बैगन के इस्तेमाल पर पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश ने फिलहाल रोक की घोषणा की तो मीडिया में उसके ख़िला़फ आलोचनाओं का अंबार लग गया. कई लोगों ने तर्क दिए कि ऐसे फैसले वैज्ञानिकों के लिए छोड़ दिए जाने चाहिए. लेकिन यह मामला विज्ञान और विज्ञान विरोध का नहीं है.

Read more

जीवाश्‍मों की अवैध तस्‍करी

मध्य प्रदेश के धार ज़िले में यत्र-तत्र उपलब्ध साढ़े छह करोड़ वर्ष पुराने जुरासिक काल के जीवाश्मों की बड़े पैमाने पर तस्करी हो रही है. धार ज़िले में डायनासोर जीव के अंडे और कंकाल कई बार मिल चुके हैं. इस वजह से देश-विदेश के पुराजीव वैज्ञानिकों और जीवाश्म शोधकर्ताओं की इस क्षेत्र में रुचि बढ़ी है.

Read more