तुम जिओ हजारों सालः सुरक्षित हिमालय की मुहिम में स‍क्रिय हैं सुंदरलाल बहुगुणा

भारत के प्रख्यात पर्यावरणविद् सुंदर लाल बहुगुणा इन दिनों सुरक्षित हिमालय के मुहिम में दिन-रात सक्रिय हैं, अपने पच्चासीवें जन्म दिन पर 85 वृक्षों का रोपण कर बहुगुणा जी ने दून स्थित हेस्को ग्राम परिसर में स्कूली बच्चों के मध्य दिए अपने संदेश में कहा कि हरियाली सबसे अच्छी संपन्नता है,

Read more

विलुप्‍त हो गई जड़ी-बूटियां

सैकड़ों वर्ष पूर्व पृथ्वी से विलुप्त हो चुका सोमवल्ली का पौधा एक बार फिर मध्य प्रदेश के रीवा के जंगलों में खोज निकाला गया है. यह पौधा प्राचीन ग्रंथों और वेद पुराणों में चिरायु बनाने के लिए वर्णित है. यद्यपि यह एक उपलब्धि है, लेकिन सरकारी लापरवाही के चलते अनेक दुर्लभ पौधे और जड़ी बूटियां विलुप्त होने की कगार पर हैं.

Read more

विंध्‍य हर्बल सफल सहकारी संस्‍था

सरकारी प्रयासों से जनकल्याण के काम बिना रुकावट पूरे होते रहें, यह लगभग असंभव बात मानी जाती है. पर जब आप मध्य प्रदेश लघु वनोपज संघ के द्वारा बनाई गई विंध्य हर्बल संस्था के कामकाज को देखेंगे तो मानेंगे कि जनकल्याण के लिए सरकारी प्रयासों की कमी नहीं है. विंध्य हर्बल संस्था प्रदेश स्तर पर ही नहीं, राष्ट्रीय स्तर पर भी आयुर्वेदिक औषधियों से संबंधित संग्रहण, उत्पादन, शोधन, दवा निर्माण एवं उसकी बिक्री का काम करती है.

Read more