तानाशाह किम जोंग के साथ पीएम मोदी के पोस्टर पर मचा बवाल

कानपुर में रेजगारी का स्टॉक को लेकर नाराज व्यापारियों पर FIR दर्ज की गई है, व्यापारियों पर आरोप है कि

Read more

अमेरिकी शांति प्रस्ताव: पहला बम गिरने तक उत्तर कोरिया से रखेगा बातचीत

पिछले काफी टाइम से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच जुबानी विवाद

Read more

नॉर्थ कोरिया ने फिर से उगला ज़हर, भड़क उठे ट्रम्प

अपनी तानाशाही के बलबूते देश के नागरिकों पर ज़ुल्म करने वाला नॉर्थ कोरिया भड़काऊ बयानबाजी करने से पीछे नहीं हट

Read more

पाकिस्तान में नवाज शरीफ का राज: बहेगी अमन की बयार !

पाकिस्तान में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब कोई व्यक्ति, यानी नवाज शरीफ तीसरी बार प्रधानमंत्री बन रहे हों.

Read more

भारत का दूषित प्रजातंत्र

राजनीतिक दलों का वर्चस्व इतना मज़बूत है कि देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था पूरी तरह से पार्टी तंत्र में तब्दील हो

Read more

मिस्र की दूसरी क्रांति

हम लोगों ने इसलिए संघर्ष नहीं किया था कि एक तानाशाह को सत्ता से हटाकर दूसरे तानाशाह के लिए ज़मीन तैयार करें. हमें लोकतंत्र चाहिए, सैनिक हस्तक्षेप से चलने वाला शासन नहीं. ऐसी ही आवाज़ें उठ रही हैं मिस्र की राजधानी क़ाहिरा के उस तहरीर चौक से, जहां हज़ारों लोग एक बार फिर से सेना के सत्ता पर क़ाबिज़ होने की मंशा को चकनाचूर करने के लिए एकत्रित हुए हैं.

Read more

चीन की सरकार डर गई है

वर्ष 2010-11 दुनिया के विभिन्न देशों में लोकतांत्रिक प्रणाली की समृद्धि के लिए हुई क्रांतियों का गवाह रहा है. इस दरम्यान न सिर्फ आंदोलनकारी चर्चा में रहे, बल्कि कथित तानाशाह शासक भी. चीन में भी लोकतंत्र की बहाली के लिए जमीन तैयार की जा रही है.

Read more

लीबिया पर हमलाः असली मंसूबे कुछ और हैं

अमेरिका, फ्रांस एवं इंग्लैंड ने लीबिया को हवाई उड़ान प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित करने संबंधी संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रस्ताव को लागू करने में जो तत्परता दिखाई, वह इन देशों के साम्राज्यवादी लक्ष्यों के अनुरूप है. इन्हीं तीनों देशों ने 19वीं एवं 20वीं सदी में लगभग आधी दुनिया को अपना ग़ुलाम बनाया था. इंग्लैंड एवं फ्रांस ने यह काम प्रत्यक्ष ढंग से किया था और अमेरिका ने अप्रत्यक्ष ढंग से.

Read more

विश्व के प्रमुख तानाशाह

अचानक से एक और तानाशाह के बारे में बातें होने लगी हैं. तानाशाही उस तरह की सरकार को कहते हैं जहां संपूर्ण सत्ता एक ही व्यक्ति के हाथ में होती है. वहां क़ानून का राज नहीं, शासक के हिसाब से सरकार चलती है.

Read more

इस्‍लामी दुनिया के महानायक

बात लीबिया में हो रही जनतांत्रिक क्रांति की. यहां प्रति व्यक्ति आय 13400 अमरीकी डॉलर है. ज़ाहिर है, यह देश ग़रीब नहीं है. लीबिया यूरोप का सबसे बड़ा तेल और गैस का सप्लायर है. गद्दा़फी ने लोगों को भरोसा दिलाया कि लीबिया के मानव संसाधनों को बढ़ावा दिया जाएगा.

Read more

मुस्लिम जगत का पुनर्जागरण काल

मध्य पूर्व में गदर करने वाले डटे हुए हैं. ट्यूनीशिया और मिस्र के दो तानाशाहों के ताज अब तक उछाले जा चुके हैं, तख्त गिराए जा चुके हैं. यमन, बहरीन, लीबिया, अल्जीरिया एवं ईरान में हलचल जारी है. रूढ़िवादी मुस्लिम समाज अब पूरी तरह से बदल रहा है.

Read more

अरब देशों में परिवर्तन का दौर

मिस्र और ट्यूनीशिया का हालिया घटनाक्रम सुखद आश्चर्य के रूप में सामने आया. शायद ही किसी को यह उम्मीद रही होगी कि इन देशों में अचानक जनाक्रोश का विस्फोट हो जाएगा, परंतु ज़मीनी हक़ीक़त जानने-समझने वाले लोगों के लिए इन दो देशों में हुई जनक्रांति अनापेक्षित नहीं थी.

Read more

लोकतंत्र की इस लड़ाई में भारत कहां है

अमेरिका किसी भी हाल में नहीं जीत सकता. यदि वह किसी देश के आंतरिक मामलों में दखल देता है तो उसकी निंदा होती है. लेकिन यदि, जैसा कि मिस्र में हो रहा है, अमेरिका ने जल्द ही हस्तक्षेप नहीं किया तो होस्नी मुबारक जैसे एक अलोकप्रिय तानाशाह को हटाना मुश्किल हो जाएगा.

Read more