जब तोप मुकाबिल हो : कलंकित हो रहा है पत्रकारिता का आदर्श

आज जब पत्रकारिता पैसे लेकर लोगों के हितों को साध रही है. जर्नलिज़्म ऑफ करेज का लेबल देकर जर्नलिज़्म ऑफ़

Read more

यह कार्ड ख़तरनाक है- 2

यूआईडी कार्ड की कहानी इस तरह शुरू होती है. देश में एक विशिष्ट पहचान पत्र के लिए विप्रो नामक कंपनी ने एक दस्तावेज तैयार किया. इसे प्लानिंग कमीशन के पास जमा किया गया. इस दस्तावेज का नाम है स्ट्रेटिजिक विजन ऑन द यूआईडीएआई प्रोजेक्ट.

Read more

दिल्‍ली का बाबू : नीलेकणी की तलाश जारी

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा इंफोसिस के पूर्व अध्यक्ष नंदन नीलेकणी को यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) का मुखिया नियुक्त किए जाने के बाद इस महत्वाकांक्षी परियोजना की शुरुआत तो हो गई, लेकिन हम जैसे पत्रकार इससे ज़्यादा उत्साहित नहीं हैं. तमाम अनुमानों के विपरीत नीलेकणी ने घोषणा कर दी कि वह कॉरपोरेट दुनिया से जुड़े लोगों के बजाए आईएएस अधिकारियों को ज़िम्मेदारी वाले पदों पर रखना चाहेंगे. लेकिन, सूत्रों पर भरोसा करें तो यूआईडीएआई में खाली पदों को भरने के लिए उन्हें खासी मश़क्क़त करनी पड़ रही है.

Read more