जन्मदिन पर विशेष : … ऐक्टर नहीं बन सके सोनू

वह ख़ूबसूरती के मिशाल हैं. खूबसूरत आवाज़ ही नहीं, आकर्षक व्यक्तित्व और खूबसूरत मन के भी वह मालिकहैं. जी हां,

Read more

मैं तुझे फिर मिलूंगी

अमृता प्रीतम ने ज़िंदगी के विभिन्न रंगों को अपने शब्दों में पिरोकर रचनाओं के रूप में दुनिया के सामने रखा. पंजाब के गुजरांवाला में 31 अगस्त, 1919 में जन्मी अमृता प्रीतम पंजाबी की लोकप्रिय लेखिका थीं. उन्हें पंजाबी भाषा की पहली कवयित्री माना जाता है. उन्होंने क़रीब एक सौ किताबें लिखीं, जिनमें उनकी आत्मकथा रसीदी टिकट भी शामिल है.

Read more