एक अफसर का खुलासाः ऐसे लूटा जाता है जनता का पैसा

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री एवं शरद पवार के भतीजे अजीत पवार ने अपने पद से इस्ती़फा दे दिया है. हालांकि उनके इस्ती़फे के बाद राज्य में सियासी भूचाल पैदा हो गया है. अजीत पवार पर आरोप है कि जल संसाधन मंत्री के रूप में उन्होंने लगभग 38 सिंचाई परियोजनाओं को अवैध तरीक़े से म़ंजूरी दी और उसके बजट को मनमाने ढंग से बढ़ाया. इस बीच सीएजी ने महाराष्ट्र में सिंचाई घोटाले की जांच शुरू कर दी है.

Read more

इंडिया अगेंस्‍ट करप्‍शनः अन्‍ना चर्चा समूह, सच बोलना अपराध नहीं है

सेवा में,

श्री वीरभद्र सिंह जी,

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री

1, जंतर मंतर रोड,

नई दिल्ली-110001

Read more

इंडिया अगेंस्‍ट करप्‍शनः अन्‍ना चर्चा समूह, सवाल देश की सुरक्षा का है, फिर भी चुप रहेंगे? अन्‍ना हजारे ने प्रधानमंत्री से मांगा जवाब…

आदरणीय डॉ. मनमोहन सिंह जी,

पिछले कुछ महीनों की घटनाओं ने भारत की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर देश की जनता को का़फी चिंतित किया है. लेकिन अधिक चिंता का विषय यह है कि क्या इतनी चिंताजनक घटनाएं हो जाने के बावजूद कुछ सुधार होगा? अभी तक की भारत सरकार की कार्रवाई से ऐसा लगता नहीं कि कुछ सुधरेगा.

Read more

हथियार के दलालों का असली चेहरा

अवकाश प्राप्त सैन्य अधिकारी, बड़ी सी तोंद और काम हथियारों की ख़रीद-बिक्री, लेकिन हथियार के ऐसे सौदागर अब ग़ायब हो गए हैं. अब इनकी जगह युवा या कम से कम अधेड़, लेकिन सौम्य चेहरे वाले आर्म्स डीलरों ने ले ली है. ये नए आर्म्स डीलर अपनी फिटनेस का ख़ास ख्याल रखते हैं, गोल्फ क्लबों में जाते हैं, अपने पहनावे पर ख़ास ध्यान देते हैं और इनकी भाषा वैश्विक होती है.

Read more

महाराष्‍ट्रः चंदे के फंदे में मंत्री

पावर और पैसा आज हर महत्वाकांक्षी व्यक्ति की चाहत है. जिसके पास पावर है, उसके पास पैसे वाले स्वयं चले आते हैं. व्यवसायी, ठेकेदार एवं उद्योगपति पावर के चारों ओर सौर मंडल के ग्रहों की तरह चक्कर लगाते नज़र आते हैं. उनकी निकटता पाकर मंत्री-संतरी भी उनसे अपना उल्लू सीधा करने में गुरेज़ नहीं करते.

Read more

शो का मज़ेदार कॉन्सेप्ट

एक अजब-ग़ज़ब रियलटी शो आया है, जो शरणार्थियों और बेघरों के लिए है. नीदरलैंड में एक रियलिटी शो शरणार्थियों के लिए पैसा जीतने का मौक़ा लेकर आया है. इस शो के ज़रिए शरणार्थी पैसा तो जीत सकते हैं, लेकिन यह उनके अपने घर वापस जाने के काम आएगा.

Read more

पैसा, ग्‍लैमर और फटाफट क्रिकेट

वर्ल्ड कप की जीत का खुमार उतरा भी नहीं कि आईपीएल ने दस्तक दे दी है. एक बार फिर पूरा देश क्रिकेट की खुमारी में डूबेगा, लेकिन इस बार मुक़ाबला थोड़ा अलग होगा. आईपीएल 4 में क्रिकेट के सूरमा अपने देश के लिए नहीं, बल्कि अपनी-अपनी स्टेट टीमों के लिए खेलेंगे. मसलन कोई किंग्स इलेवन तो कोई सुपरकिंग्स की दावेदारी के लिए मैदान में उतरेगा.

Read more

भारत को भारतीयों ने ज्यादा लूटा

यह 19वीं शताब्दी की बात है. ब्रिटिश जमकर भारत को लूट रहे थे और सारा पैसा इंग्लैंड ले जा रहे थे. यानी भारत से धन की निकासी अपने चरम पर थी. तब कांग्रेस के पुरोधाओं के लिए ब्रिटिश शासन की आलोचना का यही मुख्य आधार रहा.

Read more

आईपीएल- 4 : इंडियन पैसा लीग

पिछले साल आईपीएल को चौथी दुनिया ने इंडियन फिक्सिंग लीग बताया था. यह बात सही साबित हुई. टूर्नामेंट शुरू होने से एक महीने पहले ही आपको बता दिया था कि मुंबई फाइनल खेलने वाला है. यह बात भी सच साबित हुई. चौथी दुनिया ने खुलासा किया था कि आईपीएल विदेशी कंपनियों के पैसों चलाया जा रहा है.

Read more

यह जनता का पैसा है

धन चाहे केंद्र का हो या राज्य का, किसी पार्टी का नहीं होता. केंद्र में सत्ता संभालने वाली पार्टी जिस तरह केंद्र सरकार के धन पर दलीय अभिमान नहीं जता सकती, उसी तरह राज्य की सत्ता संभालने वाली पार्टी या उसके नेता का भी सरकारी धन पर पार्टीगत या व्यक्तिगत अधिकार नहीं होता और न ही उस धन के अपव्यय का उस पार्टी को कोई विधिक अधिकार होता है. बिहार में विकास को लेकर केंद्र के धन के इस्तेमाल पर नीतीश और सोनिया गांधी में जिस तरह दावे-प्रतिदावे हुए, उसी तरह उत्तर प्रदेश में भी मायावती और सोनिया गांधी के बीच खींचतान तेज हो गई है. चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आता जाएगा, यह खींचतान और धार पकड़ती जाएगी. लेकिन बिहार और उत्तर प्रदेश का मौलिक फर्क यह है कि केंद्र के धन का बिहार में सार्थक इस्तेमाल हुआ और उत्तर प्रदेश में बेजा.

Read more

आतंक के लिए पैसा

पाकिस्तान-अ़फग़ानिस्तान की सीमा पर आतंकवाद के ख़िला़फ चल रही लड़ाई की तस्वीर लगातार बदसूरत होती जा रही है. आतंकवाद के ख़ात्मे के बजाय यह कट्टरवादी शब्दाडंबरों, साजिशों और अलग-अलग समूहों की स्वार्थ सिद्धि का माध्यम बनती जा रही है.

Read more

पैसा दो टिकट लो

इसे सत्ता पाने का जुनून कह लीजिए या फिर पैसे की ताक़त का एहसास कराने का घमंड. चुनावी टिकट के लिए पिछले दिनों पटना में धन्नासेठों ने अपनी थैलियां खोल दीं. पिछले चुनावों में जब इस तरह के एक-दो किस्से सामने आए तो लोगों ने इसे सुनी-सुनाई बात बता गंभीरता से नहीं लिया, लेकिन इस बार तो कहानी ही दूसरी है.

Read more

बॉलीवुड : बर्बाद होता पैसा

बॉलीवुड की शुरुआत 1899 में एक लघु फिल्म के प्रोडक्शन से हुई थी. 1913 में आई दादा साहब फाल्के की फिल्म राजा हरिश्चंद्र बॉलीवुड की पहली मूक फिल्म थी. उसके बाद 1930 में पहली बोलती फिल्म आर्देशियर ईरानी की आलमआरा थी, जो हिंदी सिनेमा जगत के इतिहास में सुपर-डुपर हिट के रूप में दर्ज़ है.

Read more

कर्नाटक कांग्रेस की करतूतः खा गई बाढ़ राहत का पैसा

प्राकृतिक आपदा के व़क्त अमूमन राजनीतिक और सामाजिक संगठन राहत के नाम पर पैसा इकट्ठा करते हैं. आम लोग ऐसे मौक़े पर दिल खोल कर पैसा देते हैं ताकि पीड़ितों को राहत मिल सके, लेकिन उसी पैसे से अगर कोई राष्ट्रीय दल अपने कार्यालय का ख़र्चा चलाने लगे तो इसे क्या कहेंगे.

Read more

प्‍यार, पैसा और गद्दारी

पैसे का लोभ, ऊंचा उड़ने की हसरत और वासना की आग इंसान को क्या से क्या बना देती है. महत्वाकांक्षाओं के पीछे भागता इंसान ग़लत-सही के बीच का फर्क़ भूल जाता है और अक्सर कुछ ऐसा कर बैठता है, जिसे हम गद्दारी कहते हैं. माधुरी गुप्ता का गुनाह यही है. 53 साल की अधेड़ उम्र में शारीरिक और भौतिक सुखों की चाहत ने उसे इतना पागल कर दिया कि वह दुश्मनों के इशारों पर नाचने लगी.

Read more

पैसा-पैसा करती है…

पैसा-पैसा करती है, क्यों पैसे पर तू मरती है…यह गाना तो आपको याद ही होगा. चीन में महिलाएं इस गाने को अपनी निजी ज़िंदगी में उतारने पर आमादा हैं. चीन में ज़्यादातर महिलाएं ऐसे पुरुषों से विवाह करना चाहती हैं, जिनके माता-पिता के पास अकूत दौलत हो. इसका खुलासा एक सर्वे में हुआ है.

Read more