एनआरसी के दूसरे ड्राफ्ट में 40 लाख असमियों के नाम नहीं, बेघर होने का खतरा

असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का दूसरा और अंतिम ड्राफ्ट जारी किया गया. इसमें 40 लाख लोगों को नागरिकता

Read more

नागरिकता (संशोधन) बिल : पूर्वोत्तर भारत में आग लगाने का काम करेगा

1947 में देश विभाजन की महान मानवीय त्रासदी के बाद धीरे-धीरे दिलों पर लगे हुए ज़ख्मों के दाग तो धुंधले

Read more

हैदराबाद टेस्ट मैच : मैदान पर जमकर दहाड़े ‘विराट’ के शेर, 208 रनों से दी बांग्लादेश को शिकस्त

भारत दौरे पर आई बांग्लादेश की टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा है. भारत ने 208 रन से

Read more

सहारा श्री सुब्रत रॉय जेल में क्यों हैं

भारत-बांग्लादेश क्रिकेट मैच के दौरान बाउंड्री पार करती बॉल को देखते ही एक सवाल कौंध गया. बाउंड्री पर सहारा इंडिया

Read more

भाषाओं पर संकट : आधी सदी में विलुप्त हुईं 250 भाषाएं

कहा जाता है कि यदि किसी सभ्यता अथवा संस्कृति को नष्ट करना हो तो उसकी भाषा नष्ट कर दीजिए. भाषा

Read more

शिक्षक दिवस पर विशेष : अब शिक्षा में भी क्रांति की दरकार…

शिक्षण संस्थाएं केवल डिग्रीधारक पैदा करने की मशीन हो गई हैं और नौकरी पाने की शैक्षणिक योग्यता तय कर दी

Read more

सरकारी योजनाओं से वंचित मुस्लिम विद्यार्थी

मुसलमानों के विकास के बड़े-बड़े वादे तो खूब किए जाते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि न तो मुस्लिम बच्चों

Read more

जब तोप मुकाबिल हो : चीन पर भारत का रुख लचीला क्यों

हमारे देश के पिछले कुछ सेनाध्यक्षों ने बार-बार सरकार को चेताया था कि हमारे लिए वास्तविक ख़तरा पाकिस्तान नहीं, बल्कि

Read more

नज़रुल इस्लाम : अंगे्जी हुकूमत के ख़िलाफ़ एक विद्रोही कवि

जीवन जैसे-जैसे दुरूह होता जाएगा, नज़रुल इस्लाम जैसे युग द्रष्टा कवि की याद उतनी ही तीव्र होती जाएगी. दरअसल, उन्होंने

Read more

बांग्लादेश : गृहयुद्ध के हालात

बांग्लादेश में हिंसक विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, जिनमें 80 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं. एक तरफ़ विपक्षी

Read more

बांग्लादेश में साजिश : हसीना की नीतियों से बौखलाए कट्टरपंथी

बांग्लादेश में लोकतांत्रिक तरीक़े से काम कर रही सरकार से नाराज़ सेना और कट्टरपंथी संगठन से जुड़े कुछ लोगों ने तख्ता पलट के लिए एक षड्यंत्र किया. हालांकि समय रहते इस षडयंत्र का पर्दा़फाश हो गया, जिसके कारण बांग्लादेश में होने वाला खूनी खेल शुरू होने से पहले ही समाप्त हो गया.

Read more

भारत-वियतनाम संबंध : चीन को चुनौती

भारत ने अपनी पूर्व की ओर देखो नीति पर अमल करने की गति बढ़ा दी है. हाल में भारत ने पूर्वी एशिया के कई देशों के साथ गहरे संबंध बनाने की दिशा में प्रयास किए हैं. मालदीव के साथ समझौते किए, बांग्लादेश के साथ संबंध सुधारने के प्रयास तेज किए.

Read more

भारत-बांग्लादेश : संबंध सुधरने के आसार

भारत एवं बांग्लादेश के बीच संबंधों को मज़बूत बनाने के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पिछले दिनों बांग्लादेश का दौरा किया. उनके साथ विदेश मंत्री एस एम कृष्णा, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिव शंकर मेनन, विदेश सचिव रंजन मथाई समेत बांग्लादेश की सीमा से लगे भारतीय राज्यों जैसे त्रिपुरा, असम, मिजोरम एवं मेघालय के मुख्यमंत्री भी थे.

Read more

अमेरिका-चीन संबंध

पाकिस्तान में जब अलक़ायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन मारा गया तो अमेरिका की नज़रें कुछ समय के लिए पाकिस्तान के प्रति टेढ़ी हो गईं. तब चीन ने इशारे-इशारे में कह दिया कि वह पाकिस्तान का बाल बांका नहीं होने देगा.

Read more

क्रिकेट वर्ल्डकप: जाने कहां गुम हो जाती हैं ये टीमे

वर्ल्डकप 2011 अब तक अपने रोमांचक दौर पर है. जैसा कि हर बार होता है, इस बार भी कई उलटफेर हुए और आगे भी होंगे. जिन टीमों को फिसड्डी माना जाता है या यूं कहें कि जिन्हें स़िर्फ ग्रुप की लिस्ट लंबी करने के लिए शामिल किया जाता है

Read more

भारत-बांग्‍लादेश सीमाः मवेशियों की तस्‍करी और जाली नोटों का धंधा

तस्करों के लिए बांग्लादेश जाकर मवेशियों को बेचना फायदे का सौदा बन गया है. वहां मवेशियों की ऊंची क़ीमत मिलती है. असम की बराक घाटी के रास्ते बांग्लादेश के भीतर बड़े पैमाने पर मवेशियों की तस्करी जारी है. सीमा सुरक्षाबल के सूत्रों का कहना है कि बांग्लादेश में भारत के मवेशियों की काफी मांग है. कालीगंज, काबूगंज, चिरागी और सीलटेक के बाज़ारों में नियमित रूप से मवेशियों की बिक्री की जाती है.

Read more

तस्‍करी की शिकार महिलाओं का पुनर्वास कैसे हो?

यह कविता (बांग्ला से अनुवाद) है यौवन की दहलीज पर खड़ी चांदनी की, जो कोलकाता के एक होम में अपनी नई ज़िंदगी के सपने के साथ खुले आकाश में उड़ना चाहती है. चांदनी जैसी लाखों लड़कियां देश भर के सैकड़ों सरकारी और ग़ैर सरकारी होम या सुधारगृहों में बैठकर सपने बुनती हैं, पर कितनों को उज्ज्वल भविष्य की सौगात मिलती है, इस पर बहुतों का ध्यान नहीं जाता.

Read more