उड़ीसा ने अन्‍ना हजारे को सिर-आंखों पर बैठाया : राजनीति को नए नेतृत्‍व की जरूरत है

अन्ना हजारे कार्यकर्ता सम्मेलन में शिरकत करने के लिए उड़ीसा दौरे पर गए. उनकी अगवानी करने के लिए बीजू पटनायक हवाई अड्डे पर हज़ारों लोग मौजूद थे, जो अन्ना हजारे जिंदाबाद, भ्रष्टाचार हटाओ और उड़ीसा को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के नारे लगा रहे थे. अन्ना ने कहा कि हमारा काम बहुत बड़ा है और किसी को भी खुद प्रसिद्धि पाने के लिए यह काम नहीं करना है.

Read more

जनसंवाद यात्रा : औधोगीकरण बनाम कृषि भूमि का मुद्दा उठाया

जनसंवाद यात्रा का प़डाव सूरत ज़िले का मांडवी था, जहां नगर पंचायत मांडवी की ओर से छात्र-छात्राओं और शिक्षकों की एक संयुक्त बैठक का आयोजन शिक्षक भवन में किया गया था. मांडवी ज़िले का यह क्षेत्र अपनी उर्वरा भूमि के लिए प्रसिद्ध है. विगत 20 वर्षों से सभी सरकारों द्वारा लगातार यह आश्वासन दिया जाता रहा है कि नर्मदा नदी में बांध बनने के पश्चात खेतों को पर्याप्त सिंचाई सुविधा और लोगों के लिए पेयजल उपलब्ध होगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

Read more

इंडिया अगेंस्‍ट करप्‍शनः अन्‍ना चर्चा समूह, राष्‍ट्र धर्म पर चिंतन करें

मुझे कई बार ये सुझाव मिले हैं कि सभी धर्मों के लोगों को आंदोलन में साथ लेकर चलना है. मैं इस बात से 100 फीसदी सहमत हूं. आइए आज एक और धर्म की बात करें- राष्ट्र धर्म.

Read more

बिहारः सेवा यात्रा में सुशासन की पोल खुली

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चार दिवसीय चंपारण सेवा यात्रा ने सुशासन की पोल खोल दी है. मुख्यमंत्री के मोतिहारी पहुंचते ही पंचायत शिक्षकों द्वारा मानदेय भुगतान के लिए किया गया हंगामा, पुतला दहन, बिजली का ग़ायब होना, पंचायती राज के जन प्रतिनिधियों का आंदोलन एवं अभियंत्रण महाविद्यालय में व्याप्त कुव्यवस्था को लेकर छात्रों का हंगामा तथा सभाओं में जनता के बीच उत्साह न होना साबित करता है कि लोग सरकार से खुश नहीं हैं.

Read more

यात्रा साहित्य माला में एक और मोती

मनुष्य-जातियों का इतिहास उनकी यायावरी प्रवृत्ति से संबद्ध है. यात्रा का मुख्य आकर्षण-बिंदु मनुष्य के सौंदर्य बोध के विकास के साथ-साथ चतुर्दिक्‌ व्याप्त जगत का विस्तार भी है. प्रस्तुत कृति के लेखक अनिल सुलभ ने सौंदर्य बोध की दृष्टि से उल्लास की भावना द्वारा प्रेरित होकर उत्तर और दक्षिण भारत की यात्रा की.

Read more

बिहारः कोसी के दर्द से अनजान नीतीश

मुख्यमंत्री की सेवा यात्रा के चतुर्थ चरण का आगाज़ कोसी की माटी जलई के तेलवा गांव से हुआ. गांव के लोग कुछ करिश्मे का इंतज़ार कर रहे थे. चुनाव को छोड़कर आम समय कोई मुख्यमंत्री अमूमन गांव नहीं जाता है.

Read more

हिंद स्वराज का स़फरनामा

हिंदुत्व की विचारधारा से ओत-प्रोत किताब हिंद स्वराज की अनंत यात्रा में लेखक अजय कुमार उपाध्याय ने हिंद स्वराज की रोशनी में महात्मा गांधी के जीवन की विराट यात्रा का संक्षिप्त विवरण दिया है

Read more

कांग्रेस के पांच क्षत्रप

राजनीति में कब किसका पलड़ा भारी हो जाए, माहौल कब किस करवट बैठ जाए, कहा नहीं जा सकता. इसका प्रत्यक्ष प्रमाण उत्तर प्रदेश है, जहां कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी अकेले दम पर सियासत का खेल खेल रहे थे

Read more

जन संवाद यात्रा : अब गांधी और मार्क्स नहीं, ज़मीन चाहिए

इस व़क्त देश में यात्राओं का दौर चल रहा है. मुद्दे तमाम हैं, भ्रष्टाचार से लेकर राजनीति तक, लेकिन इसमें समाज का वह अंतिम व्यक्ति कहां है जिसके उत्थान के लिए गांधी जी ने इस देश को एक ताबीज दिया था?

Read more

नए सवालों, व्यवहारों और सपनों की यात्राएं

अचानक देश में यात्राओं की बहार आ गई है. समाजवादी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी और बाद में अन्ना हजारे, तीनों ने आपस में होड़ लगा रखी है. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के बेटे एवं सांसद अखिलेश यादव के नेतृत्व में शुरू की गई इस यात्रा का एक ही उद्देश्य है कि उत्तर प्रदेश की वर्तमान मुख्यमंत्री मायावती के ख़िला़फ लोगों में उपजा असंतोष कैसे वोट के रूप में तब्दील होकर समाजवादी पार्टी के पक्ष में बैलेट बॉक्स में पड़े.

Read more

महाराष्‍ट्रः राजनाथ का विदर्भ दौरा सवालों के घेरे में

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व अध्यक्ष राजनाथ सिंह की विदर्भ यात्रा पर अब सवाल उठाए जा रहे हैं. उनकी इस यात्रा को कुछ संगठन व्यक्तिगत यात्रा तक क़रार दे रहे हैं और पार्टी की नीति पर भी प्रश्नचिन्ह लग रहे हैं. भाजपा नेताओं की औद्योगिक इकाइयों द्वारा भी किसानों की ज़मीन हड़पने का आरोप लगाया जा रहा है. इससे राजनाथ की विदर्भ यात्रा विफल होती लग रही है.

Read more

राहुल जी, गांव में आपने क्या सीखा

बापू जब मोहनदास करमचंद गांधी थे, नौजवान वकील थे और दक्षिण अफ्रीका में वकालत करने गए तो उनके साथ एक हादसा हुआ. गोरों ने उन्हें प्रथम श्रेणी में बैठने के लायक़ नहीं समझा और ज़बरदस्ती गाड़ी से धक्का देकर बाहर फेंक दिया. जब वह हिंदुस्तान वापस आए, उनके मन में हिंदुस्तान में कुछ काम करने की इच्छा जागी.

Read more

बाबा और हज यात्रा

एक मुसलमान सिद्दीकी की बड़ी इच्छा थी कि किसी तरह वह पवित्र तीर्थ मक्का-मदीना की यात्रा पर जाए, लेकिन उसकी आर्थिक स्थिति ऐसी न थी कि वह हज के लिए पैसा इकट्ठा कर पाता. वह प्रतिदिन द्वारिका माई मस्जिद में पौधों को पानी देता था. बाबा की धूनी के लिए भी जंगल से लकड़ियां काटकर लाता था, इस आशा से कि कभी साई बाबा की कृपा उस पर हो जाए और वह हज की मुराद पूरी कर दें.

Read more

चार धाम यात्राः अव्‍यवस्‍था के बावजूद श्रद्धालुओं का सैलाब

देव भूमि उत्तराखंड के चार धामों के कपाट छह माह के लिए परंपरागत रूप से खोल दिए गए. सरकार ने यह यात्रा शुरू होने के पहले ही सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने की घोषणा की थी, जो महज़ हवा हवाई सिद्ध हुई. यात्रा के पहले दिन मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक हवाई मार्ग से बाबा केदारनाथ के दर्शन करने पहुंचे. यात्री सुविधाओं की कमी के संदर्भ में वह मीडिया से कन्नी काटते रहे.

Read more

शीतकालीन चार धाम यात्राः सनातन धर्म के साथ खिलवाड़

उत्तराखंड सरकार द्वारा अपनी आय में वृद्धि के लिए शीतकालीन चार धाम यात्रा को हरी झंडी दिखाने के बाद राज्य के धर्माचार्य इसे धर्म विरोधी क़दम बताते हुए इसका व्यापक विरोध कर रहे हैं. देवभूमि हिमालय में आदिकाल से चार धाम यात्रा की परंपरा चली आ रही है, जिसका संचालन प्राचीन मान्यताओं के आधार पर वैदिक रीति-रिवाज से होता चला आ रहा है.

Read more

गैजेट हैं दुर्घटनाओं का सबब

हाल में हुई विमान दुर्घटनाओं में ज़्यादातर की वजह तकनीकी खामी या आतंकवादी वारदातें रही हैं, लेकिन कई और प्रश्न भी उठे हैं.

Read more

बॉडी स्कैनर या आतंकवादी हमला

जब आप विमान यात्रा करते हैं तो आप और बाक़ी यात्रियों पर आतंकवादी हमला होने का ख़तरा कितना होता है? एक अनुमान के अनुसार इसकी आशंका 3 करोड़ में 1 होती है, लेकिन आपको जानकर ताज्जुब होगा कि इतनी ही आशंका बॉडी स्कैनर से निकलने वाले रेडिएशन से भी होती है.

Read more

हेमकुण्‍ड साहिब: आस्‍था के सहारे दुर्गम रास्‍ता तय करते हैं यात्री

देवभूमि हिमालय में स्थित सिखों के पावनधाम हेमकुंड साहिब जाने वाले सैकड़ों यात्रियों को अव्यवस्था के चलते जान हथेली पर रखकर यात्रा करनी पड़ रही है. राज्य सरकार के लाख दावों केबावजूद हेमकुंड यात्रा मार्ग की हालत बेहद खराब है.

Read more

चार धाम यात्रा अव्‍यवस्‍था का शिकार

देवभूमि उत्तराखंड में धर्म एवं आस्था की मिसाल पेश कर पर्यटन को एक पहचान देने वाली चार धाम यात्रा सरकारी उपेक्षा और अव्यवस्था की भेंट चढ़ कर राम भरोसे चल रही है. इसमें प्रत्येक वर्ष लाखों श्रद्धालु यमुनोत्री-गंगोत्री सहित केदारनाथ एवं बद्रीनाथ धाम की यात्रा करते हैं.

Read more

किसका विश्‍वास कैसी यात्रा

यह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विश्वास यात्रा के पहले चरण का आ़खिरी दिन था. म़ुजफ़्फरपुर के पानापुर में मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं जनता को विश्वास दिलाने निकला हूं कि हमारी सरकार ने वे सारे काम किए हैं, जिसकी अपेक्षा जनता ने हमसे की थी, लेकिन इस दौरान उनकी नज़रों ने इस बैनर को नहीं देखा, जो स्थानीय जनता की ओर से लगाया गया था और जिस पर लिखा था.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः फिज़ूल़खर्ची को ग्रीन सिग्नल

केंद्र सरकार के बदले रवैये से लगता है कि सरकारी बाबुओं और सुविधाभोगी मंत्रियों के दिन अब फिर से बहुरने वाले हैं. मितव्ययिता के भूत ने मंत्रियों और सरकारी बाबुओं को आरामतलबी से दूर रहने के लिए मजबूर कर दिया था. फाइव स्टार होटलों और एक्जीक्यूटिव क्लास में यात्रा पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन मंदी से उबरने के बाद अर्थव्यव्स्था में जान लौटी तो केंद्र अब इन पाबंदियों को हटाने पर विचार कर रहा है.

Read more

शांति बहाली के लिए कश्मीर समस्या का समाधान ज़रूरी

पाकिस्तान द्विराष्ट्रवादी सिद्धांत का ही नतीजा है. यह मसला भौगोलिक नहीं है. इसका आधार यह है कि हिंदू और मुसलमान दो अलग-अलग मुल्कों के बाशिंदे हैं. मोहम्मद अली जिन्ना ने लाखों बार दोहराया कि हिंदुओं के अत्याचार की वजह से उनके साथ रहना मुसलमानों की मजबूरी थी. जब मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ने इस बात पर ज़ोर दिया कि बहुविश्वासी धर्मनिरपेक्ष राज्य का अस्तित्व मुमकिन ही नहीं, बल्कि ज़रूरी भी है तो जिन्ना ने उनका माख़ौल उड़ाया था.

Read more