मुस्लिम योगा टीचर राफिया नाज की मुश्किलें बढ़ी, मिल रही है तरह-तरह की धमकी

इन दिनों योग गुरु बाबा रामदेव के साथ रांची की एक मुस्लिम महिला योग टीचर राफिया नाज की तस्वीर वायरल

Read more

अतिथि देवो भवः की अवधारणा पर काम करेंगे

पर्यटन के क्षेत्र में रोज़गार की पर्याप्त संभावनाएं हैं. लेकिन उत्तर भारत की राज्य सरकारें इसके विकास के प्रति उदासीनता बरतती रही हैं. इसे कभी प्राथमिकता की सूची में नहीं रखा गया है. जबकि इसके ज़रिए आर्थिक-सामाजिक विकास के साथ का़फी मात्रा में राजस्व भी अर्जित किया जा सकता है.

Read more

साउथ ब्‍लॉकः मलय दूरसंचार में

लंबी प्रतीक्षा और खोज का सिलसिला आख़िरकार आईएएस अधिकारी मलय श्रीवास्तव के नाम पर जाकर ख़त्म हुआ. दूरसंचार विभाग में संयुक्त सचिव का पद पिछले दो महीने से खाली था. मलय को इस पद पर नियुक्त कर दिया गया. वह 1990 बैच के अधिकारी हैं.

Read more

रांची-कोडरमा रेल परियोजनाः भूमिगत आग और भू-धसान के खतरे से बेखबर सरकार

झारखंड की सबसे बड़ी रेल परियोजना पर भूमिगत आग और भू-धसान का गंभीर खतरा मंडरा रहा है, लेकिन रेल मंत्रालय एवं झारखंड सरकार के कानों पर जू नहीं रेंग रही. आज़ादी के बाद से ही झारखंड के सबसे पुराने ज़िले हज़ारीबाग को रेल लाइन से जोड़ने की ज़ोरदार मांग उठती रही है, क्योंकि हज़ारीबाग देश का अकेला प्रमंडलीय मुख्यालय है, जो रेल लाइन से अभी तक जुड़ा नहीं है.

Read more

सौ किमी सड़क के लिए हजारों पेड़ों की बलि

रांची से हज़ारीबाग़ तक लगभग सौ किलोमीटर फोरलेन सड़क बनाने के लिए क़रीब बीस हज़ार पेड़ों को काटा जाएगा. इस परियोजना पर काम शुरू हो गया है. फोरलेन सड़क निर्माण के लिए वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने सड़क के किनारे स्थित पेड़ों को काटने की अनुमति दे दी है.

Read more

पंचायत चुनाव की कठिन डगर

झारखंड के मुख्यमंत्री शिबू सोरेन 15 जून से पहले पंचायत चुनाव की घोषणा कर चुके हैं और उप मुख्यमंत्री रघुवर दास उनके सुर में सुर मिलाकर बरसात के पहले पंचायत चुनाव करा लेने का दावा कर रहे हैं. हाल में भूरिया आयोग के अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप सिंह भूरिया एक कार्यशाला में शिरकत करने रांची आए.

Read more

रणवीर सेना के पसरते पांव

एक तऱफ झारखंड के वन बाहुल्य, औद्योगिक एवं ग्रामीण क्षेत्रों में नक्सलियों ने उत्पात मचा रखा है, वहीं अब दूसरी ओर शहरी क्षेत्रों में प्रतिबंधित रणवीर सेना के नाम पर अपराधियों को संगठित करने का प्रयास किया जा रहा है. बिहार में नक्सलियों के साथ लड़ते-लड़ते टूटकर बिखर चुकी इस सेना ने झारखंड को अपना नया चारागाह बनाने की तैयारी शुरू कर दी है.

Read more