थोड़ा है थोड़े की जरूरत है

लंदन ओलंपिक का आखिरी दिन. सोने के लिए भारत की आखिरी उम्मीद. पहलवान सुशील कुमार रिंग में थे. और टीवी से चिपके करोड़ों भारतीय मानो उन्माद की अवस्था में. सभी को जापानी पहलवान के आते ही लगा, अब तो सोना पक्का. वजह, सुशील कुमार के आगे उस जापानी पहलवान का कमज़ोर डीलडौल. लेकिन यह उन्माद, यह सोच पहले ही राउंड में ध्वस्त हो गई.

Read more