सीएजी के प्रति कांग्रेस का रवैया यह प्रजातंत्र पर हमला है

सीएजी (कंप्ट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल) यानी नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट आई तो राजनीतिक हलक़ों में हंगामा मच गया. सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि 2006-2009 के बीच कोयले के आवंटन में देश को 1.86 लाख करोड़ का घाटा हुआ. जैसे ही यह रिपोर्ट संसद में पेश की गई, कांग्रेस के मंत्री और नेता सीएजी के खिला़फ जहर उगलने लगे. पहली प्रतिक्रिया यह थी कि सीएजी ने अपने अधिकार क्षेत्र की सीमा का उल्लंघन किया.

Read more

बरेलीः शहर की हालत देख लोग हुए हैरान

बिंदास शहर बरेली में पिछले दिनों जो कुछ भी हुआ वो वाकई बरेली शहर को शर्मशार करने वाला था. ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण इस शहर को राजा बॉस देव और बरल देव ने बसाया था. इस शहर को रुहिला सरदारों ने अपनी राजधानी बनाया था.

Read more

हंगामा है क्यों बरपा

छत्तीसगढ़ की एक अदालत ने मानवाधिकार कार्यकर्ता एवं पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज के उपाध्यक्ष बिनायक सेन को राजद्रोह के मामले में उम्रकैद की सज़ा सुनाई. बिनायक सेन को यह सज़ा कट्टर नक्सलियों के साथ संबंध रखने और उनको सहयोग देने के आरोप में सुनाई गई है.

Read more

जम्‍मू- कश्‍मीरः क्‍यों बिगड़े हालात?

तीन माह से हिंसा की भट्ठी में जल रही कश्मीर घाटी में हर गुज़रने वाले दिन के साथ हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. जब कश्मीर के हालात पर नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में बैठक चल रही थी, तब भी घाटी के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा जारी थी. इस दिन पुलिस और सेना की फायरिंग में 17 लोग मारे गए और 100 घायल हो गए.

Read more

औरत के अधिकार के लिए आवाज़ उठाने का मतलब है मुसीबत को हवा देना

औरतों के फर्ज़ की जब बात आती है तो सारा मंच एक तऱफ दिखाई देता है, चाहे वह राजनीतिक हो, धार्मिक हो या फिर स्कॉलर हों या धर्मगुरु. लेकिन जब औरत के हक़ की बात आती है, चाहे उस हक की आवाज़ को दूसरे ही क्यों न उठाएं या वह ख़ुद मांगे, तो सारा समाज अचानक बंट जाता है.

Read more

रंगनाथ मिश्रा रिपोर्ट एक लड़ाई संसद से सड़क तक

भारतीय राजनीति में अब ऐसे मुद्दे कम ही देखने-सुनने को मिलते हैं, जिन पर संसद से लेकर सड़क तक हंगामा बरपे. लेकिन, जब चौथी दुनिया में रंगनाथ मिश्र आयोग की रिपोर्ट छपी तो सबसे पहले संसद में इस मुद्दे पर आवाज उठी. हंगामा हुआ. संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही कई बार स्थगित हुई. चौथी दुनिया ने अपने पत्रकारीय धर्म का निर्वाह किया तो बदले में राज्य सभा ने चौथी दुनिया के संपादक को विशेषाधिकार हनन का नोटिस भेज दिया.

Read more

हंगामा है क्यों बरपा

शर्म अल शेख़ में जारी हुए भारत-पाकिस्तान के साझा बयान को लेकर संसद के अंदर और बाहर एक हंगामा बरपा है. एनडीए और विपक्ष की दूसरी पार्टियों ने प्रधानमंत्री द्वारा संसद में दी जाने वाली सफाई को अनदेखा करते हुई उनपर पाकिस्तानी कैंप में जा बैठने का आरोप लगाया है.

Read more