ध्वस्त अर्थव्यवस्था का मनमोहनी तिलिस्म

अपने दस साल के कार्यकाल के दौरान तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपनी नाकामियों पर मुहर लगाई, तब यह साफ़ हो गया कि उन्होंने 2

Read More

यूरोप का लोकतंत्र खतरे में

लोकतंत्र की जन्मभूमि ग्रीस में पिछले दिनों इसके साथ मज़ाक़ हुआ. लोकतांत्रिक तरीक़े से चुने गए प्रधानमंत्री जॉर्ज पापेंद्रु को इस्ती़फा देने के लिए मजबूर

Read More

वादों का मारा बुंदेलखंड

बुंदेलखंड में चित्रकूट के घाट पर न तो संतों की भीड़ है और न चंदन घिसने के लिए तुलसीदास जी हैं. हां, बुंदेलखंड की व्यथा सुनने के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन

Read More

मंत्री जी, किसान पागल नहीं हैं

देश की किसी भी संवेदनशील राज्य सरकार के लिए यह कितनी शर्मनाक और हक़ीक़त से मुंह चुराने वाली स्थिति है कि वह प्रदेश में एक के बाद एक मरने वाले किसानों को

Read More

मेवात का सामाजिक-आर्थिक परिवेश और तबलीगी जमात

मेवात इलाक़े में अधिकतर ज़मीनों पर खेती मियो किसान ही करते थे, लेकिन कुछ चौधरियों (स्थानीय समुदायों के नेताओं) को छोड़कर बड़े जमींदारों में उनकी गिनती नही

Read More

बनारसी साड़ी उद्योगः बुनकरों की हालत बदतर, सरकार उदासीन

कवि अग्निवेद को इस कविता की राह पर चलते हुए बीते वर्ष वाराणसी के गौरगांव निवासी बुनकर सुरेश राजभर पत्नी हीरामनी एवं सात वर्षीय पुत्र छोटू की हत्या करक

Read More

सार-संक्षेप

प्रारंभिक शिक्षा की केंद्रीय योजना कहां गई? केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा में गुणात्मक सुधार और उसे रोचक बनाने के प्रयास में अरबों रुपए ख़र्

Read More

सार-संक्षेप

नौ लाख किसान क़र्ज़ मा़फी के इंतज़ार में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य के भोले-भाले मेहनतकश किसानों की सहानुभूति बटोर कर अपनी राज

Read More