रणवीर सिंह जैसी बॉडी चाहिए तो ज़रूर कीजिए ये काम

आपने हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म ‘पद्मावत’ तो देखि ही होगी. इस फिल्म में रणवीर सिंह और शाहिद कपूर

Read more

तो इस जुर्म में धिनचैक पूजा को गिरफ्तार कर सकती है दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली : सोशल मीडिया पर अपने विडियो से धूम मचाने वाली धिनचैक पूजा को दिल्ली पुलिस गिरफ्तार कर सकती

Read more

पूर्व कुलपति और वर्तमान विधायक डॉ. मेवालाल चौधरी पर लटकी कानूनी करवाई की तलवार

नई दिल्ली : राजभवन द्वारा गठित कमिटी ने बिहार कृषि विश्वविद्यालय 2012 में असिस्टेन्ट प्रोफेसोरों की नियुक्ति में बड़े पैमाने

Read more

राजनीतिक दलों का रवैया गुस्सा दिलाता है

महाभारत शायद आज की सबसे बड़ी वास्तविकता है. इस महाभारत की तैयारी अलग-अलग स्थलों पर अलग तरह से होती है और लड़ाई भी अलग से लड़ी जाती है, लेकिन 2013 और 2014 का महाभारत कैसे लड़ा जाएगा, इसका अंदाज़ा कुछ-कुछ लगाया जा सकता है, क्योंकि सत्ता में जो बैठे हुए लोग हैं या जो सत्ता के आसपास के लोग हैं, वे धीरे-धीरे इस बात के संकेत दे रहे हैं कि वे किन हथियारों से लड़ना चाहते हैं.

Read more

इंडियन एक्सप्रेस की पत्रकारिता – 1

भारतीय सेना की एक यूनिट है टेक्निकल सर्विस डिवीजन (टीडीएस), जो दूसरे देशों में कोवर्ट ऑपरेशन करती है. यह भारत की ऐसी अकेली यूनिट है, जिसके पास खुफिया तरीके से ऑपरेशन करने की क्षमता है. इसे रक्षा मंत्री की सहमति से बनाया गया था, क्योंकि रॉ और आईबी जैसे संगठनों की क्षमता कम हो गई थी. यह इतनी महत्वपूर्ण यूनिट है कि यहां क्या काम होता है, इसका दफ्तर कहां है, कौन-कौन लोग इसमें काम करते हैं आदि सारी जानकारियां गुप्त हैं, टॉप सीक्रेट हैं, लेकिन 16 अगस्त, 2012 को शाम छह बजे एक सफेद रंग की क्वॉलिस गाड़ी टेक्निकल सर्विस डिवीजन के दफ्तर के पास आकर रुकती है, जिससे दो व्यक्ति उतरते हैं. एक व्यक्ति क्वॉलिस के पास खड़े होकर इंतज़ार करने लगता है और दूसरा व्यक्ति यूनिट के अंदर घुस जाता है.

Read more

किसानों पर गोलियां चलाने से हल नहीं निकलेगा

भारत भी अजीब देश है. यहां कुछ लोग ऐसे हैं, जिन्हें फायदा पहुंचाने के लिए सरकार सारे दरवाज़े खोल देती है. कुछ लोग ऐसे हैं, जिन्हें लाभ पहुंचाने के लिए नियम-क़ानून भी बदल दिए जाते हैं. कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनके हितों की रक्षा सरकारी तंत्र स्वयं ही कर देता है, मतलब यह कि किसी को कानोंकान खबर तक नहीं होती और उन्हें बिना शोर-शराबे के फायदा पहुंचा दिया जाता है.

Read more

किसकी मिलीभगत से चल रहा है नकली नोट का खेल

आरबीआई के मुताबिक़, पिछले 6 सालों में ही क़रीब 76 करोड़ रुपये मूल्य के नक़ली नोट ज़ब्त किए गए हैं. ध्यान दीजिए, स़िर्फ ज़ब्त किए गए हैं. दूसरी ओर संसद की एक समिति की रिपोर्ट कहती है कि देश में क़रीब एक लाख 69 हज़ार करोड़ रुपये के नक़ली नोट बाज़ार में हैं. अब वास्तव में कितनी मात्रा में यह नक़ली नोट बाज़ार में इस्तेमाल किए जा रहे हैं, इसका कोई सही-सही आंकड़ा शायद ही किसी को पता हो.

Read more

सीएजी, संसद और सरकार

आज़ादी के बाद से, सिवाय 1975 में लगाए गए आपातकाल के, भारतीय लोकतांत्रिक संस्थाएं और संविधान कभी भी इतनी तनाव भरी स्थिति में नहीं रही हैं. श्रीमती इंदिरा गांधी ने संविधान के प्रावधान का इस्तेमाल वह सब काम करने के लिए किया, जो सा़फ तौर पर अनुचित था और अस्वीकार्य था. फिर भी वह इतनी सशक्त थीं कि आगे उन्होंने आने वाले सभी हालात का सामना किया. चुनाव की घोषणा की और फिर उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

Read more

ओमिता पॉल महान सलाहकार

प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं. ऐसे में उनके चार दशक पुराने राजनीतिक करियर की समीक्षा की जा रही है. देश की वर्तमान खराब आर्थिक हालत और उसमें प्रणब बाबू की भूमिका पर भी खूब चर्चा हो रही है, लेकिन इस सबके बीच एक और अहम मसला है, जिस पर ज़्यादा बात नहीं हो रही है. खासकर ऐसे समय में, जबकि बिगड़ी आर्थिक स्थिति को न सुधार पाने के लिए प्रणब मुखर्जी को ज़िम्मेदार ठहराया जा रहा हो. यह सवाल सीधे-सीधे वित्त मंत्री के सलाहकार से जुड़ा हुआ है.

Read more

सच का सिपाही मारा गया

सच जीतता ज़रूर है, लेकिन कई बार इसकी क़ीमत जान देकर चुकानी पड़ती है. सत्येंद्र दुबे, मंजूनाथ, यशवंत सोणावने एवं नरेंद्र सिंह जैसे सरकारी अधिकारियों की हत्याएं उदाहरण भर हैं. इस फेहरिस्त में एक और नाम जुड़ गया है इंजीनियर संदीप सिंह का. संदीप एचसीसी (हिंदुस्तान कंस्ट्रक्शन कंपनी) में हो रहे घोटाले को उजागर करना चाहते थे.

Read more

राउडी राठौर

प्रभु देवा के निर्देशन में बन रही फिल्म राउडी राठौर का लोगों ने का़फी इंतज़ार किया है. राउडी राठौर से अक्षय कुमार एक बार फिर से एक्शन हीरो के तौर पर वापसी करने जा रहे हैं. पिछले 12 वर्षों में अक्षय कुमार ने एक भी एक्शन फिल्म नहीं की है.

Read more

इंडिया अगेंस्‍ट करप्‍शनः अन्‍ना चर्चा समूह, सवाल देश की सुरक्षा का है, फिर भी चुप रहेंगे? अन्‍ना हजारे ने प्रधानमंत्री से मांगा जवाब…

आदरणीय डॉ. मनमोहन सिंह जी,

पिछले कुछ महीनों की घटनाओं ने भारत की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर देश की जनता को का़फी चिंतित किया है. लेकिन अधिक चिंता का विषय यह है कि क्या इतनी चिंताजनक घटनाएं हो जाने के बावजूद कुछ सुधार होगा? अभी तक की भारत सरकार की कार्रवाई से ऐसा लगता नहीं कि कुछ सुधरेगा.

Read more

एजेंट विनोद

एक्शन और एडवेंचर से भरपूर फिल्म एजेंट विनोद ने सै़फ अली खान का का़फी समय लिया. यह का़फी बड़े बजट की फिल्म है. यह फिल्म सौ करोड़ रुपये की लागत से बनी है. फिल्म के प्रोमो पहले से ही दर्शकों में उत्सुकता जगा रहे हैं.

Read more

बॉलीवुड का एक्शन कनेक्शन

फिल्म गोल का बिल्लो रानी गाना किसने नहीं सुना होगा. इस फिल्म की दो खास बातें हैं, पहली फिल्म का गाना और दूसरी फिल्म का आखिरी सीन जिसमें फुटबॉलर हवा में उछलकर गोल-गोल चक्कर खाते हुए गोल करके मैच जीत जाता है. आखिरी गोल कर दर्शकों के बीच अपनी अलग पहचान बनाने वाला यह व्यक्ति कोई और नहीं, बल्कि देश का पहला शाउलिन वॉरयर कनिष्क शर्मा हैं, जिन्होंने चीन के प्राचीन मठ शाउलिन जाकर इस मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग ली है.

Read more

क्‍या चुनाव आयोग सचमुच एक मजबूत संस्‍था है

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग की भूमिका पर शुरू से ही सवालिया निशान लगते रहे हैं, चाहे वह हाथी की मूर्तियां ढकवाने का आदेश हो या कोई और काम. जनता ने चुनाव आयोग के दोहरे मापदंड अपनाने वाले रवैये पर सवाल भी उठाया. चुनाव आयोग के कई फैसले लोगों की समझ से परे भी रहे.

Read more

केट को ड्राइविंग का डर

क्या दर्शकों को इस बात पर विश्वास होगा कि परदे पर ऐसा रोमांचकारी एक्शन करने वाली अभिनेत्री को गा़डी चलाना भी नहीं आता? लेकिन आप माने या न माने यह सच है. ब्रिटिश अभिनेत्री केट बेक्किंसेल जिन्होंने सोनी पिक्चर्स की जल्दी ही रिलीज़ होने वाली लोकप्रिय एक्शन फिल्म खूंखार दरिंदों की वापसी अंडरवर्ल्ड अवेकनिंग (हिंदी में) में काम किया है.

Read more

अक्षय का डर

अक्षय कुमार ने करियर की शुरुआत में कई एक्शन फिल्में कीं. बाद में वह दर्शकों को हंसाने में जुट गए. अब दर्शक उनकी हास्य फिल्मों से ऊब गए हैं तो एक बार फिर उन्होंने एक्शन का साथ पकड़ा है.

Read more

हिट शो के लिए तरसते शो मैन-5 : आशुतोष क्यों नहीं खेल रहे जी जान से

आशुतोष गोवारिकर की अगली फिल्म कौन सी होगी. खबर आ रही है कि वह भगवान बुद्ध पर काम कर रहे हैं और बुद्ध के रोल के लिए वह एक्टर की तलाश में हैं. बीच-बीच में यह खबर भी आई कि वह अक्षय कुमार के साथ एक्शन फिल्म बनाना चाहते हैं. उनकी पिछली दो फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल रही हैं और उन्हें एक हिट की तलाश है.

Read more

सिंघम

गोलमाल सीरीज में कॉमेडी करने वाले अजय देवगन अब फिर से मारधाड़ करते नज़र आएंगे. अजय की एक्शन थ्रिलर फिल्म सिंघम तैयार है. फिल्म का निर्देशन रोहित शेट्टी ने किया है. फिल्म के लिए अजय ने बॉलीवुड में चल रहे फैशन और स्टाइल को अपनाया है.

Read more

असमः अब उग्रवाद नहीं अंधविश्वास हावी

असम में अब उग्रवाद से कहीं ज़्यादा हत्याएं अंधविश्वास से हो रही हैं. राज्य की कांग्रेस सरकार स्वास्थ्य सेवा में आमूलचूल परिवर्तन का दावा करती है, पर हक़ीक़त इससे कोसों दूर है. गांवों में आज भी बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं. इसलिए लोग कविराज की झाड़-फूंक का सहारा लेते हैं.

Read more

दलित मुस्लिमों और ईसाइयों को अनुसूचित जाति का दर्जा मिला

दलित मुसलमानों और ईसाइयों को अनुसूचित जाति के दायरे में शामिल करने की लड़ाई दिनोदिन लंबी होती जा रही है. रंगनाथ मिश्र आयोग की रिपोर्ट को 4 साल होने को आए, लेकिन आज भी यूपीए सरकार इस रिपोर्ट की स़िफारिशों को अमल में लाने को लेकर कश्मकश में है, जबकि संसद के अंदर और बाहर दोनों ही जगहों पर सरकार पर रंगनाथ मिश्र आयोग की स़िफारिशें लागू करने का ज़बरदस्त दबाव है. हाल ही में एक बार फिर इस मांग को लेकर मुंबई स्थित कैथोलिक सेक्युलर फोरम, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिला और उनसे मांग की कि दलित मुसलमानों और ईसाइयों की सामाजिक, आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए उन्हें जल्द से जल्द अनुसूचित जाति का दर्जा प्रदान किया जाए.

Read more

आपके पत्र, हमारे सुझाव

एक फर्ज़ी फोटोकॉपी आवेदन का सहारा लेकर मुझे अपने मूल पद से नीचे के पद पर पहुंचा दिया गया. मैंने सूचना अधिकार क़ानून के तहत उक्त फोटोकॉपी आवेदन की मूल प्रति उपलब्ध कराने को कहा (जो था ही नहीं).

Read more

उत्तर प्रदेश अल्‍पसंख्‍यक आयोगः खर्चा रूपया, काम चवन्‍नी

अल्पसंख्यक, एक ऐसा शब्द, जिसका इस्तेमाल शायद राजनीति में सबसे ज़्यादा होता है. सत्ता में आने से पहले और सत्ता में आने के बाद बस इस शब्द और इस समुदाय का इस्तेमाल ही होता आया है. इसके अलावा जो कुछ भी होता है, वह स़िर्फ दिखावे के लिए होता है.

Read more

दिल्‍ली का बाबूः भ्रष्ट बाबू और सरकारी निष्क्रियता

केंद्रीय सतर्कता आयोग की 2009 की वार्षिक रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ है कि कैसे बहुत सारे भ्रष्ट बाबू खुद पर लगे आर्थिक दंड का भुगतान करने से बच गए और इसकी वजह रही सरकारी निष्क्रियता. रिपोर्ट के मुताबिक़, 2009 में पैनल ने भ्रष्टाचार से संबंधित 5783 शिकायतों की जांच की, लेकिन स़िर्फ 42 फीसदी दागी बाबुओं को ही दंडित किया जा सका.

Read more

अस्तित्‍व की लड़ाई लड़ते पहाड़ी कोरवा

छत्तीसगढ़ प्रदेश में राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र पहाड़ी कोरवाओं की संख्या 10 हज़ार से ज़्यादा है. उनके विकास के लिए कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है, करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं. इसके बाद भी पहाड़ी कोरवा अभी तक विकास की मुख्य धारा से अलग-थलग हैं.

Read more

संघ पर आखिर निर्णायक कार्रवाई कब?

हिंदुस्तानी अवाम को बरसों से सभ्यता और संस्कृति का पाठ पढ़ाने का दावा करने वाले संघ का असली चेहरा एक बार फिर सारे मुल्क के सामने उजागर हुआ है. अभी हाल ही में एक अंग्रेज़ी दैनिक के स्टिंग ऑपरेशन में संघ से मुताल्लिक जो सच्चाइयां निकल कर आई हैं, वे इतनी खतरनाक हैं कि हुकूमत के होश उड़ा दें.

Read more