मर्यादा भूले सूरजपाल अमू ने चैनल पर डिबेट के दौरान महिला एंकर को कहा ‘बेबी’

पूरे देश में फिल्म पद्मावत को लेकर जमकर बवाल मचा हुआ है लेकिन, गुरुवार को इस फिल्म को राजपूत समाज

Read more

खिलाड़ी की बढ़ती डिमांड अक्षय हैं बॉलीवुड के असली बॉस

बॉलीवुड में सलमान, शाहरुख और आमिर खान के बाद अगर कोई तेजी से बढ़ रहा है तो वह है खिलाड़ी

Read more

चॉकलेट खाने का ये फायदा नहीं जानते होने आप, सुनकर चौंक जायेंगे

जब बच्चे अधिक चॉकलेट खाते हैं तो माताएं उन्हें समझाती हैं कि इससे तुम्हारे दांत सड़ जाएंगे, इसलिए चॉकलेट खाना कम कर दो. यह तुम्हारी सेहत के लिए लाभदायक होगा, लेकिन शायद उन्हें पता नहीं है कि गहरे रंग की चॉकलेट खाने से दिल मज़बूत होता है.

Read more

मैच्योर शिशु

फिरोज़ाबाद (उत्तर प्रदेश) की रिंकी नामक महिला ने एक ऐसे बच्चे को जन्म दिया, जिसके 32 दांत थे. नवजात शिशु में जन्म के व़क्त 32 दांत होने का यह पहला मामला है. इस बच्चे को देखने के लिए अस्पताल में भीड़ लग गई. चिकित्सक यह अनहोनी घटना देखकर हैरान हैं.

Read more

साथ धड़कते हैं दिल

मां और बच्चे का रिश्ता वैसे तो अनोखा होता ही है, लेकिन गर्भावस्था में शिशु का दिल मां के दिल के साथ धड़कता है. इस बात का खुलासा वैज्ञानिकों ने किया है. उनका मानना है कि जब गर्भवती महिला लयबद्ध ढंग से सांस लेती है तो उसका और भ्रूण का दिल साथ-साथ धड़कता है.

Read more

बुंदेलखंडः किराए की कोख, मजबूरी या शौक

उत्तर प्रदेश के बुदेलखंड क्षेत्र में अगर समस्याओं की बात की जाए तो का़फी लंबी फेहरिस्त बनती है. जिसमें बेरोजगारी, सूखा, भुखमरी और दस्यु सरगनाओं जैसी कई समस्याएं हैं. इन्हीं वजहों से बुंदेलखंड का सामाजिक और आर्थिक ढांचा चरमराया हुआ है.

Read more

कल चमन था आज वीरान हुआ चंबलः ये डकैत थे या बागी

चंबल जो कि खूंखार डकैतों के शरण स्थली के रुप में जाना जाता था, आजकल वीरान सा है. उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश के ज़्यादातर दस्यु गिरोहों के खात्मे के चलते दस्युओं का खौफ जो ग्रामीणों के सिर चढ़कर बोलता था अब नज़र नहीं आता, चंबल के निकट बसे ग्रामीण अधिकतर डकैतों को डकैत नहीं बल्कि बाग़ी कहना ज़्यादा पसंद करते हैं.

Read more

कन्या भ्रूण हत्या एक बड़ी समस्या

आज समाज में अपराध बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं. इनमें एक जघन्य अपराध भ्रूण हत्या भी है. इस अपराध के पीछे इच्छित संतान है. इसे अंजाम देने के लिए वैज्ञानिक आविष्कार सहयोगी बने हैं. परिणामस्वरूप गर्भस्थ शिशु का लिंग परीक्षण कराना और अनचाही संतान से छुटकारा पाना सहज हो गया है. जनसंख्या नियंत्रण को प्राथमिकता देने वाली सरकार ने जबसे भ्रूण हत्या को क़ानूनी वैधता प्रदान की है, तबसे विश्व में भूण हत्याओं का क्रूर व्यापार निर्बाध गति से बढ़ रहा है. भगवान महावीर, बुद्ध एवं गांधी जैसे प्रेरकों के इस अहिंसा प्रधान देश में हिंसा का नया रूप भारतीय संस्कृति का उपहास है. भारत में क़रीब ढाई दशक पूर्व भ्रूण परीक्षण पद्धति की शुरुआत हुई, जिसे एमिनो सिंथेसिस नाम दिया गया. एमिनो सिंथेसिस का उद्देश्य है, गर्भस्थ शिशु के क्रोमोसोम्स के संबंध में जानकारी हासिल करना. यदि उनमें किसी भी तरह की विकृति हो, जिससे शिशु की मानसिक-शारीरिक स्थिति बिगड़ सकती हो तो उसका उपचार करना. लेकिन पिछले क़रीब दस-पंद्रह वर्षों से एमिनो सिंथेसिस राह भटक गया है. आज अधिकांश माता-पिता गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य की चिंता छोड़कर भ्रूण परीक्षण केंद्रों में यह पता लगाते हैं कि वह लड़का है अथवा लड़की.

Read more

पुस्‍तक अंशः मुन्‍नी मोबाइल- 37

मांग इतनी हो गई थी कि हर कोई मुन्नी आंटी से ही खाना बनवाना चाहता था. लाज़िमी भी था, क्योंकि वह आनंद भारती से स्वादिष्ट खाना बनाने के सारे गुर जो सीख चुकी थी. लेकिन उसके पास समय नहीं था. वह झाड़ू-पोछा करने वाली महिलाओं को कुक बनाकर भेजने लगी. इस तरह उसने खाना बनाने वालियों की एक छोटी-मोटी फौज खड़ी कर दी थी.

Read more

पुस्‍तक अंशः मुन्नी मोबाइल- 23

अगली सुबह घंटी बजी. वही महिला सामने खड़ी थी. उसको अंदर बुलाकर पैसे-वैसे की बात की. डेढ़ सौ रुपये में मामला पट गया था. नाम पूछा तो बोली, मुन्नी.

Read more

एड्स से भी खतरनाक रहस्‍यमय बीमारी

एक ऐसी बीमारी जो एड्‌स से कम खतरनाक नहीं है. क्योंकि इस बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति जिंदा रहते हुए भी कुछ करने लायक नहीं बचता है. इसकी गिरफ्त में आए लोग पहले शरीरिक तौर पर और फिर मानसिक तौर पर विकलांग हो जाते हैं. यह बीमारी वहां के डॉक्टरों के लिए भी किसी चुनौती से कम नहीं है. यह मामला है मधुबनी ज़िला के बेनीपट्टी प्रखंड के अंधेरी ग्राम का.

Read more

लक्ष्‍य पूरा कराने के लिए मौत का टीका

मध्य प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग भ्रष्टाचार और लापरवाही के लिए खासा बदनाम है. इस विभाग को लोग हत्यारा विभाग तक कहने लगे हैं. हाल में दमोह ज़िला मुख्यालय में टीकाकरण योजना के तहत खसरे का टीका लगाने के बाद चार बच्चों की मौत हो गई और दस बच्चे गंभीर रूप से बीमार हो गए.

Read more

पुस्‍तक अंशः मुन्‍नी मोबाइल – 16

नाव परिणामों से सब स्तब्ध थे. बुद्धिजीवी और धर्म निरपेक्ष ताक़तें सकते में थीं. वे मतदाताओं का मूड भांप नहीं पाए. सांप्रदायिक ताक़तों को हराने की उनकी सारी अवधारणाएं हवाई साबित हुईं. उनकी मान्यता थी कि गांधी का गुजरात धर्म के आधार पर नहीं बंटेगा, पर ऐसा हुआ.

Read more

जहरीला हो गया दूध

कल जहां अमृत समान दूध की नदियां बहती थी आज वहां का दूध ज़हरीला हो गया है. शायद यह सुनकर आप चौंक जाएं, लेकिन यह सौ फीसदी सत्य है. जी हां, यहां हम बात कर रहे हैं बिहार के कोसी इलाक़े की. जहां आज भी मां कात्यायनी को दूध से स्नान कराने की परंपरा है, लेकिन इस इलाके में दूध को अधिक देर तक सुरक्षित रखने के लिए एक भी शीतगृह अथवा अन्य कोई ठोस साधन नहीं है.

Read more

पुस्‍तक अंश : मुन्‍नी मोबाइल – 15

मोदी को अक्षरधाम के रूप में एक और मुद्दा मिल गया था. मोदी आग उगलते घूम रहे थे. उनकी आग को अक्षरधाम पर आतंकी हमले ने और धधका दिया. हमले के बाद मोदी ने गुजरात की अस्मिता के सवाल को और ज़ोर से उठाया. पाकिस्तान को धमकी दी. मियां मुशर्रफ को ललकारा.

Read more

सार-संक्षेप

केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा में गुणात्मक सुधार और उसे रोचक बनाने के प्रयास में अरबों रुपए ख़र्च करने के बाद भी राज्य में सैटेलाईट के माध्यम से प्राथमिक शिक्षा (एडूसेट) की योजना पूरी तरह नाकाम हो गई है. इस योजना को सर्वप्रथम पायलट प्रोजेक्ट के रूप में सीधी ज़िले में, तत्कालीन मानव संसाधन विकास मंत्री अर्जुन सिंह ने प्रारंभ किया था.

Read more