राजनीतिक दलों को गुप्त तरीके से 2 हजार से ज्यादा चंदों पर लगे रोकः चुनाव आयोग

नई दिल्ली, (चौथी दुनिया ब्यूरो): चुनाव में कालाधन का इस्तेमाल रोकने के लिए चुनाव आयोग सख्त रुख अपना रहा है. आयोग

Read more

उज्जवला योजना के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बलिया में गरीबों में बांटे सिलिंडर : यूपी में डाल-डाल और पात-पात की पॉलिटिक्स तेज

पीएम ने बनारस में दिया ई-रिक्शा और ई-बोट तो अखिलेश ने लखनऊ में दिया मजदूरों को 10 रुपये में भोजन

Read more

अरबों के घोटाले की जांच को लेकर केंद्रीय मंत्री की बदहवासी – ऐसा है प्रधानमंत्री कार्यालय : दस्त़खत जून का, भेज दिया मई में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार तेज गति से चल रही है, ऐसा दिखने-दिखाने के चक्कर में केंद्र

Read more

पहले किसानों, मज़दूरों और गरीबों की बात हो

केएन गोविंदाचार्य को इस देश में भला कौन नहीं जानता. प्रसिद्ध चिंतक-विचारक, आरएसएस के पूर्व प्रचारक और भारतीय जनता पार्टी

Read more

नीतीश कुमार के पास वक्त कम, चुनौतियां ज़्यादा

बिहार में महीनों की उत्तेजक राजनीतिक जद्दोजहद के बाद नीतीश कुमार ने सत्ता की कमान फिर से अपने हाथों में

Read more

स्वास्थ्य नीति-2015 : क्या सुधर पाएगी बदहाल स्वास्थ्य सेवा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली को संबोधित करते हुए कहा था

Read more

भारत-अमेरिका परमाणु समझौता : फ़ायदे में रहा अमेरिका

गणतंत्र दिवस के मौ़के पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे के दौरान भारत-अमेरिका परमाणुु समझौते पर चल रहे

Read more

नक्सलवाद से निपटने के लिए सरकार के दमनकारी प्लान

मोदी सरकार बहुत जल्द शहरों में चल रहे माओवादी संगठनों की शाखाओं और समर्थकों पर धावा बोलने वाली है. सरकार

Read more

यूआईडी कार्ड खतरनाक है : देश में क़ानून का राज ख़त्म हो गया है

नरेंद्र मोदी सरकार को देश की सुरक्षा और भविष्य की चिंता नहीं हैं. अगर है, तो फिर वह देश की

Read more

अखिलेश सरकार के मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड : कुछ में है दम बाकी सब बेदम

मार्च 2012 में सत्ता में आने के बाद दो साल विश्राम की मुद्रा में चले जाने वाले विभागों में अल्पसंख्यक

Read more

मेरठ दंगा : सरकारी जांच का सबसे शर्मनाक अध्याय है

मेरठ दंगा आज़ाद भारत में पुलिस की बर्बरता का सबसे घिनौना अध्याय है. लेकिन, इससे भी शर्मनाक बात यह है

Read more